सोमवार, अक्टूबर 3Digitalwomen.news

Tag: womenleaders

कोन्याक अगर राज्यसभा चुनाव जीतती हैं तो नागालैंड की पहली महिला होंगी, भाजपा ने बनाया प्रत्याशी
Latest News, Other States, States

कोन्याक अगर राज्यसभा चुनाव जीतती हैं तो नागालैंड की पहली महिला होंगी, भाजपा ने बनाया प्रत्याशी

Phangnon Konyak: BJP fields woman for lone Rajya Sabha seat from Nagaland JOIN OUR WHATSAPP GROUP इसी महीने 31 मार्च को होने वाले राज्यसभा चुनाव के लिए भाजपा ने नागालैंड से महिला प्रत्याशी को अपना उम्मीदवार बनाया है। 60 सदस्यीय विधानसभा में 35 विधायकों के साथ भाजपा की महिला मोर्चा अध्यक्ष एस फांगनोन कोन्याक को संसद के उच्च सदन में राज्य की एकमात्र सीट के लिए उम्मीदवार के रूप में नामित किया है। अगर फेंगनॉन राज्यसभा की मेंबर बनती हैं, तो 1963 के बाद पहला ऐसा मौका होगा जब कोई महिला संसद में नागालैंड को प्रतिनिधित्व करेंगी। इससे पहले 1963 में नागालैंड की रानो एम शाइजा लोकसभा सांसद चुनी गई थीं। नगालैंड विधानसभा में आज तक कोई महिला विधायक निर्वाचित नहीं हुई है। चुनाव के लिए पीठासीन अधिकारी के. रियो ने बताया कि प्रत्याशी सोमवार दोपहर 3 बजे तक नामांकन दाखिल कर सकते हैं। राज्य सभा के लिए 3...
Celebrating the 191st birthday of Fatima Sheikh, a social reformer who was the first Woman Muslim Teacher of Modern India
DW Editorial, Latest News, Other States, States

Celebrating the 191st birthday of Fatima Sheikh, a social reformer who was the first Woman Muslim Teacher of Modern India

देश के पहली महिला मुस्लिम शिक्षिका फातिमा शेख की 191वीं जयंती आज, समाज के गरीबों की शिक्षा में दिया था बड़ा योगदान Celebrating the 191st birthday of Fatima Sheikh, a social reformer who was the first Woman Muslim Teacher of Modern India JOIN OUR WHATSAPP GROUP आज भारत की पहली मुस्लिम महिला शिक्षिका फामिता शेख की 191 वीं जयंती है। इस मौके पर गूगल ने उन्हें डूडल बनाकर सम्मानित किया है। कौन थी फातिमा शेख: फातिमा शेख का जन्म आज के ही दिन 9 जनवरी 1831 को भारत के पुणे महाराष्ट्र में हुआ था। फातिमा एक महिला शिक्षिका के साथ-साथ महान समाज सुधारक ज्योतिबा फुले और सावित्रीबाई फुले की सहयोगी भी रही है। जब सावित्रीबाई फूले को दलित व गरीबों को शिक्षा देने के विरोध में उनके पिता ने घर से निकाल दिया था तो उस्मान शेख व फातिमा ने उन्हें शरण दी थी। उन्होंने समाज सुधारक ज्योति बा फुले और साव...
President Ram Nath Kovind Gives Assent to Surrogacy Act, 2021
DW Editorial, Latest News, TRENDING

President Ram Nath Kovind Gives Assent to Surrogacy Act, 2021

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सेरोगेसी कानून को दी मंजूरी, अब नहीं हो सकेगा दुरुपयोग President Ram Nath Kovind Gives Assent to Surrogacy Act, 2021 JOIN OUR WHATSAPP GROUP देश में अब सरोगेसी (विनियमन) अधिनियम 2021 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंजूरी दे दी है। राष्ट्रपति ने इसे शनिवार को मंजूरी दी और गजट प्रकाशन के साथ ही यह कानून लागू हो गया है। इस कानून में सरोगेसी को वैधानिक मान्यता देने और इसके व्यवसायीकरण को गैरकानूनी बनाने का प्रावधान है। Surrogacy Act, 2021 इस कानून से सरोगेसी के पैसे कमाने और इसके दुरुपयोग पर अंकुश लगेगा। इसके जरिये केवल मातृत्व प्राप्त करने के लिए सरोगेसी की अनुमति मिलेगी, जिसमें सरोगेट मां को गर्भ की अवधि के दौरान चिकित्सा खर्च और बीमा कवरेज के अलावा कोई और वित्तीय मुआवजा नहीं मिलेगा। बता दें की सरोगेसी का अर्थ किराये पर गर्भ होता है। इसका उपयो...
Afghan women have a long history of taking leadership and fighting for their rights
Latest News, News, WOMEN

Afghan women have a long history of taking leadership and fighting for their rights

Afghan women have a long history of taking leadership and fighting for their rights Afghan women hold ‘silent’ protests in Kabul against repressive measures under the Taliban regime. Bilal Guler/Anadolu Agency via Getty Images Wazhmah Osman, Temple University and Helena Zeweri, University of Virginia Ever since the Taliban recaptured Afghanistan, the question in much of the Western media has been, “What will happen to the women of Afghanistan?” Indeed, this is an important concern that merits international attention. The Taliban has already imposed many restrictions on women. At the same time, however, much of the Western media coverage appears to be reinforcing the idea that the U.S. military intervention helped expand the rights for Afghan...
Vandana Shiva fights patents on seeds to make farmers independent from Monsanto and Nestlé
Latest News

Vandana Shiva fights patents on seeds to make farmers independent from Monsanto and Nestlé

Vandana Shiva, the Indian scientist and activist stands for social justice and uncompromising sustainability. The Alternative Nobel Prize winner gained worldwide attention through her fight against the agricultural giant Monsanto. But Vandana Shiva does not only want to give the seeds back to the farmers who grow them. She is a well-known critic of globalisation, speaks out publicly against the concentration of wealth and fights for better coexistence on earth. Vandana Shiva: From physicist to activist A public lecture and press conference by Vandana Shiva and meeting with young farmers, NGOs and activists (2013) Before Vandana Shiva became a world-renowned social activist, she studied physics in India and Canada. As early as the 1970s, she became involved in the first Indian...
पाकिस्तान में पहली बार हिंदू युवती सना रामचंद्र बनीं प्रशासनिक सेवा में अफसर
Latest News

पाकिस्तान में पहली बार हिंदू युवती सना रामचंद्र बनीं प्रशासनिक सेवा में अफसर

अभी कुछ समय पहले भी कई हिंदू युवती पाकिस्तान में कई बड़ी पोस्ट पर काबिज हुई थी । अब इसी कड़ी में पड़ोसी देश में पहली बार एक हिंदू युवती असिस्टेंट कमिश्नर बनी हैं। उनका नाम सना रामचंद है। उन्हें यह मुकाम हासिल करने के लिए सेंट्रल सुपीरियर सर्विस पास करनी पड़ी। इसके बाद उनका चयन पाकिस्तान प्रशासनिक सेवा (पीएएस) में हुआ। यह पाकिस्तान की सबसे बड़ी प्रशासनिक परीक्षा है। सना पेशे से एमबीबीएस डॉक्टर भी हैं। यहां हम आपको बता दें कि इस परीक्षा में 18,553 कैंडिडेट्स शामिल हुए थे। इनमें 221 पास हुए। अपनी सफलता के बाद सना रामचंद्र ने कहा कि मैं बेहद खुश हूं, लेकिन हैरान नहीं। मुझे बचपन से ही कामयाबी की ललक है और मैं इसकी आदी हो चुकी हूं। मैं अपने स्कूल, कॉलेज की परीक्षा में भी टॉप कर चुकी हूं। सना सिंध प्रांत के शिकारपुर जिले की रहने वाली हैं। उन्होंने सिंध प्रांत के चंदका मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस ...
Pakistan: Imran Khan, sexual violence comments and the women who are fighting back
Latest News

Pakistan: Imran Khan, sexual violence comments and the women who are fighting back

Pakistan: Imran Khan, sexual violence comments and the women who are fighting back Amina Yaqin, SOAS, University of London Imran Khan, the prime minister of Pakistan, has caused an uproar with remarks about sexual violence, attributing the rising number of reports of rape in Pakistan to “vulgarity” and the way women dress. His words prompted outrage among women’s groups, who are advocating for greater equality in a nation which recently ranked 153rd out of 156 countries for gender parity in the Global Gender Gap report by the World Economic Forum and seventh out of the eight countries in the south Asian region. To understand Khan’s comments we have to look at them in the context of internal and international politics. On sexual violence, the report discloses that 85% women in Pak...
Wise women: 6 ancient female philosophers you should know about
Latest News, News, WOMEN, World News

Wise women: 6 ancient female philosophers you should know about

Wise women: 6 ancient female philosophers you should know about Michel Corneille the Younger: Aspasia surrounded by Greek philosophers. Wikimedia Commons Dawn LaValle Norman, Australian Catholic University When we conjure up ancient philosophers the image that springs to mind might be a bald Socrates discoursing with beautiful young men in the sun, or a scholarly Aristotle lecturing among cool columns. But what about Aspasia, the foreign mistress of the foremost politician in Athens who gave both political and erotic advice? Or Sosipatra, mystic, mother and Neoplatonist who was a more popular teacher than her husband, Eustathius? Women also shaped the development of philosophy. Although their writings, by and large do not survive, their verba...
International Women’s Day 2021 – ‘Every day is Women’s Day’
DW Editorial, Latest News

International Women’s Day 2021 – ‘Every day is Women’s Day’

हर दिन ख़ास हो महिलाओं के लिए: अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस अपने अस्तित्व के लिए समाज में लंबे समय से प्रयासरत महिलाएं आज 21वीं सदी में पुरुष से हर कदम से कदम मिलाकर चलती नजर आती हैं। नारी चाहे एक माँ की भूमिका में हो,या फिर किसी देश या राज्य के नेतृत्व की उसने अपनी काबिलियत से सबको लोहा मनवाया है। आज पूरी दुनिया आठ मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में मनाती है। एक समय जहां भारत में महिलाओं को बोलने तक की आजादी नही थी वहीं आज इक्कीसवीं सदी की स्त्री ने स्वयं की शक्ति को पहचान लिया है और काफी हद तक अपने अधिकारों के लिए लड़ना सीख लिया है। आज महिलाओं ने साबित कर लिया है वह हर क्षेत्र में अपना नाम बनाने में सक्षम हैं, और इससे कोई भी क्षेत्र अछूता नहीं है। चाहे हम बात करें आकाश की या जमीन की महिलाओं ने हर क्षेत्र में एक बेहतर मुकाम हासिल किया है। आखिर क्यों 8 मार्च को मनाया जाता ह...
Women take lead roles in India’s farmers’ protest
Latest News

Women take lead roles in India’s farmers’ protest

Women take lead roles in India’s farmers’ protest A protest march in Kolkata in support of farmers. Women have been central to the recent protests. (AP Photo/Bikas Das) Navjotpal Kaur, Memorial University of Newfoundland and Sumeet Sekhon, University of British Columbia As temperatures plummet, hundreds of thousands of men, women and children continue to spend bone-chilling days and nights in makeshift shelters across multiple protest sites encircling New Delhi. These widespread farmers’ protests have entered their second month to rage against new contentious farm laws passed by the Indian government in September. Farmers are demanding the Indian government retract the laws, introduced during COVID-19 lockdowns without consulting stakeholder...