गुरूवार, फ़रवरी 9Digitalwomen.news

When will India hold ‘China pe charcha’, asks Congress chief Mallikarjun

चीन के मुद्दे पर राजनीति जारी: खड़गे ने पीएम से पूछा- चीन पर चर्चा कब होगी, राहुल गांधी के सैनिक पिट रहे वाले बयान पर भड़की भाजपा

When will India hold ‘China pe charcha’, asks Congress chief Mallikarjun
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

अरुणाचल प्रदेश के तवांग में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई झड़प के बाद राजनीति जारी है। ‌संसद के शीतकालीन सत्र के बाद अब भाजपा और कांग्रेस नेताओं की लड़ाई मैदान में भी आ गई है। विपक्ष चीन के मुद्दे पर केंद्र सरकार को लगातार जवाब मांग रहा है। वहीं भाजपा नेता पलटवार किए हुए हैं। शुक्रवार शाम को भारत जोड़ो यात्रा के 100 दिन पूरे होने पर राजस्थान की राजधानी जयपुर में कांग्रेस सांसद ने चीन का मुद्दा उठाया और केंद्र सरकार पर सवाल उठाए। ‌वहीं आज शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने एक बार फिर केंद्र सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए चीन पर चर्चा करने की मांग कर दी। मल्लिकार्जुन खड़गे ने ट्वीट किया- चीन डोकलाम में जामफेरी रिज तक निर्माण कर रहा है। इससे सिलीगुड़ी कॉरिडोर को खतरा है। सिलीगुड़ी नॉर्थ ईस्ट का प्रवेश द्वार है। यह हमारी राष्ट्र सुरक्षा के लिए चिंताजनक है। प्रधानमंत्री जी, चीन पर चर्चा कब होगी? इसके जवाब में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हमने विपक्ष में नेताओं की मंशा पर कभी सवाल नहीं उठाया। हमने सिर्फ नीतियों के आधार पर बहस की है। राजधानी दिल्ली में आयोजित फेडरेशन ऑफ इंडियन चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के 95वें वार्षिक सम्मेलन में शनिवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ”चाहे गलवान हो या तवांग हो, भारत की सेनाओं ने जिस शौर्य और पराक्रम का परिचय दिया है, उसकी जितनी भी प्रशंसा की जाए कम है।राजनाथ सिंह ने कहा कि संसद में मैंने जो कहा है, उससे अलग बात नहीं कहूंगा। गलवान हो या तवांग, हमारे रक्षा बलों ने अपनी वीरता और पराक्रम को साबित किया है। सेना ने अपने साहस से बॉर्डर पर करिश्मा किया है। उन्होंने आगे कहा कि हमने विपक्ष में नेताओं की मंशा पर कभी सवाल नहीं उठाया। हमने सिर्फ नीतियों के आधार पर बहस की है। वहीं दूसरी ओर केंद्रीय कानून मिनिस्टर किरण रिजिजू तवांग के यांग्त्से क्षेत्र पहुंचे। यहीं भारतीय सैनिकों की चीनी सेना के साथ झड़प हुई थी। उन्होंने भारतीय सैनिकों से मुलाकात की और क्षेत्र का जायजा लिया। शुक्रवार शाम को राहुल गांधी के जयपुर में दिए गए बयान के बाद भाजपा नेताओं ने कड़ा एतराज जताया है।भारत जोड़ो यात्रा के 100 दिन पूरे होने पर शुक्रवार को जयपुर में राहुल गांधी ने मीडिया से बात करते हुए चीन के मसले पर विदेश मंत्री को नसीहत दी। उन्होंने कहा है कि विदेश मंत्री जयशंकर को अपनी सोच और समझ बड़ी करनी चाहिए। चीन की तैयारी युद्ध की है। सरकार इस मसले को नजरअंदाज कर रही है और इससे संबंधित जानकारियों को छुपाने की कोशिश कर रही है। चीन युद्ध की तैयारी कर रहा, सरकार सोई हुई है। राहुल गांधी ने इस मामले में मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा था, चीन हमारे जवानों को पीट रहा है।

बयान के बाद भाजपा नेताओं ने राहुल गांधी की तुलना जयचंद से की–

राहुल के इस बयान पर अब बीजेपी ने पलटवार किया है। बीजेपी ने अब राहुल गांधी की तुलना जयचंद से की है। राहुल गांधी पर हमला करते हुए बीजेपी प्रवक्ता ने कहा, “यह 1962 वाला नेतृत्व नहीं है। इस समय देश में मजबूत नेतृत्व है। भारत आज दुनिया को नेतृत्व दे रहा है। राहुल जैसे जयचंद सुन लें कि पिछले साढ़े 8 साल में न भारत की एक इंच भूमि किसी ने कब्जाई का, न यह संभव है। बीजेपी प्रवक्ता ने पूछा, “ऐसा क्यों होता है कि जब सेना पराक्रम दिखाती है तो कांग्रेस उसका विरोध करने लगती है? सर्जिकल स्ट्राइक और बालाकोट के समय यही किया गया। गौरव भाटिया ने कहा, तवांग में हमारे सैनिक संख्या में कम थे, फिर भी चीन को पीटकर भगाया। नागरिकों की छाती 56 इंच की हो जाती है लेकिन कांग्रेस उसका विरोध करने लगती है। उन्होंने कहा, राहुल गांधी का जो जयचंद वाला चरित्र है, उसे उजागर करना जरूरी है। वह बार-बार सेना का मनोबल गिराने की कोशिश क्यों करते हैं। वहीं
भाजपा नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने शुक्रवार को कहा कि इस घटिया बयान को सुनकर मेरा खून खौल रहा है। ऐसी देश विरोधी बातें करने के लिए सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी को राहुल गांधी की पिटाई करनी चाहिए, ताकि उनके परिवार के चश्मे-चिराग को कुछ अक्ल आए और देश के लिए थोड़ी वफादारी आए। दरअसल, 9 दिसंबर को अरुणाचल प्रदेश सीमा पर तवांग क्षेत्र में भारत और चीनी सैनिकों के बीच झड़प हुई थी। इसके बाद से ही सरकार पर विपक्ष हमलावर है। दो दिन पहले जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी कहा था कि हमारे जवानों की पिटाई हुई है। सैनिकों को जवाब देने से सरकार रोक रही है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: