बुधवार, नवम्बर 30Digitalwomen.news

मलिकार्जुन खड़गे ने कहा- ‘मैं ही अध्यक्ष बनूंगा’, शशि थरूर और केएन त्रिपाठी भी चुनाव मैदान में

JOIN OUR WHATSAPP GROUP

मलिकार्जुन खड़गे ने कहा- ‘मैं ही अध्यक्ष बनूंगा’, शशि थरूर और केएन त्रिपाठी भी चुनाव मैदान में

कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव में नामांकन से पहले सस्पेंस और कई ट्विस्ट देखने को मिले। ‌गुरुवार तक किसी ने सोचा भी नहीं था कि कर्नाटक मूल के कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे अध्यक्ष पद के लिए नामांकन करेंगे। कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए 6 दिन पहले 24 सितंबर से नामांकन दाखिल करने की शुरुआत हुई थी। सबसे पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अध्यक्ष पद के लिए मजबूत दावेदार माने जा रहे थे। लेकिन ऐनमौके पर राजस्थान में गहलोत और सचिन पायलट गुट के बीच एक बार फिर घमासान खुलकर सामने आ गया। जिसके बाद अशोक गहलोत ने अध्यक्ष पद से अपना नाम वापस ले लिया। उसके बाद गुरुवार को मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह का नाम अध्यक्ष पद के लिए सामने आ गया। आनन-फानन में दिग्विजय सिंह चार्टर्ड प्लेन से भोपाल से दिल्ली भी पहुंच गए। ‌दिग्विजय सिंह ने नाम दाखिल करने के लिए गुरुवार शाम को ही कागज (सेटपत्र) भी तैयार करा लिए। लेकिन शुक्रवार को राजधानी दिल्ली में एक बार फिर ट्विस्ट आया। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मलिकार्जुन खड़गे ने सोनिया गांधी से मुलाकात की। इसके बाद दिग्विजय सिंह ने भी अध्यक्ष पद के लिए अपना नाम वापस ले लिया। लेकिन कई दिनों से केरल से कांग्रेस सांसद शशि थरूर नामांकन दाखिल करने के लिए अपने बयान पर कायम रहे। आज आखिरी दिन कांग्रेस में अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए शुक्रवार को तीन नामांकन हुए। पहला नामांकन शशि थरूर, दूसरा नामांकन झारखंड के कांग्रेस लीडर केएन त्रिपाठी और तीसरा नॉमिनेशन मल्लिकार्जुन खड़गे ने किया। इसके साथ ही तय हो गया है कि अगला अध्यक्ष गैर-गांधी ही होगा। अब मलिकार्जुन का ही अध्यक्ष बनना लगभग तय माना जा रहा है। ‌ राजधानी दिल्ली में खड़गे ने कहा कि “अध्यक्ष मैं ही बनूंगा”। ‌

नामांकन दाखिल करने के दौरान मलिकार्जुन खड़गे ने शक्ति प्रदर्शन भी किया–

बता दें कि खड़गे ने आज नामांकन के दौरान अपना शक्ति प्रदर्शन भी करके बता दिया है कि वही पार्टी में अगले अध्यक्ष होने जा रहे हैं। वहीं दूसरी ओर शशि थरूर और केन त्रिपाठी के प्रस्तावकों में मुट्ठी भर के नेता ही मौजूद थे। ‌‌ मल्लिकार्जुन के नामांकन के दौरान एके एंटनी, अशोक गहलोत, अंबिका सोनी, मुकुल वासनिक, आनंद शर्मा, अभिषेक मनु सिंघवी, अजय माकन, भूपिंदर हुड्डा, दिग्विजय सिंह, तारिक अनवर, सलमान खुर्शीद, अखिलेश प्रसाद सिंह, दीपेंदर हुड्डा, नारायण सामी, वी वथिलिंगम, प्रमोद तिवारी, पीएल पुनिया, अविनाश पांडे, राजीव शुक्ला, नासिर हुसैन, मनीष तिवारी, रघुवीर सिंह मीणा, धीरज प्रसाद साहू, ताराचंद, पृथ्वीराज चौहान, कमलेश्वर पटेल, मूलचंद मीणा, डॉ. गुंजन, संजय कपूर और विनीत पुनिया मौजूद रहे। वहीं दूसरी ओर थरूर के नामांकन के दौरान कार्ति चिदंबरम, सलमान सोज, प्रवीण डाबर, संदीप दीक्षित, प्रद्युत बरदलोई, मोहम्मद जावेद, सैफुद्दीन सोज, जीके झिमोमी, और लोवितो झिमोमी मौजूद रहे। नामांकन के दौरान खड़गे के प्रस्तावकों की लिस्ट में 30 बड़े नेताओं के नाम हैं। इनमें जी-23 के बड़े चेहरे आनंद शर्मा और मनीष तिवारी भी शामिल हैं। नामांकन करने के बाद पार्टी के नेताओं का मिला भारी समर्थन पर खड़गे ने कहा कि जिन्होंने आज मेरा समर्थन किया, मुझे प्रोत्साहित किया उन सभी नेताओं, कार्यकर्ताओं, मंत्रियों का धन्यवाद। 17 अक्टूबर को देखते हैं, क्या नतीजा आता है। उम्मीद है मैं जीतूंगा। मैं कांग्रेस की आइडियोलॉजी से बचपन से जुड़ा हूं। वहीं सभी वरिष्ठ नेताओं ने खड़गे को चुनाव में उतारने का फैसला किया है। शशि थरूर ने भी कहा है कि यह एक फ्रैंडली मैच है और कांग्रेस इसमें जीतेगी। कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव अथॉरिटी के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री ने नामांकन के आखिरी दिन प्रेस कॉन्फ्रेंस कर नामांकन के बारे में जानकारी दी। मिस्त्री ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव में मल्लिकार्जुन खड़गे द्वारा 14 फॉर्म, शशि थरूर द्वारा 5 और केएन त्रिपाठी द्वारा 1 फॉर्म जमा किया गया है। शनिवार को हम फॉर्मों की जांच करेंगे और उसी दिन शाम को हम वैध फॉर्म और उम्मीदवारों के नामों की घोषणा करेंगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: