बुधवार, मई 25Digitalwomen.news

Tag: WOMEN

Smart city technologies pose serious threats to women waste workers in India
Latest News, News, WOMEN, World News

Smart city technologies pose serious threats to women waste workers in India

An Indian woman sorts reusable items from a landfill on the outskirts of New Delhi in March 2021. Trash pickers sometimes toil alongside paid municipal sanitation workers and provide a vital service to cities. Their subsistence work is put at risk by smart city technologies. (AP Photo/Altaf Qadri) Josie Wittmer, Queen's University, Ontario Smart city technologies are an increasingly popular approach to urban governance and sustainable development worldwide, but their implementation, use and impact on society are only just being fully understood. Smart city projects aim to modernize urban spaces and improve citizens’ lives through sustainability-oriented, technological, expert-led and capital-intensive initiatives. In India, projects undertaken under the banner of the national ...
दहेज के फायदे बताने वाले नर्सिंग के सिलेबस पर महिला आयोग ने लिया संज्ञान, शिक्षा मंत्री से की कार्रवाई की मांग
बिना श्रेणी

दहेज के फायदे बताने वाले नर्सिंग के सिलेबस पर महिला आयोग ने लिया संज्ञान, शिक्षा मंत्री से की कार्रवाई की मांग

United News of IndiaDCW writes letter to Union Education Minister over misogynist passage in nursing textbook JOIN OUR WHATSAPP GROUP राष्ट्रीय महिला आयोग ने मंगलवार को केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को पत्र लिखकर नर्सों के लिए समाजशास्त्र की पाठ्यपुस्तक जिसमें दहेज के फायदे का उल्लेख था उसके खिलाफ हस्तक्षेप और उपचारात्मक कार्रवाई की मांग की है। बता दे कि बीते सोमवार को शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने पाठ्यपुस्तक से एक तस्वीर ट्वीटर पर शेयर किया था, ट्वीटर पर शेयर किए पाठ्यपुस्तक की तस्वीर में दहेज के चार गुण सूचीबद्ध हैं, उनमें से एक है बदसूरत दिखने वाली लड़कियों की शादी आकर्षक दहेज से की जा सकती है। यह पृष्ठ टीके इंद्राणी द्वारा नर्सों के लिए समाजशास्त्र की पाठ्यपुस्तक से है, जिसका शीर्षक द मेरिट्स ऑफ दहेज है। पाठ्यपुस्तक की सामग्री के बारे में जिक्र करते हुए शिव...
कोन्याक अगर राज्यसभा चुनाव जीतती हैं तो नागालैंड की पहली महिला होंगी, भाजपा ने बनाया प्रत्याशी
Latest News, News, Other States, Politics, States, WOMEN

कोन्याक अगर राज्यसभा चुनाव जीतती हैं तो नागालैंड की पहली महिला होंगी, भाजपा ने बनाया प्रत्याशी

Phangnon Konyak: BJP fields woman for lone Rajya Sabha seat from Nagaland JOIN OUR WHATSAPP GROUP इसी महीने 31 मार्च को होने वाले राज्यसभा चुनाव के लिए भाजपा ने नागालैंड से महिला प्रत्याशी को अपना उम्मीदवार बनाया है। 60 सदस्यीय विधानसभा में 35 विधायकों के साथ भाजपा की महिला मोर्चा अध्यक्ष एस फांगनोन कोन्याक को संसद के उच्च सदन में राज्य की एकमात्र सीट के लिए उम्मीदवार के रूप में नामित किया है। अगर फेंगनॉन राज्यसभा की मेंबर बनती हैं, तो 1963 के बाद पहला ऐसा मौका होगा जब कोई महिला संसद में नागालैंड को प्रतिनिधित्व करेंगी। इससे पहले 1963 में नागालैंड की रानो एम शाइजा लोकसभा सांसद चुनी गई थीं। नगालैंड विधानसभा में आज तक कोई महिला विधायक निर्वाचित नहीं हुई है। चुनाव के लिए पीठासीन अधिकारी के. रियो ने बताया कि प्रत्याशी सोमवार दोपहर 3 बजे तक नामांकन दाखिल कर सकते हैं। राज्य सभा के लिए 3...
सैकड़ों साल बाद वेटिकन प्रावधानों में हुए बदलाव, अब महिलाएं भी बन सकेंगी वेटिकन के विभागों की प्रमुख
बिना श्रेणी

सैकड़ों साल बाद वेटिकन प्रावधानों में हुए बदलाव, अब महिलाएं भी बन सकेंगी वेटिकन के विभागों की प्रमुख

Vatican: Pope Francis Expands Potential Role of Women at Vatican JOIN OUR WHATSAPP GROUP वेटिकन के संविधान में जल्द ही अभूतपूर्व बदलाव होने वाले हैं, इसका ऐलान पोप फ्रांसिस ने शनिवार को किया है।नए संविधान के तहत बपतिस्मा (एक तरह का ईसाई संस्कार) करा चुके कोई भी कैथोलिक, चाहे वह महिला हो या पुरुष, वेटिकन के केंद्रीय प्रशासन के ज्यादातर विभागों का नेतृत्व कर सकेगा।मालूम हो कि सैकड़ों वर्षों से इन विभागों का नेतृत्व पुरुष कर रहे थे, जो सामान्य तौर पर कार्डिनल या बिशप होते थे। इस प्रैडिकेट इवांग्लियम (प्राक्लेमिंग द गास्पेल) नामक 54 पन्नों के संविधान को तैयार करने में लगभग नौ वर्षो से ज्यादा समय लगा है। नया संविधान पांच जून से होगा प्रभावी: Vatican: Pope Francis Expands Potential Role of Women at Vatican इस संविधान को पोप फ्रांसिस के पद संभालने की नौवीं वर्षगांठ जारी पर किया ...
राजस्थान के चूरू में काम के बहाने बुलाकर 25 साल की लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म, रस्सी से बांधकर दूसरी मंजिल पर फेंका, बिजली के पोल से लटकी
Other States, States

राजस्थान के चूरू में काम के बहाने बुलाकर 25 साल की लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म, रस्सी से बांधकर दूसरी मंजिल पर फेंका, बिजली के पोल से लटकी

Rajasthan: Delhi girl visiting Churu for job gang-raped, thrown off building’s first floor JOIN OUR WHATSAPP GROUP राजस्थान के चुरू से एक दिल दहला देने वाली एक घटना सामने आई है, जहां असम की रहने वाली एक 25 साल की लड़की से सामूहिक दुष्कर्म कर उसे दूसरी मंजिल से फेंक दिया गया। गनीमत यह रही कि वह बिजली के पोल से लटक गई और जान बच गई।मिली जानकारी के मुताबिक इस घटना को चुरू जिला मुख्यालय के धर्मस्तूप पुलिस चौकी से कुछ ही दूरी पर चार व्यक्तियों ने अंजाम दिया। महिला थाना पुलिस ने इस संबंध में चूरू के इंद्रपुरा निवासी विक्रम सिंह, भवानी सिंह, देवेंद्र सिंह और चैनपुरा के बुल्ला उर्फ सुनील के खिलाफ आईपीसी की संगीन धाराओं में मामला दर्ज किया है।पीड़िता के मुताबिक चार लोग शराब के नशे में आए और फिर उसके साथ दरिंदगी की। कुछ देर बाद जब सभी को लगा कि कहीं लड़की मुंह न खोल दे, तब उसे रस्सी से बांधक...
Women are finding new ways to influence male-led faiths
बिना श्रेणी

Women are finding new ways to influence male-led faiths

The number of women religious leaders is growing, but the 2018-2019 National Congregations Study, which surveyed 5,300 U.S. religious communities, found that only 56.4% of these communities would allow a woman to “be head clergy person or primary religious leader.” AP Photo/Young Kwak Emily Costello, The Conversation and Thalia Plata, The Conversation In some religions, women are barred from serving as clergy or excluded from top leadership roles. Nonetheless, women have broken into influential roles in these male-led faiths. How are these women forging new pathways in these traditionally patriarchal religions? The Associated Press, Religion News Service and The Conversation held a webinar with academics, journalists and religious leaders to discuss the future of women in faith l...
Celebrating the 191st birthday of Fatima Sheikh, a social reformer who was the first Woman Muslim Teacher of Modern India
DW Editorial, Other States, States

Celebrating the 191st birthday of Fatima Sheikh, a social reformer who was the first Woman Muslim Teacher of Modern India

देश के पहली महिला मुस्लिम शिक्षिका फातिमा शेख की 191वीं जयंती आज, समाज के गरीबों की शिक्षा में दिया था बड़ा योगदान Celebrating the 191st birthday of Fatima Sheikh, a social reformer who was the first Woman Muslim Teacher of Modern India JOIN OUR WHATSAPP GROUP आज भारत की पहली मुस्लिम महिला शिक्षिका फामिता शेख की 191 वीं जयंती है। इस मौके पर गूगल ने उन्हें डूडल बनाकर सम्मानित किया है। कौन थी फातिमा शेख: फातिमा शेख का जन्म आज के ही दिन 9 जनवरी 1831 को भारत के पुणे महाराष्ट्र में हुआ था। फातिमा एक महिला शिक्षिका के साथ-साथ महान समाज सुधारक ज्योतिबा फुले और सावित्रीबाई फुले की सहयोगी भी रही है। जब सावित्रीबाई फूले को दलित व गरीबों को शिक्षा देने के विरोध में उनके पिता ने घर से निकाल दिया था तो उस्मान शेख व फातिमा ने उन्हें शरण दी थी। उन्होंने समाज सुधारक ज्योति बा फुले और साव...
President Ram Nath Kovind Gives Assent to Surrogacy Act, 2021
DW Editorial, Latest News, News, TRENDING, WOMEN

President Ram Nath Kovind Gives Assent to Surrogacy Act, 2021

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सेरोगेसी कानून को दी मंजूरी, अब नहीं हो सकेगा दुरुपयोग President Ram Nath Kovind Gives Assent to Surrogacy Act, 2021 JOIN OUR WHATSAPP GROUP देश में अब सरोगेसी (विनियमन) अधिनियम 2021 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंजूरी दे दी है। राष्ट्रपति ने इसे शनिवार को मंजूरी दी और गजट प्रकाशन के साथ ही यह कानून लागू हो गया है। इस कानून में सरोगेसी को वैधानिक मान्यता देने और इसके व्यवसायीकरण को गैरकानूनी बनाने का प्रावधान है। Surrogacy Act, 2021 इस कानून से सरोगेसी के पैसे कमाने और इसके दुरुपयोग पर अंकुश लगेगा। इसके जरिये केवल मातृत्व प्राप्त करने के लिए सरोगेसी की अनुमति मिलेगी, जिसमें सरोगेट मां को गर्भ की अवधि के दौरान चिकित्सा खर्च और बीमा कवरेज के अलावा कोई और वित्तीय मुआवजा नहीं मिलेगा। बता दें की सरोगेसी का अर्थ किराये पर गर्भ होता है। इसका उपयो...
Unilever HR head Leena Nair is Chanel global CEO
TRENDING

Unilever HR head Leena Nair is Chanel global CEO

विदेश में उपलब्धि, भारत मूल की लीना नायर फ्रांस की शनैल ग्रुप में ग्लोबल सीईओ नियुक्त Unilever HR head Leena Nair is Chanel global CEO सुनने में अच्छा लगता है जब कोई भारतीय मूल के विदेशों में बड़े पद पर विराजमान होते हैं। लेकिन यह सब वह अपनी मेहनत और लगन के बल पर मुकाम पाते हैं। ‌आज कई देशों की बड़ी कंपनियों में भारतीय सीईओ का बोलबाला है। ‌ट्विटर, माइक्रोसॉफ्ट या दुनिया की सबसे बड़ी सर्च सर्चिंग साइट गूगल के अलावा भी कई सीईओ या अन्य प्रमुख पदों पर भारतीय मूल के हैं। अब एक बार फिर भारत मूल की महिला लीना नायर को यूरोप के देश फ्रांस के लग्जरी ग्रुप शनैल ने लंदन में अपना नया ग्लोबल चीफ एडिटर नियुक्त किया है। बता दें कि 52 वर्षीय लीना नायर इससे पहले लीना यूनिलीवर की सबसे कम उम्र की मुख्य मानव संसाधन अधिकारी थी। ये इंटरनेशनल ब्रांड अपने ट्वीड सूट, क्विल्टेड हैंडबैग और परफ्यूम के लिए पहचान...