Sat, September 23, 2023

DW Samachar logo

डिजिटल भुगतान के मामले में भारत एक कदम और हुआ आगे, पीएम मोदी ने सिंगापुर में भी शुरू की UPI पेमेंट की सुविधा

India launches UPI integration with Singapore's
India launches UPI integration with Singapore's
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस यानी UPI का लगातार विस्तार हो रहा है। भारत का यह पेमेंट सिस्टम अब कई देशों में चल रहा है और अब इस लिस्ट में आज से एक नया नाम जुड़ गया है और वह नाम है सिंगापुर।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली हेसिन लूंग नेने आज भारत और सिंगापुर के बीच मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से मनी ट्रांसफर की सुविधा का उद्घाटन किया। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सुबह 11 बजे इस सुविधा को लांच करने के दौरान आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास भी मौजूद रहे।

आपको बता दें कि भारत का यूपीआई (UPI) दुनियाभर में लोकप्रिय हो रहा है। सिंगापुर के पे-नाऊ के साथ इसके जुड़ने से दोनों देशों के बीच क्रॉस-बॉर्डर कनेक्टिविटी के तहत बेहद आसानी और तेजी के साथ पैसे ट्रासंफर किए जा सकेंगे। इस सुविधा के तहत सिंगापुर में रहने वाले भारतीय अब UPI का इस्तेमाल कर भारत में पैसे ट्रांसफर कर सकेंगे। इसके अलावा छात्रों के लिए भी ये लाभकारी होगा। दरअसल, कोई भारतीय छात्र जो सिंगापुर में पढ़ाई कर रहा है उसके अभिभावक बेहद आसानी से डिजिटल पेमेंट कर यूपीआई से उसे मनी ट्रांसफर कर सकेंगे।

3.45 लाख से ज्यादा लोगों को मिलेगी सौगात

इस सुविधा के तहत अब UPI, सिंगापुर के Paynow से कनेक्ट होगा। इस सुविधा के शुरू होने से सिंगापुर में रह रहे लाखों भारतीयों को फायदा होगा। रिपोर्ट के मुताबिक, सिंगापुर में भारतीय मूल के करीब 3.45 लाख से ज्यादा लोग हैं। बड़ी संख्या में छात्र और प्रवासी कामगार वहां रहते हैं।

इन देशों में पहले से है UPI की सेवाएं

आपको बता दें कि डिजिटल पेमेंट करने में भारत विश्व के सभी देशों में सबसे आगे है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष यानी IMF और विश्व बैंक तक ने यूपीआई को लेकर भारत को सराहा है। भारत से बाहर UPI सेवाओं को शुरू करने सिंगापुर के अलावा कई देश हैं। UPI भले ही अभी नया नाम हो, लेकिन इससे पहले भी इस पेमेंट सिस्टम के लिए कई देशों से करार किया जा चुका है। भारत रुपे के माध्यम से पहले से ही कई देशों में डिजिटल भुगतान सेवा काम कर रही है। इनमें भूटान, नेपाल, मलेशिया, ओमान, यूएई जैसे देश शामिल हैं। नेपाल में UPI प्लेटफॉर्म लागू करने वाला भारत के बाहर पहला देश है। सिंगापुर के साथ यूपीआई सेवाओं की शुरुआत के बाद अन्य कई देशों में इसके उपयोग की संभावनाओं को तलाशा जा रहा है। इस लिस्ट में आस्ट्रेलिया, कनाडा, कंबोडिया, वियतनाम, जापान, ताइवान जैसे देश शामिल हैं। रिपोर्ट की मानें तो तकरीबन 30 देशों के साथ UPI प्रणाली को अपनाने पर बातचीत जारी है।

Relates News

लेटेस्ट न्यूज़

Breaking news live updates

Breaking news and live update: ‘राज्यसभा में महिला आरक्षण बिल पारित हुआ। बिल के पक्ष में 215 वोट पड़े जबकि किसी ने भी बिल के खिलाफ वोट नहीं डाला।
राज्यसभा में महिला आरक्षण बिल पारित हुआ। बिल के पक्ष में 215 वोट पड़े जबकि किसी ने भी बिल के खिलाफ वोट नहीं डाला।
राज्यसभा में महिला आरक्षण बिल पारित हुआ। बिल के पक्ष में 215 वोट पड़े जबकि किसी ने भी बिल के खिलाफ वोट नहीं डाला।