सोमवार, दिसम्बर 5Digitalwomen.news

Tag: Radio

93 years of AIR: Remembering the golden days of Akashvani
DW Editorial, Latest News

93 years of AIR: Remembering the golden days of Akashvani

रेडियो से शुरू हुआ समाचारों-मनोरंजन का सुरीला सफर डिजिटल युग में हुआ 'कैद' 93 years of AIR Remembering the golden days of Akashvani आज गूगल और सोशल मीडिया के दौर में देश-दुनिया ने भले ही बहुत कुछ पा लिया है । प्रसारण के क्षेत्र और मनोरंजन के तमाम चैनलों की भरमार है।लेकिन इसकी देश में शुरुआत 94 साल पहले हुई थी। आज हम आपको बताएंगे आकाशवाणी के बारे में। भारत में आकाशवाणी की स्थापना 23 जुलाई 1927 को की गई थी। मुंबई (बंबई) में इंडियन ब्रॉडकास्टिंग कंपनी ने रेडियो प्रसारण सेवा शुरू की थी। तब इसका नाम भारतीय प्रसारण सेवा रखा गया था। 1936 में इसका नाम बदलकर ऑल इंडिया रेडियो कर दिया और 1957 में आकाशवाणी के नाम से पुकारा जाने लगा। मैसूर के विद्वान और चिंतक एमवी गोपालस्वामी ने आकाशवाणी का अर्थ 'आकाश से मिला संदेश' बताया। पंचतंत्र की कथाओं में इस शब्द का जिक्र मिलता है। यहां हम आपको बता दें कि...
World Radio Day 2021: कहीं ऐसा न हो रेडियो की आवाज गुम हो जाए, आइए एक बार फिर बने इसके हमसफर
Latest News, News, TRENDING, Views, Viral Buzz

World Radio Day 2021: कहीं ऐसा न हो रेडियो की आवाज गुम हो जाए, आइए एक बार फिर बने इसके हमसफर

World Radio Day वर्ल्ड रेडियो डे विशेष आज जिसकी चर्चा करने जा रहे हैं वह आप लोगों के बचपन में जरूर करीब रहा होगा, हालांकि अभी भी देश में लाखों-करोड़ों लोग ऐसे हैं जो अपने पुराने संचार माध्यम को हमसफर बनाए हुए हैं । आज चाहे कितना भी इंटरनेट और गूगल का जमाना हो लेकिन उस हमसफर की बात ही कुछ और हुआ करती थी । यह रेडियो आकाशवाणी है, सुनकर कुछ याद आ गया होगा, अगर नहीं आया चलिए हम बताते हैं । हम बात करने जा रहे हैं 'रेडियो' की। आज विश्व रेडियो दिवस है । रेडियो ने वक्त को नहीं दौर को जीया है। उस लोग इसके दीवाने थे, रास्तों में रेडियो को गले में या हाथों में लटकाते हुए मिल जाते थे । आजादी के बाद जब देश में नया-नया रेडियो आया था तो इसे सुनने के लिए लोग जमा हो जाते थे । यही नहीं शादियों में भी दहेज के रूप में रेडियो दिया जाता । देशवासियों का रेडियो सुनना एक क्रेज हुआ करता था । क्रिकेट कमेंट्री...