सोमवार, फ़रवरी 6Digitalwomen.news

चीन समेत 5 देशों में कोरोना से बिगड़े हालात, केंद्र सरकार फिर अलर्ट, राज्यों को जारी की एडवाइजरी, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री आज करेंगे बैठक

Health Minister To Hold Review Meeting Today Amid Global Covid Spike
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

अभी तक भारत समेत कई देशों में लोग यह सोच कर बैठे थे कि अब कोरोना का जमाना खत्म हो गया है। लेकिन ऐसा नहीं है। यह खतरनाक वायरस सामने आ खड़ा हुआ है। एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कोरोना वायरस की रफ्तार बढ़ने लगी है। खास तौर पर 5 देशों चीन, जापान, अमेरिका, कोरिया और ब्राजील में भी कोरोना केस बढ़ रहे हैं। चीन में कोरोना प्रतिबंधों में ढील के बाद संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। हालात इतने गंभीर हैं कि अस्पतालों के बाहर लंबी लाइन लग रही हैं, मरीजों को बेड नहीं मिल रहे। दवाएं भी कम पड़ रही हैं। श्मशान में भी शवों की लाइन लगी हुई है। चीन को लेकर तो यह आशंका जताई जा रही है कि बहुत जल्द वहां की बड़ी आबादी फिर से चपेट में होगी। हालांकि अभी भारत में घबराने की कोई बात नहीं है फिर भी मंगलवार को केंद्र सरकार सचेत हो गई है। ‌ केंद्र की ओर से राज्यों को गाइडलाइन जारी की गई है। ‌केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों को पत्र लिखकर अलर्ट किया है। ‌

Health Ministry Issue new advisory

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव की ओर से लिखे गए पत्र में कहा गया है कि सभी पॉजिटिव केस के सैम्पल्स जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजें, जिससे कि कोरोना के किसी संभावित नए वेरियंट का वक्त रहते पता चल सकेगा। दरअसल दुनिया के कई देशों में एक बार फिर जिस तरह से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं उसे देखते हुए आशंका जताई जा रही है कोविड-19 की इस नई लहर के पीछे कोरोना का कोई नया वेरिएंट तो नहीं है। एनटीएजीआई के चेयरमैन डॉ एनके अरोड़ा ने कहा, यह महत्वपूर्ण बात है कि हम चीन की स्थिति पर कड़ी निगरानी रखें। लेकिन घबराने की कोई बात नहीं है। सिस्टम बहुत चौकस है, हमें भी सतर्क रहने की जरूरत है। जहां तक जीनोमिक सर्विलांस का सवाल है, यह सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है, हम लक्षणों वाले व्यक्तियों की जीनोमिक सर्विलांस कर रहे हैं। जीनोम सीक्वेंसिंग एक तरह से किसी वायरस का बायोडाटा होता है. कोई वायरस किस तरह का है, किस तरह का वह दिखता है, इन सभी चीजों की जानकारी हमें जीनोम के जरिए मिलती है। इसी वायरस के विशाल समूह को जीनोम कहा जाता है। वायरस के बारे में जानने की विधि को जीनोम सीक्वेंसिंग कहते हैं। इससे ही कोरोना के नए स्ट्रेन के बारे में पता चला है। गौरतलब है कि बदलते मौसम के साथ सर्दी खांसी की शिकायतें तेज हो गई हैं लेकिन इसे सामान्य फ्लू की माना जा रहा है कि और टेस्टिंग की संख्या भी कम हो गई है। वहीं आज केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मंडाविया देश में कोरोना के ताजा स्थिति पर ऑफिसर और एक्सपर्ट्स के साथ बैठक करेंगे । हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के 2 दिन पहले अचानक कोरोना पॉजिटिव होने के बाद सियासी जगत में भी दहशत फैल गई है। वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश में 20 दिसंबर शाम 8 बजे तक का कोविड डाटा शेयर किया है। इस डाटा के मुताबिक देश में 20 दिसंबर की शाम तक कोविड के कुल 3490 मामले थे। भारत में अभी भी कोरोना से जुड़े मामलों में हालात सामान्य हैं। अगर देश में कोरोना के मामलों की बात की जाए तो मंगलवार को देश में बीते 24 घंटों के दौरान कुल 112 कोरोना के नए मामले सामने आए हैं। वहीं देश में कोविड एक्टिव मरीजों की संख्या की बात की जाए तो उसमें भी गिरावट दर्ज की गई है। इसके साथ ही देश में अब कुल एक्टिव मामलों की संख्या 3490 रह गई है। वहीं बीते 24 घंटे में कोरोना से 3 लोगों की मौत हुई है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: