रविवार, सितम्बर 25Digitalwomen.news

Tag: farmers against farm law

कृषि कानून को लेकर दिल्ली में डेरा जमाए बैठे किसानों ने अपना आंदोलन किया खत्म, 11 दिसंबर को मोर्चे होंगे खाली
Breaking News, In Pictures, Latest News, TRENDING

कृषि कानून को लेकर दिल्ली में डेरा जमाए बैठे किसानों ने अपना आंदोलन किया खत्म, 11 दिसंबर को मोर्चे होंगे खाली

Farmers End 15-Month Protest जैसे पहले ही कयास लगाए जा रहे थे कि किसान गुरुवार को अपना आंदोलन खत्म करने का एलान कर सकते हैं। आखिरकार दोपहर बाद किसानों ने बैठक करने के बाद यह आंदोलन खत्म करने का निर्णय लिया है। ‌ बता दें कि। एक साल से जारी किसान आंदोलन अब खत्म हो गया। संयुक्त किसान मोर्चा ने इसका एलान किया है।इससे पहले मोर्चा ने लंबी बैठक की, जिसके बाद घर वापसी पर फैसला लिया गया। किसान नेता बलवीर राजेवाल ने कहा कि हम सरकार को झुकाकर वापस जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि 15 जनवरी को किसान मोर्चा की फिर बैठक होगी, जिसमें आगे की रणनीति पर चर्चा होगी। किसान वापसी के ऐलान के बाद 11 दिसंबर से दिल्ली बॉर्डर से किसान लौटेंगे। Farmers End 15-Month Protest, will leave the protesting site on Dec 11 राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर डटे किसानों ने भी 'घर वापसी' की तैयारी शुरू कर दी है। सिंघु-को...
बनी सहमति, दिल्ली में डटे किसान आज आंदोलन को खत्म करने का एलान कर सकते हैं
Latest News, TRENDING

बनी सहमति, दिल्ली में डटे किसान आज आंदोलन को खत्म करने का एलान कर सकते हैं

Farmers may end Protest today राजधानी दिल्ली में एक साल से अधिक चले आ रहे किसान आंदोलन का आज आखिरी दिन हो सकता है। किसानों और सरकार के बीच सहमति बन रही है। संयुक्त किसान मोर्चा ने बुधवार को कहा कि उनकी लंबित मांगों को लेकर केंद्र के संशोधित मसौदा प्रस्ताव पर आम सहमति बन गई है और आंदोलन के लिए भविष्य की रणनीति तय करने को लेकर बृहस्पतिवार को बैठक होगी। यह बैठक गुरुवार दोपहर 12 बजे दिल्ली के सिंघु बॉर्डर होनी है। इसी बैठक के बाद किसानों के घर लौटने का एलान किया जा सकता है। नए मसौदा प्रस्ताव पर सरकार की तरफ से औपचारिक संदेश प्राप्त होते ही किसानों का आंदोलन तुरंत समाप्त कर दिया जाएगा। बुधवार को पांच वरिष्ठ किसान नेताओं ने सरकार की तरफ से दिए गए नए प्रस्तावों पर चर्चा की। इनमें हजारों किसानों के खिलाफ दर्ज पुलिस केस तत्काल वापस लिए जाने की बात शामिल है। सरकार ने किसानों को एक प्रस्ताव भेजा ...
संसद में शीतकालीन सत्र की शुरुआत आज से, पक्ष और विपक्ष में राजनीति टकराव की शुरू होगी नई सीरीज
Latest News, TRENDING

संसद में शीतकालीन सत्र की शुरुआत आज से, पक्ष और विपक्ष में राजनीति टकराव की शुरू होगी नई सीरीज

Parliament Winter Session to begin today on stormy note आज से देश में सियासत का नया टकराव शुरू होने जा रहा है। सत्ता पक्ष और विपक्ष दो-दो हाथ करने के लिए तैयार हैं। इस टकराव की जगह लोकतंत्र का सबसे बड़ा मंदिर 'संसद भवन' है। मॉनसून सत्र के बाद आज से संसद का 'शीतकालीन सत्र' शुरू होने जा रहा है। यह सत्र इसलिए महत्वपूर्ण है कि आने वाले कुछ महीनों बाद ही पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसे देखते हुए भाजपा के साथ तमाम विपक्षी दल देश की जनता के सामने यह संदेश देने की कोशिश करेंगे कि हमारी नीतियां अच्छी हैं। इसके लिए केंद्र सरकार और विपक्ष ने पूरा रिहर्सल तैयार कर लिया है। पक्ष और विपक्ष की ओर से शीतकालीन सत्र के दौरान कई मुद्दों पर जोर आजमाइश होगी। वहीं कृषि कानून को लेकर देश का किसान भी नजरें लगाए हुए है। बता दें कि इस सत्र को लेकर रविवार को सर्वदलीय बैठक के साथ भाजपा ओर विपक्षी दल...
Crucial farmer unions’ meet today: Farmers Protest, Rallies to Continue As Planned, MSP issue in focus now
Uncategorized

Crucial farmer unions’ meet today: Farmers Protest, Rallies to Continue As Planned, MSP issue in focus now

एमएसपी पर किसान संगठनों की अहम बैठक आज, 29 नवंबर की तय तारीख पर हीं होंगे संसद तक ट्रैक्टर मार्च Crucial farmer unions' meet today: Farmers Protest, Rallies to Continue As Planned, MSP issue in focus now प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरु गोविंद सिंह पर पर्व पर कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा के दूसरे दिन शनिवार को सिंघु बॉर्डर पर पंजाब से जुड़े किसान संगठनों ने बैठक की गई। इस बैठक में तय किया गया है कि 22 नवंबर को प्रस्तावित लखनऊ रैली व 29 नवंबर को संसद मार्च के आयोजन का कार्यक्रम पूर्ववत रहेगा। इसमें किसी तरह का बदलाव नहीं होगा। इस फैसले पर अंतिम मुहर लगाने के लिए रविवार को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक होगी। इसमें प्रधानमंत्री की घोषणा के बाद पैदा हुए हालात व किसान आंदोलन की आगे की रणनीति तय की जाएगी।बता दें की किसान संगठनों ने यह स्पष्ट कर दिया है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी...
1 year and 700 lives lost, but Indian protestors have succeeded in repealing anti-farming laws
Latest News

1 year and 700 lives lost, but Indian protestors have succeeded in repealing anti-farming laws

Surinder S. Jodhka, Jawaharlal Nehru University 1 year and 700 lives lost, but Indian protestors have succeeded in repealing anti-farming laws Days short of the first anniversary of the farmers’ protests, Indian Prime Minister Narendra Modi said in a televised address the government had decided to repeal the three new farm laws. The prime minister also said a committee would be formed to address the farmers concerns. The committee would be made up of farmers’ representatives and agriculture policy experts. The announcement was made on the day of an important Sikh festival that marks the birth anniversary of Guru Nanak Dev, the first of the ten Sikh gurus. Farm leaders welcomed the move, but said the protests won’t end immediately. They say they will wait until the laws are formal...
32 Farmers Union To Meet And Decide On Ending Protests
Latest News

32 Farmers Union To Meet And Decide On Ending Protests

देश के 32 किसान संगठनों की अहम बैठक आज, लेंगे बड़ा फैसला 32 Farmers Union To Meet And Decide On Ending Protests प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने के ऐलान के बाद आज 32 किसान संगठनों की बैठक होने जा रही है। इस बैठक में सभी किसान संगठन आगे की रणनीति तैयार करने वाले हैं।बता दें की पीएम मोदी ने शुक्रवार को गुरु पर्व के दिन राष्ट्र को संबोधित करते हुए तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का एलान किया साथ हीं एक साल से ज्यादा समय से कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों से आंदोलन खत्म करने की अपील की और अपने खेत व परिवार के बीच लौटने का आग्रह किया।  पीएम मोदी ने इस दौरान राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा की अगले महीने संसद के शीतकालीन सत्र में तीनों कृषि कानून को वापस लेने की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। पर मोदी के इस फैसले को कुछ किसान संगठनों ने...
500 farmers to march to Parliament every day during winter session
Latest News, TRENDING

500 farmers to march to Parliament every day during winter session

कृषि आंदोलन के 1 साल होने पर शीतकालीन सत्र कर दौरान रोजाना 500 किसान भवन करेंगे संसद भवन पर मार्च 500 farmers to march to Parliament every day during winter session (Photo by Anindito Mukherjee/Getty Images) केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन लगभग 1 साल से जारी है। इस बीच कल मंगलवार को सोनीपत के कुंडली बॉर्डर पर संयुक्त किसान मोर्चा की अहम बैठक हुई, जिसमें इस बैठक में 26 नवंबर को दिल्ली कूच और आंदोलन की नई रणनीति को लेकर अहम फैसले किए गए हैं। किसान संगठन के इस बैठक में फैसला किया गया कि 29 नवंबर से शुरू हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान रोजाना 500 किसान ट्रैक्टर लेकर संसद भवन की तरफ मार्च करेंगे। वहीं, आंदोलन की पहली बरसी यानी 25 नवंबर की पूर्व संध्या तक पंजाब और हरियाणा के और किसान दिल्ली की सीमाओं की ओर बढ़ेंगे। इस दौरान किसान...
Kisan Andolan: Farmers block highways, rail tracks; Punjab, Bihar, Delhi-UP traffic affected
Bihar, Breaking News, Latest News, Other States, States, Uttar Pradesh

Kisan Andolan: Farmers block highways, rail tracks; Punjab, Bihar, Delhi-UP traffic affected

किसानों का हल्ला बोल, हरियाणा, पंजाब से लेकर यूपी, बिहार तक असर दिखना शुरू Farmers block highways, rail tracksFarmers block highways, rail tracksFarmers block rail tracks in PunjabFarmers block highways in JehanabadKisan Andolan: Farmers block highways, rail tracks; Punjab, Bihar, Delhi-UP traffic affected कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों ने आज भारत बंद करने का ऐलान किया है। संयुक्त किसान मोर्चा ने सभी 40 घटक संगठनों से सुबह छह बजे से शाम चार बजे तक अपने यहां गतिविधियां बंद कराने के लिए जुटने का आह्वान किया है। इस बंद का असर उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, बिहार समेत कई राज्यों में देखने के लिए मिल रहा है। बिहार में राजद, कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियों के कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए हैं। आंदोलनकारी यातायात को बाधित करवा रहे हैं। बिहार के पटना, वैशाली, आरा, दरभंगा, अरवल, औरंग...
आज खत्म हो सकता है किसानों और अफसरों के बीच टकराव, आज सुबह 9 बजे होगी अहम बैठक
Latest News, Other States, States

आज खत्म हो सकता है किसानों और अफसरों के बीच टकराव, आज सुबह 9 बजे होगी अहम बैठक

कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे करनाल के बसताड़ा टोल पर 28 अगस्त को किसानों पर हुए लाठीचार्ज के बाद एसडीएम आयुष सिन्हा के खिलाफ सख्त कार्रवाई समेत अन्य मांगों को लेकर करनाल में चल रहा किसानों और अफसरों के बीच आज टकराव खत्म होने के आसार दिखाई पड़ रहे हैं।बता दें कि शुक्रवार देर रात तक अफसरों और किसानों की बैठक चली है। सरकार के निर्देश पर किसानों से बातचीत करने के लिए शुक्रवार को कृषि विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस) देवेंद्र सिंह करनाल पहुंचे हुए थे। जबकि किसानों की ओर से इस बैठक में भाकियू हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी समेत पंद्रह सदस्यीय कमेटी के किसान नेता भी शामिल थे।शुक्रवार रात को खत्म हुई अतिरिक्त मुख्य सचिव और किसान नेताओं के बीच बैठक का एक और दौर आज सुबह 9 बजे चलेगा। इस बैठक में सरकार की ओर से अतिरिक्त मुख्य सचिव किसानों के समक्ष अपना अंतिम निर्णय रखेंग...
बढ़ता टकराव: मानसून सत्र से विपक्ष बढ़ा रहा अपनी ताकत, केंद्र को घेरने के लिए हर रोज मिल रहे नए मुद्दे
Latest News, News, Politics

बढ़ता टकराव: मानसून सत्र से विपक्ष बढ़ा रहा अपनी ताकत, केंद्र को घेरने के लिए हर रोज मिल रहे नए मुद्दे

संसद से पक्ष और विपक्ष के नेताओं के बीच जारी सियासी घमासान का असर सड़कों पर भी दिखाई पड़ रहा है। चार दिनों से राजधानी दिल्ली में जैसे हल्ला बोल शुरू हो गया है। कुछ दिनों पहले तक केंद्र सरकार और विपक्ष के बीच ट्विटर पर जंग छिड़ी हुई थी। लेकिन अब ट्विटर के साथ आमने-सामने का भी टकराव शुरू हो गया है। सोमवार, 19 जुलाई से शुरू हुए मानसून सत्र ने विपक्ष की 'तकदीर' बदल दी है। संसद के सत्र को लेकर आज 4 दिन हो गए हैं लेकिनहर रोज कोई न कोई नया और बड़ा मुद्दा विरोधियों के हाथ लग जा रहा है। मानसून सत्र के पहले दिन ही फोन टैपिंग जासूसी को लेकर कांग्रेस समेत कई राजनीतिक दलों की केंद्र सरकार को घेरने के लिए शानदार शुरुआत हुई । उसके बाद दूसरे दिन मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया का बयान 'देश में ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई' के बाद विपक्षी नेताओं को मोदी सरकार के खिलाफ आवाज उठ...