रविवार, फ़रवरी 5Digitalwomen.news

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पश्चिम बंगाल के पूर्व गवर्नर पंडित केशरीनाथ त्रिपाठी का निधन, पीएम मोदी ने जताया शोक

JOIN OUR WHATSAPP GROUP

पश्चिम बंगाल के पूर्व गवर्नर और भाजपा के वरिष्ठ नेता पंडित केशरीनाथ त्रिपाठी का आज सुबह 88 साल की आयु में प्रयागराज में अपने आवास पर निधन हो गया । कुछ दिन पहले ही उन्हें सांस में दिक्कत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। स्वास्थ्य में सुधार होने पर अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी । बता दें कि पंडित केशरी नाथ त्रिपाठी तीन बार उत्तर प्रदेश विधानसभा के स्पीकर रह चुके थे। वर्ष 1977-79 के दौरान जनता पार्टी सरकार में कैबिनेट मंत्री नियुक्त किए गए थे। पंडित केशरी नाथ त्रिपाठी 2014 से 2019 के बीच पश्चिम बंगाल के गवर्नर भी रहे। इस बीच उनके पास बिहार, मेघालय और मिजोरम राज्यों के गवर्नर का भी अतिरिक्त प्रभार रहा। पंडित केशरी नाथ त्रिपाठी 3 बार यूपी विधानसभा के अध्यक्ष और यूपी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रहे। वह हाईकोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता रहे। राजनेता होने के साथ साथ त्रिपाठी संविधान के अच्छे जानकार थे। बता दें कि केशरी नाथ त्रिपाठी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष का 1991-1993, 1997-2002 और मई 2002 से मार्च 2004 तक कार्यभार संभाला था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने केशरी नाथ त्रिपाठी के निधन पर शोक प्रकट किया है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि केशरी नाथ त्रिपाठी का सम्मान उनकी सेवा और बुद्धिमत्ता के लिए होता था। वह संवैधानिक मामलों के अच्छे जानकार थे। उन्होंने उत्तर प्रदेश में बीजेपी को मजबूत करने में अहम भूमिका निभाई और प्रदेश में विकास की दिशा में कड़ी मेहनत की। उनके निधन से दुख हुआ। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं ओम शांति। वहीं सीएम योगी ने दुख प्रकट करते हुए कहा कि केशरी नाथ त्रिपाठी एक वरिष्ठ और अनुभवी नेता थे। वे संसदीय नियमों और परंपराओं के गहने जानकार थे। वह विद्वान अधिवक्ता और संवेदनशील साहित्यकार भी थे। उनके निधन से समाज की अपूरणीय क्षति हुई है। बता दें कि केशरीनाथ त्रिपाठी का इलाहाबाद (अब प्रयागराज) में 10 नवंबर 1934 को जन्म जन्म हुआ था। उन्होंने इलाहाबाद उच्च न्यायालय में वरिष्ठ अधिवक्ता के तौर पर वकालत की थी उसके बाद राजनीति में आए थे। उनका आज शाम प्रयागराज में अंतिम संस्कार किया जाएगा।

Leave a Reply

%d bloggers like this: