सोमवार, फ़रवरी 6Digitalwomen.news

Ashok Gehlot And Sachin Pilot Stand Together In Rajasthan

नरम पड़ी सियासी लड़ाई: भारत जोड़ो यात्रा राजस्थान पहुंचने से पहले गहलोत और पायलट के बीच हुई सुलह, दोनों ने कहा-‘हम एक हैं’

JOIN OUR WHATSAPP GROUP

कांग्रेस पार्टी के लिए राजस्थान से अच्छी खबर है। काफी समय से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच चला रहा विवाद मंगलवार को शांत हो गया है। वैसे तो दोनों नेताओं के बीच टकराव तीन वर्षों से चला रहा था। पिछले दिनों गहलोत और पायलट के बीच मनमुटाव और तेज हो गया था। ‌भारत जोड़ो यात्रा में मध्य प्रदेश पहुंचने पर सचिन पायलट राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाकात करने पहुंचे थे। इस मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का गुस्सा खुलकर सामने आ गया । इसके बाद सीएम गहलोत ने सचिन पायलट को सीधे तौर पर ‘गद्दार’ कह दिया था। ‌ गहलोत के इस जवाब में पायलट ने भी पलटवार करते हुए मुख्यमंत्री को शब्दों की मर्यादा में रहने के लिए कहा था। दोनों नेताओं के टकराव को लेकर कांग्रेस पार्टी हाईकमान एक बार फिर तनाव में आ गया। पार्टी नहीं चाहती थी कि जब भारत जोड़ो यात्रा राजस्थान में पहुंचे तो गहलोत और पायलट का टकराव बना रहे। ‌

बता दें कि मध्य प्रदेश के बाद 4 दिसंबर को भारत जोड़ो यात्रा राजस्थान पहुंचेगी। ‌ इसी को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस के महासचिव वेणुगोपाल मंगलवार को दिल्ली से जयपुर पहुंचे। ‌वेणुगोपाल की मेहनत रंग लाई। ‌राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा राजस्थान पहुंचने से पहले कांग्रेस के दो दिग्गजों की सियासी लड़ाई नरम पड़ती दिख रही है। दरअसल, कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट में सियासी सुलह करवा दी है। भारत-जोड़ो यात्रा की तैयारी बैठक में पायलट और गहलोत ने एक-दूसरे का अभिवादन किया। गहलोत ने कहा- राजस्थान में सब एकजुट हैं।

जब राहुल जी ने कहा दिया तो हम सभी पार्टी के लिए एसेट ही हैं। वहीं सचिन पायलट ने कहा, हमें कोई उकसा नहीं सकता। बाहर आने पर पहले सचिन पायलट ने राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा की जमकर तारीफ की और कहा कि पार्टी एकजुटता के साथ भारत जोड़ो यात्रा में लगी हुई है और भाजपा इससे घबराई हुई है। उसके बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की बारी आई। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि सचिन पायलट और अशोक गहलोत दोनों एसेट हैं और दोनों मिलकर राजस्थान में कांग्रेस के लिए काम करेंगे। बता दें कि राहुल गांधी ने इंदौर में दो दिन पहले कहा था कि अशोक गहलोत और सचिन पायलट दोनों पार्टी के लिए एसेट हैं। कांग्रेस की कोशिश है कि किसी भी तरह से दोनों नेताओं के बीच झगड़े का असर राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा पर न पड़े। साथ ही पार्टी की यह भी कोशिश है कि सचिन पायलट और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की साथ-साथ होने की तस्वीर भारत जोड़ो यात्रा में भी देखने को मिले।

Leave a Reply

%d bloggers like this: