रविवार, सितम्बर 25Digitalwomen.news

Tag: Budget Session 2021

निजीकरण के विरोध में विपक्ष के साथ सरकारी कर्मचारियों का सड़क पर फूट सकता है गुस्सा
In Pictures, Latest News, Views

निजीकरण के विरोध में विपक्ष के साथ सरकारी कर्मचारियों का सड़क पर फूट सकता है गुस्सा

आमतौर पर देखा गया है कि सरकारी निजीकरण को लेकर कभी भी हिम्मत नहीं दिखा पाती हैं । लेकिन इस बार बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 'डंके की चोट' पर बता दिया कि अब आने वाला भारत निजीकारण को बढ़ावा देने के लिए तैयार है । अभी केंद्र सरकार के कृषि कानून का विरोध खत्म नहीं हुआ है, दिल्ली में हजारों किसान केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलित हैं । अब आने वाले दिनों में विपक्ष नेताओं के साथ सरकारी कर्मचारी भी निजीकरण के विरोध में सड़क पर कूद सकते हैं । बजट के बाद विपक्ष का आरोप है कि भाजपा सरकार निजीकरण और 'एसेट मॉनिटाइजेशन' के द्वारा अपने पुरखों की पसीने की कमाई से बनाई हुई जायदाद को बेच रही है । बता दें कि इन दिनों संसद में बजट सत्र भी चल रहा है, केंद्र सरकार ने विपक्ष को बजट में निजीकरण को बढ़ावा देने का एक बैठे-बिठाए मुद्दा भी थमा दिया है ।‌ इसी तरह तमाम सेक्टर में संपत्तियों को बेचने या ली...
कोरोना संकटकाल और डूबती अर्थव्यवस्था के बीच मोदी सरकार का कल ‘बजट इम्तेहान’
कोविड 19, COVID19, Latest News

कोरोना संकटकाल और डूबती अर्थव्यवस्था के बीच मोदी सरकार का कल ‘बजट इम्तेहान’

Finance Minister Nirmala Sitharaman किसी भी केंद्र सरकार के लिए अपनी योजनाओं और नीतियों का बखान करने के लिए 'बजट' की परीक्षा सबसे बड़ी मानी जाती है ।‌ बजट यह बताता है कि केंद्र सरकार ने पिछले वर्ष क्या किया और आने वाले वर्ष में क्या करने जा रही है । सही मायने में बजट बीते साल का वह लेखा-जोखा होता है जो अगले वर्ष का भविष्य निर्धारण करता है । सबसे बड़ी बात यह है कि पिछले वर्ष पेश किए गए बजट की घोषणाओं में सरकार कितना खरा उतरी । कठिन चुनौतियों का सामना करते हुए भी केंद्र सरकारों को आम और खास लोगों की उम्मीदों को पूरा करने की बड़ी चुनौती होती है । बजट के पिटारे से निकली तमाम योजनाएं और वादे देश की अर्थव्यवस्था पर असर डालते हैं, साथ ही यह बजट आम और खास लोगों की जिंदगी से भी जुड़ा हुआ होता है । इसीलिए हर वर्ष फरवरी में पेश किए जाने वाले बजट पर पूरे देश की निगाहें लगी होती हैं । जी हां आज 31 ...