गुरूवार, फ़रवरी 9Digitalwomen.news

Egyptian President Abdel Fattah Al Sisi to be Chief Guest of Republic Day celebration 2023, No more VVIP Culture

गणतंत्र दिवस परेड में इस वर्ष कोई वीवीआईपी नहीं इनके लिए होगा फ्रंट लाइन आरक्षित, जाने क्या होगा इस वर्ष खास

Egyptian President Abdel Fattah Al Sisi to be Chief Guest of Republic Day celebration 2023, No more VVIP Culture
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

भारत इस बार 74 वा गणतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है और इस बार का गणतंत्र दिवस 2023 बेहद खास होने वाला है।
दरअसल में इस वर्ष गणतंत्र दिवस पर कर्तव्य पथ पर आयोजित होने वाले समारोह में वीवीआईपी नहीं बल्कि रिक्शा चालकों से लेकर सब्जी विक्रेताओं तक के लिए फ्रंट लाइन आरक्षित रखा गया है, जो वास्तव में एक गणतंत्र राष्ट्र की भावना का प्रतिनिधित्व करते हैं। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, परेड के दौरान श्रमजीवी (वे श्रमिक जिन्होंने सेंट्रल विस्टा बनाने में मदद की), उनके परिवार, कर्तव्य पथ के रखरखाव कार्यकर्ता और समुदाय के अन्य सदस्य जैसे रिक्शा चालक, छोटे किराने वाले और सब्जी विक्रेता मुख्य मंच के सामने बैठेंगे। इस वर्ष के समारोह का विषय सभी गणतंत्र दिवस कार्यक्रमों में “आम लोगों की भागीदारी” है।

मिस्र के राष्ट्रपति होंगे इस बार गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि

बता दें कि हर बात गणतंत्रता दिवस पर देश में मुख्य अतिथि के रूप में किसी विशेष नेता को आमंत्रित किया जाता है। इस वर्ष मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फत्ताह अल-सिसी गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि होंगे। इसके अतिरिक्त, मिस्र से 120 सदस्यीय मार्चिंग दल भी परेड में हिस्सा लेगा।

बता दें कि सितंबर 2022 में पुनर्निर्मित सेंट्रल विस्टा एवेन्यू के उद्घाटन के दौरान राजपथ का नाम बदलकर कर्तव्य पथ रखा गया था। राजपथ के कर्तव्य पथ होने के बाद यह पहली गणतंत्र दिवस परेड है। परेड के लिए सीटों की संख्या घटाकर 45,000 कर दी गई है, इनमें से 32,000 सीटें और बीटिंग रिट्रीट इवेंट के लिए कुल सीटों का 10% जनता के लिए ऑनलाइन बिक्री के लिए उपलब्ध रहेगा।

लाल किले में भारत पर्व के दौरान जनजातीय मामलों और रक्षा मंत्रालयों द्वारा कार्यक्रम और विभिन्न राज्यों के कला रूपों और खाद्य पदार्थों के प्रदर्शन भी होंगे। फ्लाईपास्ट में 18 हेलीकॉप्टर, 8 ट्रांसपोर्टर विमान और 23 लड़ाकू विमान शामिल होंगे।

राष्ट्रीय स्तर पर आम लोगों के प्रतिनिधित्व को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार का जोर पिछले कुछ वर्षों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने सरकारी समारोहों और कार्यक्रमों में आम आदमी के प्रतिनिधित्व को अधिकतम करने पर विशेष जोर दिया है। यहां तक कि पिछले साल गणतंत्र दिवस परेड में भी ऑटोरिक्शा चालकों, निर्माण श्रमिकों, सफाई कर्मचारियों और अग्रिम पंक्ति के श्रमिकों को भव्य कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए निमंत्रण दिया गया था।

Leave a Reply

%d bloggers like this: