बुधवार, फ़रवरी 1Digitalwomen.news

भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने जम्मू के कठुआ में पहनी जैकेट, अभी तक टी-शर्ट में थे

Rahul Gandhi resumes Yatra from Kathua wearing raincoat
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

7 सितंबर से कन्याकुमारी से शुरू हुई भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी आज पहली बार जैकेट पहने हुए दिखाई दिए हैं। ‌अभी तक राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा के दौरान एक टी-शर्ट पहन कर ही चल रहे थे। राहुल के कड़ाके की ठंड में टी-शर्ट पहनने पर भाजपा के नेताओं ने सवाल भी उठाए थे। बता दें कि शुक्रवार को राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा की आज जम्मू-कश्मीर के कठुआ से औपचारिक शुरुआत हुई। राहुल ने हल्की बूंदा-बादी के बीच यात्रा शुरू की गई। इस दौरान बारिश से बचने के लिए राहुल गांधी एक काले रंग की जैकेट पहने नजर आए। इस यात्रा के दौरान यह पहली बार है कि राहुल गांधी ने टी शर्ट के ऊपर कोई और कपड़ा पहना है।

Rahul Gandhi wearing raincoat during light rain in Jammu and Kashmir

कड़ाके की ठंड में भी राहुल का केवल टी शर्ट पहनना एक मुद्दा बन गया था। भारत जोड़ो यात्रा के दौरान शिवसेना के राज्यसभा सांसद और वरिष्ठ नेता संजय राउत भी दिखाई दिए। भारत जोड़ो यात्रा जम्मू के लखनपुर से होते हुए कठुआ, हीरानगर, बनिहाल टनल होते हुए कश्मीर घाटी तक जाएगी। वह श्रीनगर में 30 जनवरी को एक विशाल रैली के साथ यात्रा का समापन करेंगे। इस यात्रा में राहुल के साथ नेकां अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला, पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती, सीपीएम नेता यूसुफ तारिगामी भी जुड़ेंगे।

राहुल गांधी गुरुवार शाम को ही लखनपुर पहुंच गए थे। यहां उन्होंने महाराजा गुलाब सिंह की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किए थे। नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने हाथ में मशाल लेकर उनका स्वागत किया था। इस दौरान उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोगों ने बहुत दुख देखे हैं। मैं यहां के लोगों का दुख-दर्द बांटने आया हूं।

Shivsena Leader Sanjay Raut also Joined Rahul Gandhi’s Bharat Jodo Yatra today

उन्होंने कहा कि कुछ साल पहले मेरा परिवार जम्मू-कश्मीर में रहता था। जिस धरती पर मेरा परिवार रहता था, वहां मैं पैदल चलकर जा रहा हूं। कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा सात सितंबर को तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई थी। पिछले 125 से अधिक दिनों में यह यात्रा देश के 10 राज्यों के 52 से अधिक जिलों से गुजरती हुई जम्मू कश्मीर के कठुआ पहुंची है। इस यात्रा को साढ़े तीन हजार से किलोमीटर से अधिक की दूरी तय करनी है। यह यात्रा जम्मू कश्मीर के श्रीनगर पहुंचकर खत्म होगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: