शुक्रवार, सितम्बर 30Digitalwomen.news

Asia Cup 2022 – श्रीलंका ने पाकिस्तान को हरा 6वीं बार बना एशिया चैंपियन, हसरंगा की जादू में फंसा पाकिस्तान

Sri Lanka beat Pakistan to win sixth Asia Cup title
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

आगाज कैसा है वो ज्यादा मायने नहीं रखता क्योंकि सभी का ध्यान होता है अंजाम पर और श्रीलंका ने इस बात को पूरी तरह से चरितार्थ किया। पाकिस्तान को 23 रनों से हराकर श्रीलंका ने 6वीं बार एशिया कप की सल्तनत की सवारी की है। सिर्फ इस मैच की नहीं इस पूरे टूर्नामेंट की बात करें तो 104 रनों पर अफगानिस्तान के सामने आल आउट होने वाली श्रीलंका का आगाज देख किसी ने उम्मीद नहीं की थी वह उसके बाद सारे मैच जीतेंगे और सिर्फ जीतेंगे ही नहीं बल्कि एशिया में अपनी बादशाहता का लोहा भी मनवायेंगे। इस मैच में भी श्रीलंका की शुरुवात कुछ खास नहीं हुई और ऐसा लगा कि अब श्रीलंका की टीम सरेंडर कर देगी लेकिन फिर जो हुआ वह किसी करिश्मे से कम नहीं।

टॉस हारने के बाद पहले बैटिंग के लिए आमंत्रित होने पर श्रीलंका को भी इस बात का एक डर था कि अगर स्कोर बोर्ड पर रन नहीं टँगा तो वह मैच में पकड़ नहीं बना पाएगी क्योंकि इसके पहले इस एशिया कप में सिर्फ 3 बार ऐसा हुआ है जब टॉस हारने वाली टीम ने जीत हासिल की हो। श्रीलंका की शुरुवात ने उसकी डर को और गहरा कर दिया जब कुशल मेंडीस एक बार फिर से गोल्डन डक का शिकार हो गए और पारी की तीसरी गेंद पर नशीम शाह ने उन्हें बोल्ड कर दिया। इसके बाद पथुम निशंका भी 8 रन बनाकर चलते बने। गुणातीलका, धनंजय डिसिल्वा और फिर कप्तान शानका भी टीम के लिए कुछ खास नहीं कर पाए और 9 ओवर के बाद आधी टीम 58 रनों पर पवेलियन लौट चुकी थी।

राजपक्षे और हसरंगा एक बार फिर से संकटमोचन बनकर टीम को इस मझेदार से निकाला और हसरंगा ने अपने चिरपरिचित अंदाज में रनों का अंबार लगाना शुरू किए और राजपक्षे के साथ 30 गेंदों पर 58 रनों की एक तेजतर्रार साझेदारी बनाई ही थी कि 21 गेंदों पर 36 रन बनाकर पवेलियन लौट चले। हालांकि स्वभाव के ठीक विपरीत राजपक्षे एक छोर पर टिके रहे और उन्होंने 3 छक्के औए 5 चौकों की मदद से 45 गेंदों पर 71 रनों की नॉट आउट पारी खेल डाली। जिसके बदलौत श्रीलंका 170 तक पहुँच सका। अंत के 11 ओवर में श्रीलंका ने कुल 112 रन जोड़ डाले। पाकिस्तान की ओर से रउफ ने शानदार गेंदबाजी करते हुए महत्वपूर्ण 3 विकेट झटके जबकि नशीम , शादाब और इफ्तिखार को 1-1 विकेट हासिल हुआ।

171 रनों का पीछा करने उतरे पाकिस्तान के बल्लेबाजों को पहली गेंद से ही श्रीलंका ने दबाव में रखा। अच्छी फील्डिंग और सही गेंदबाजी का नतीजा था कि पहले ही ओवर में 10 रन अतिरिक्त के रूप में जाने के बावजूद पाकिस्तान पावर प्ले में सिर्फ 37 रन बना सका। बाबर आजम (5 रन) और गोल्डन डक के शिकार हुए फखर जमान एक बार फिर से फेल हुए। जबकि रिजवान जो 17वें ओवर में आउट हुए उन्होंने 49 गेंदों में 55 रन जरूर बनाये लेकिन शायद इतनी गेंदे खेलना उनके लिए नासूर साबित हुआ और टीम के ऊपर एक अलग लेवल का दबाव बना। इसके अलावा इफ्तिखार अहमद की 31 गेंदों पर 32 रनों की पारी ने पाकिस्तान की तकलीफें और बढ़ा दी।

श्रीलंका के पास इतनी अच्छी बॉलिंग अटैक के सामने रनों की गति को बढ़ाना मुश्किल हुआ और उस मुश्किल के कारण थे प्रमोद मधुशन और हसरंगा जिन्होंने क्रमशः 4 और 3 विकेट लेकर पाकिस्तान की कमर तोड़ दी और साथ ही सपने भी तोड़ दिए तीसरी बार एशिया कप जीतने की। श्रीलंका 2014 के बाद पहली बार हुआ है इस पूरे टी20 फॉर्मेट में जब वह लगातार पांच या उससे अधिक मैच जीत सके।

एशिया कप की बात करें तो भारत 7 बार श्रीलंका 6 बार और पाकिस्तान 2 बार यह टाइटल जितने में कामयाब हुए है। श्रीलंका ने 1986, 1997, 2004, 2008, 2014 और 2022 में यह ट्रॉफी जितने में कामयाब साबित हुआ है। हसरंगा को पूरे सीरीज में बेहतर परफॉर्मेंस के लिए मैन ऑफ द सीरीज और मैन ऑफ द मैच राजपक्षे को दिया गया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: