शनिवार, जनवरी 28Digitalwomen.news

Tag: India and Srilanka

Sri Lanka: President Gotabaya Rajapaksa declares emergency amid economic crisis
Latest News

Sri Lanka: President Gotabaya Rajapaksa declares emergency amid economic crisis

आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका में आधी रात से फिर लगा आपातकाल, राष्ट्रपति के एलान के बाद सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन पर पाबंदी Sri Lanka: President Gotabaya Rajapaksa declares emergency amid economic crisis JOIN OUR WHATSAPP GROUP आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका में राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे ने शुक्रवार को आपातकाल का एलान कर दिया है। जिसके बाद अब सुरक्षा बलों को देश में जारी आर्थिक संकट को लेकर सरकार के विरोध में किए जा रहे प्रदर्शनों से निपटने के लिए दूसरी बार व्यापक अधिकार मिल गए हैं। आपातकाल के संबंध में राष्ट्रपति के एक प्रवक्ता ने कहा कि बिगड़ते आर्थिक संकट को लेकर राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के इस्तीफे की मांग को लेकर ट्रेड यूनियनों ने शुक्रवार को देशव्यापी हड़ताल की थी। ऐसे में कानून-व्यवस्था को बनाए रखने के लिए आधी रात के बाद श्रीलंका में आपातकाल लागू कर दिया गय...
संकट से जूझ रहे श्रीलंका को भारत की ओर से एक बार फिर से मिली बड़ी मदद, पेट्रोल और डीजल की दो और बड़ी खेप श्रीलंका भेजी गई
Latest News, News, TRENDING, World News

संकट से जूझ रहे श्रीलंका को भारत की ओर से एक बार फिर से मिली बड़ी मदद, पेट्रोल और डीजल की दो और बड़ी खेप श्रीलंका भेजी गई

"Credit Line At Work": India Sends 76,000 Tonnes Fuel To Lanka JOIN OUR WHATSAPP GROUP भारत सरकार ने आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका को एक बार फिर बड़ी मदद की है।भारत ने बुधवार को श्रीलंका के लिए पेट्रोल और डीज़ल की दो और खेप भेजी है। इस बात की जानकारी श्रीलंका स्थित भारतीय दूतावास ने ट्वीट कर दी है। दूतावास ने बताया है है कि भारत की ओर से 36 हज़ार मीट्रिक टन पेट्रोल और 40 हज़ार मीट्रिक टन डीज़ल श्रीलंका को भेजा गया है। दूतावास ने ये भी जानकारी दी है कि भारत ने अभी तक श्रीलंका को 270,000 मीट्रिक टन ईंधन भेजा है। https://twitter.com/IndiainSL/status/1511700042968567817?t=BxL0OmrTeN4qDanhBnu3VA&s=19 बता दें कि श्रीलंका में संकट के समय में भारत ईंधन के अलावा श्रीलंका को अन्य कई तरह की सहायता भेज रहा है। इनमें अनाज और दवाइयाँ प्रमुख हैं। श्रीलंका की सरकार ने कई बार भ...