रविवार, सितम्बर 25Digitalwomen.news

Ind vs Aus|1st T20I:- रोहित शर्मा के पास प्लेइंग इलेवन चुनने में ये हो सकती हैं समस्याएं

Ind vs Aus|1st T20I: For Rohit Sharma It Was A Headache To Select The Playing XI 
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जाने वाली तीन मैच की टी20 सीरीज का आगाज आज यानि कि 20 सितंबर से होने जा रहा है। सीरीज का पहला मुकाबला मोहाली के पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन आईएस बिंद्रा स्टेडियम में खेला जाएगा। भारत के लिए यह सीरीज कई मायनों में महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि खिलाड़ियों के इस सीरीज में परफॉर्मेंस ही टी20 वर्ल्ड कप का प्लेइंग इलेवन तय करेगा। इसलिए रोहित शर्मा के पास सबसे बड़ी समस्या है ऑस्ट्रेलिया के सामने टीम इंडिया का प्लेइंग इलेवन चुनना।

वर्ल्ड कप से पहले भारत को ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के खिलाफ कुल 6 टी20 मैच खेलने हैं और इस दौरान ही रोहित शर्मा अपनी परफेक्ट प्लेइंग इलेवन तलाशेंगे। इस दौरान रोहित शर्मा के सामने तीन बड़े सवाल खड़े होंगे। एशिया कप 2022 में सीनियर खिलाड़ियों की टीम में वापसी हुई है जिसके बाद से ही यह प्लेइंग इलेवन की माथापच्ची शुरू हो गई हैं। सबसे बड़ी और अहम समस्या ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक की प्लेइंग इलेवन में चुनने को लेकर है।

एशिया कप से पहले ना तो टीम में केएल राहुल थे और ना ही विराट कोहली। ऐसे में रोहित दोनों खिलाड़ियों को लगातार मौका दे रहे थे, मगर अब परिस्थिति कुछ अलग है। रोहित इन दोनों में से किसी एक खिलाड़ी को चुनने के लिए मजबूर हैं। अगर रोहित अभी भी कार्तिक और पंत दोनों को एक साथ प्लेइंग इलेवन में मौका देते हैं तो बॉलिंग यूनिट साधारण नजर आएगी। हार्दिक पांड्या के अलावा वह सिर्फ चार गेंदबाजों को ही खिला पाएंगे। इसके बाद समस्या आता है रविन्द्र जडेजा के चोटिल होने के बाद उनका रिप्लेसमेंट। एशिया कप में देखा गया कि जडेजा के बाहर होते ही टीम का कॉम्बिनेशन गड़बड़ हो गया। ऐसे में अब वर्ल्ड कप से पहले रोहित शर्मा को इन 6 मैचों में तय करना होगा कि जडेजा की कमी टीम में कैसे पूरी की जाए। हालांकि जडेजा के रिप्लेसमेंट के तौर पर अक्षर पटेल को देखा जा रहा है जो बढिया ऑप्शन भी हैं। बस जरूरत है मैनेजमेंट को उनपर भरोसा जताने की। वहीं उनके अलावा टीम में अश्विन और चहल के रूप में दो अनुभवी स्पिनर भी मौजूद हैं। ऐसे में अक्षर की राह भी आसान नहीं होने वाली है।

अब तीसरी समस्या फ़ास्ट बॉलिंग अटैक को लेकर है। एशिया कप में भारत भुवनेश्वर कुमार के अलावा अर्शदीप सिंह और आवेश खान के साथ उतरा था। लेकिन अब टीम में अहम खिलाड़ी जसप्रीत बुमराह और हर्षल पटेल की वापसी हुई है तो समस्या खड़ा होना स्वाभाविक है। रोहित शर्मा को तय करना होगा कि किन तीन तेज गेंदबाजों के साथ वह फील्ड पर उतरेंगे। बुमराह और भुवनेश्वर तो तय हैं लेकिन समस्या हर्षल पटेल, दीपक चाहर, उमेश यादव और अर्शदीप के बीच चुनने की है। टीम में चौथे पेसर की भूमिका हार्दिक पांड्या अदा करेंगे। मोहम्मद शमी पहले इस टीम का हिस्सा थे, मगर कोविड-19 पॉजिटिव पाए जाने की बाद वह सीरीज से बाहर हो गए हैं, उनकी जगह उमेश यादव को चुना गया है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: