गुरूवार, फ़रवरी 9Digitalwomen.news

मेघालय-त्रिपुरा और नागालैंड में निर्वाचन आयोग आज विधानसभा चुनाव की तारीखों का करेगा एलान, नॉर्थ ईस्ट के इन राज्यों में जानिए मौजूदा सियासी स्थित

Election Commission of India (ECI) to announce the Schedule of General Elections to Legislative Assemblies of Nagaland, Meghalaya & Tripura today
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

इस साल 9 राज्यों में विधानसभा चुनाव होना है। जिसकी शुरुआत नॉर्थ ईस्ट के तीन राज्यों से होने जा रही है। पूर्वोत्तर के तीन राज्य मेघालय, त्रिपुरा और नागालैंड में सबसे पहले चुनाव होना है। आज चुनाव आयोग इन तीन राज्यों में विधानसभा चुनाव को लेकर चुनावी तारीखों का एलान करेगा। चुनाव आयोग ने तारीखों के एलान के लिए दोपहर 2.30 बजे प्रेस कांफ्रेंस रखी है।

ECI Notice for Press Conference

बता दें कि हाल ही में इन तीनों राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों का जायजा लेने के लिए चुनाव आयोग की केंद्रीय टीम बीते दिनों यहां गई थी। बीते दिनों मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार और दोनों आयुक्त अनूप चंद्र पांडेय और अरुण गोयल नॉर्थ ईस्ट के चार दिवसीय दौरे पर गए थे। इस दौरान शीर्ष अधिकारियों ने तीनों राज्यों में होने चुनाव की तैयारियों की समीक्षा की थी। अधिकारियों ने तीनों राज्यों के मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक, राजनीतिक दल के नेताओं के साथ बैठक भी की थी।

नागालैंड विधानसभा का कार्यकाल इस साल 12 मार्च को समाप्त होने वाला है, जबकि मेघालय और त्रिपुरा का कार्यकाल क्रमशः 15 मार्च और 22 मार्च को समाप्त होगा। त्रिपुरा विधानसभा चुनाव 2018 में जब रिजल्ट आया तो राज्य की 60 में 35 सीटों पर बीजेपी को जीत मिली। यह बहुमत का आंकड़ा था और बीजेपी ने अपनी सरकार बनाई। पार्टी ने लिए यह जीत बहुत ही महत्वपूर्ण थी क्योंकि अपने दम पर पार्टी त्रिपुरा में शून्य से शिखर तक का सफर पहुंची थी। बीजेपी ने 25 साल से सत्तारूढ़ माणिक सरकार को सत्ता से बाहर किया था। वहीं बीजेपी की सहयोगी आईपीएफटी ने 8 सीटें जीती थीं, जिसके बाद बीजेपी का कुल आंकड़ा 43 सीटों का हो गया था। वहीं, सीपीएम को 16 सीटों पर जीत हासिल हुई थी।

मेघालय में 59 विधानसभा सीटों पर 2018 में चुनाव हुए थे। यहां पर कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी हालांकि इसके बाद भी कांग्रेस बहुमत का आंकड़ा नहीं छू पाई थी। 59 सीटों में से कांग्रेस को 21 सीटों पर जीत मिली थी। दूसरे नंबर पर एनपीपी रही, जिसके खाते में 19 सीटें आई थीं। बीजेपी को राज्य में महज 2 सीटों पर ही जीत मिली थी। यूडीपी को 6 सीटें मिली थीं। अन्य दलों के खाते में 11 सीटें आई थीं। नेशनल पीपुल्स पार्टी दूसरे नंबर पर रहने के बाद भी मेघालय में सरकार बनाने में कामयाब रही। एनपीपी के अध्यक्ष कॉनराड संगमा ने 6 मार्च 2018 को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उन्हें 34 विधायकों का समर्थन मिला। 19 विधायक उनकी पार्टी के इसके अलावा बीजेपी के दो विधायकों ने भी उन्हें समर्थन दिया।नगालैण्ड विधानसभा चुनाव 2018 पर 27 फरवरी 2017 को वोट पड़े थे। 60 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में से 59 सीटों पर ही वोटिंग हुई थी। पूर्व मुख्यमंत्री नेफियू रियो के निर्विरोध चुन लिए जाने के चलते, उनकी सीट उत्तरी अंगमी-II पर वोट नहीं पड़े थे। 3 मार्च को नागालैंड विधानसभा चुनाव 2018 का रिजल्ट आया और उसके बाद बीजेपी के सहयोगी दल ने सरकार बनाई। राज्य की 60 में 59 सीटों पर हुए चुनाव के नतीजे आए। बीजेपी ने 12 सीटों पर जीत पाई। वहीं बीजेपी की सहयोगी नेशनलिस्ट डेमोक्रैटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) ने राज्य की 16 सीटों पर कब्जा जमाया है। सत्तारूढ़ नगा पीपल्स फ्रंट (एनपीएफ) को 27 सीटों पर जीत हासिल हुई है। इसके अलावा एक सीट पर निर्दलीय और एक सीट पर जेडीयू प्रत्याशी जाती। उम्मीदवार ने जीत दर्ज की है। नेशनल पीपल्स पार्टी (एनपीपी) ने दो सीटें जीतीं। बीजेपी गठबंधन की सरकार बनी और 15 साल के अंदर चौथी बार नेफ्यू रियो ही मुख्यमंत्री बने। बता दें कि मौजूदा समय नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी के नेता नेफियू रियो नागालैंड के मुख्यमंत्री हैं। बीजेपी के नेता माणिक साहा त्रिपुरा के मुख्यमंत्री हैं। एनपीपी के कॉनराड संगमा मेघायल के मुख्यमंत्री हैं। मालूम हो कि इस साल नौ राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। इनमें त्रिपुरा, मेघालय, नगालैंड, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, मिजोरम, राजस्थान, तेलंगाना शामिल है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: