रविवार, फ़रवरी 5Digitalwomen.news

National Bravery Awards Winners: Eleven children conferred with PM’s national award, Prime Minister to interact with the Awardees today

राष्ट्रपति ने 11 बच्चों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से किया सम्मानित, पीएम मोदी आज करेंगे मुलाकात

National Bravery Awards Winners: Eleven children conferred with PM’s national award, Prime Minister to interact with the Awardees today
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने सोमवार को विज्ञान भवन में 11 बच्चों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित किया। पुरस्कार पाने वाले बच्चों में 6 लड़के हैं और 5 लड़कियां हैं। ये बच्चे देश के अलग-अलग क्षेत्रों से इनोवेशन, समाज सेवा, शैक्षिक, खेल, कला-संस्कृति और वीरता की कैटेगरी के लिए चुने गए हैं। वहीं पीएम मोदी पुरस्कार पाने वाले बच्चों से शाम 4 बजे अपने आवास 7 लोक कल्याण मार्ग पर बातचीत करेंगे। ये बच्चे देश के सभी क्षेत्रों से नवाचार, सामाजिक सेवा, शैक्षिक, खेल, कला-संस्कृति और वीरता श्रेणियों में अपनी असाधारण उपलब्धियों के लिए चुने गए हैं। बता दें कि पिछले साल 29 बच्चों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

हर साल केंद्र सरकार बच्चों को उनकी असाधारण उपलब्धियों के लिए ये पुरस्कार देती है। ये पुरस्कार 5 से 18 साल की उम्र के बच्चों को 6 अलग-अलग कैटेगरी दिया जाता है, जो राष्ट्रीय मान्यता के पात्र हैं। राष्ट्रीय बाल पुरस्कार महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की ओर से दिया जाता है। बता दें कि भारत सरकार द्वारा नवाचार, समाज सेवा, शैक्षिक, खेल, कला और संस्कृति और बहादुरी जैसी छह श्रेणियों में असाधारण उपलब्धि हासिल करने वाले बच्चों को ये पुरस्कार प्रदान किया जाता है। प्रत्येक पुरस्कार विजेता को एक पदक, 1 लाख रुपये का नकद पुरस्कार और एक प्रमाण पत्र दिया जाता है। बाल पुरस्कार विजेता हर साल गणतंत्र दिवस परेड में भी हिस्सा लेते हैं। असाधारण उपलब्धि हासिल करने वाले बच्चों को सम्मानित करने के मकसद से 1996 में इस पुरस्कार को शुरू किया गया था। इस पुरस्कार को हासिल करने वाले बच्चों को मेडल के अलावा नकद पुरस्कार दिया जाता है। 2018 से इस पुरस्कार का नाम बदलकर ‘बाल शक्ति पुरस्कार’ रखा गया है और इसमें बहादुरी के क्षेत्र में उपलब्धि हासिल करने वाले बच्चों को भी शामिल किया गया है। ये पुरस्कार उन बच्चों को ही मिलता है, जो भारत के नागरिक हैं और भारत में रहते हैं। साथ ही ऐसे बच्चों की उम्र 5 साल से ज्यादा और 18 साल से कम होनी चाहिए।

Leave a Reply

%d bloggers like this: