रविवार, नवम्बर 27Digitalwomen.news

दिग्विजय सिंह और शशि थरूर आज कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए भरेंगे पर्चा, कई नेता भी रेस में

Last Day Of Filing Nomination Today, Tharoor & Digvijaya To Formally Enter Fray
Last Day Of Filing Nomination Today, Tharoor & Digvijaya To Formally Enter Fray
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

लंबे अरसे बाद हो रहे कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर पिछले एक पखवाड़े से कई उतार-चढ़ाव आ रहे हैं। गांधी परिवार से किसी की दावेदारी न होने के बाद कांग्रेस के कई नेताओं में अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने के लिए होड़ लगी हुई है। ‌ सबसे पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रबल दावेदार माने जा रहे थे। ‌लेकिन राजस्थान में सियासी उठापटक के बाद पार्टी के कई नेताओं ने दावा ठोक दिया है। ‌कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए दो दिनों से राजधानी दिल्ली में पार्टी के दिग्गज नेताओं का जमावड़ा लगा हुआ है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अध्यक्ष पद की रेस से खुद को बाहर कर चुके हैं। मुख्यमंत्री गहलोत ने यह फैसला गुरुवार को राजधानी दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद लिया । इसके बाद मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने के लिए दावा ठोक दिया। वहीं शशि थरूर पहले ही एलान कर चुके हैं कि वह भी नामांकन करेंगे। आज नामांकन करने का आखिरी दिन है। केरल से सांसद और पार्टी के पुराने नेता शशि थरूर नामांकन करने के लिए तैयार हैं तो वहीं दूसरी तरफ अशोक गहलोत के पीछे हटने के बाद एमपी के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने भी चुनावी रेस में उतरने का एलान किया है। दिग्विजय ने नामांकन फॉर्म ले लिया, जिसे वे आज जमा करेंगे। वहीं गुरुवार रात दिल्ली में कांग्रेस नेता आनंद शर्मा के घर कांग्रेस पार्टी के G-23 गुट की बैठक हुई। बैठक में मनीष तिवारी, पृथ्वीराज चव्हाण, बीएस हुड्डा समेत कांग्रेस G-23 खेमे के कई बड़े नेता मौजूद रहे। इनमें मनीष तिवारी का नाम कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव में नामांकन करने के लिए सबसे आगे है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मल्लिकार्जुन खड़गे भी शुक्रवार सुबह सोनिया गांधी से मिलने के बाद नामांकन दाखिल कर सकते हैं। खड़गे के अलावा, मीरा कुमार, मुकुल वासनिक और कुमारी शैलजा का नाम भी चर्चा में है। थरूर ने दिग्विजय से मुलाकात का फोटो सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए लिखा, ‘हम दोनों सहमत हुए हैं कि हमारे बीच प्रतिद्वंद्वियों जैसी लड़ाई नहीं है, बल्कि सहयोगियों के बीच दोस्ताना मुकाबला होगा। दोनों चाहते हैं कि कांग्रेस ही विजयी हो।’ जवाब में दिग्विजय सिंह ने लिखा, ‘मैं शशि थरूर से सहमत हूं। हमारी लड़ाई भारत की सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ है। हम दोनों गांधीवादी और नेहरूवादी विचारधारा में भरोसा रखते हैं और कांग्रेस को मजबूत करने के लिए काम कर रहे हैं। बहरहाल आज दोपहर बाद तक कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए कौन-कौन नामांकन करेंगे तय हो जाएगा। ‌बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए 17 अक्टूबर को मतदान होगा और 19 अक्टूबर को परिणाम घोषित किया जाएगा। वहीं बीजेपी प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने दिग्विजय सिंह और शशि थरूर की तस्वीर शेयर कर लिखा कि गुस्ताखे गांधी की एक सजा, गहलोत अध्यक्षता से जुदा। गांधी केवल अगले कांग्रेस अध्यक्ष को रबड़ स्टैंप की तरह देख रहे हैं, जिसमें गहलोत फिट नहीं हो रहे थे, इसलिए उनको जाना पड़ा। यहां कांग्रेस का अध्यक्ष नहीं बल्कि रबड़ स्तंभ ढूंढा जा रहा है। यह एक फिक्स्ड मैच है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: