मंगलवार, नवम्बर 29Digitalwomen.news

Sacred portals of Yamunotri closed for winter

यमुनोत्री धाम के कपाट भी शीतकालीन बंद हुए, सैकड़ों श्रद्धालुओं ने मां यमुना के लगाए जयकारे

Sacred portals of Yamunotri closed for winter
Sacred portals of Yamunotri closed for winter
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

भैया दूज पर्व पर आज सुबह केदारनाथ धाम के कपाट बंद हुए थे उसके बाद फिर यमुनोत्री धाम के कपाट भी शीतकालीन बंद कर दिए गए। इस मौके पर सैकड़ों श्रद्धालुओं ने मां यमुना के जयकारे लगाए। यमुनोत्री धाम के कपाट पूजा-अर्चना व विधि विधान के साथ बंद किए गए। बता दें कि आज सुबह 8.30 बजे खरसाली से यमुना के भाई सोमेश्वर (शनि) देवता की डोली यमुनोत्री के लिए रवाना हुई। यमुनोत्री में विशेष पूजा-अर्चना और धार्मिक अनुष्ठान के साथ अभिजित मुहूर्त पर दोपहर 12 बजकर 9 मिनट पर यमुनोत्री मंदिर के कपाट बंद किए गए। यहां यमुना जी की उत्सव मूर्ति को डोली यात्रा के साथ तीर्थ पुरोहितों के गांव खरसाली लाया जाएगा। इस दौरान धाम में जिले की कई देव डोलियां मौजूद रहीं। अब शीतकाल में मां यमुना के दर्शन खरसाली (खुशीमठ) में होंगे। इससे पहले अपनी बहन यमुना को लेने के लिए शनि देवता की डोली यमुनोत्री पहुंची। इस दौरान पूरा धाम मां यमुना के जयकारों से गूंज उठा। बता दें कि बुधवार को गोवर्धन पूजा यानी अन्नकूट के पर्व पर विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री धाम के कपाट बंद किए गए थे। कपाटबंदी के बाद मां गंगा की डोली जयकारों के साथ शीतकालीन प्रवास मुखवा के लिए रवाना हुई। इस प्रकार अब तीन धामों के कपाट 6 महीने के लिए बंद हो चुके हैं। बाबा बद्रीनाथ धाम के कपाट अगले महीने 19 नवंबर को पूरे विधि विधान के साथ बंद किए जाएंगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: