मंगलवार, अक्टूबर 4Digitalwomen.news

पाकिस्तान ने टी20 इतिहास की दूसरी सबसे बड़ी जीत दर्ज की लेकिन भारत के फैन्स क्यों खुश हो रहे हैं

Pakistan mauled Hong Kong by 155 runs in a must-win group league game
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

अगर टी-20 मैच हो और उसमें जीत का अंतर 155 रनों का हो तो आप समझ सकते हैं कि किस तरह डोमिनेट कर यह मैच जीती गई है। कुछ ऐसा ही हाल था पाकिस्तान और हांगकांग के बीच खेले गए मैच का। पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए हांगकांग के गेंदबाजो की अच्छी खासी खबर ली और फिर पाकिस्तानी गेंदबाजी कहर बनकर हांगकांग पर टूट पड़ी। भारत के खिलाफ रिजवान जरूर धीमी गति से अपनी पारी खेली थी जिसकी खूब आलोचना हुई थी, लेकिन फिर हांगकांग के खिलाफ रिजवान ने ना सिर्फ नॉट आउट रहे बल्कि 57 गेंदों में 78 रनों की पारी भी खेली जिसमें 6 चौके और एक छक्का शामिल था।

Pakistan mauled Hong Kong by 155 runs in a must-win group league game

हांगकांग ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और शायद यही वो गलती कर गए। हालांकि कप्तान बाबर आजम का विकेट जल्द ही गिरने के बाद पाकिस्तान जरूर दबाव में था लेकिन फिर शुरू हुआ रिजवान और फखर जमान की साझेदारी। फखर जमान ने 41 गेंदों पर 53 रनों की शानदार पारी खेली जिसमें 2 छक्के और 3 चौके शामिल थे। इसके बाद बाकी का कसर खुशदिल शाह ने पूरे कर दिए। ऐसा लगा मानो गाड़ी चौथे गेयर में डाली हो। सिर्फ 15 गेंदों में पांच छक्कों से सजी 35 रनों की पारी खेल डाली और टीम को 193 तक पहुँचा दिया। हालांकि हांगकांग की खराब गेंदबाजी का एक प्रमाण 18 अतिरिक्त रन भी है। हांगकांग के लिए एहसान खान ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 4 ओवर में 28 रन दिए और 2 विकेट अपने नाम किए।

कोई भी बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी नहीं पार कर सका

194 रनों का पीछा करने उतरी हांगकांग की टीम पाकिस्तान के नसीम शाह, शादाब खान और मोहम्मद नवाज के सामने कहाँ टिक पाई। नसीम ने शानदार गेंदबाजी करते हुए अपने पहले ही ओवर में 2 विकेट झटक लिए। उन्होंने पहले हांगकांग के कप्तान निजाकत खान को आसिफ अली के हाथों कैच आउट कराया, फिर बाबर हयात को क्लीन बोल्ड कर दिया। नसीम के बाद तेज गेंदबाज शाहनवाज दहानी कहां पीछे रहने वाले थे। उन्होंने भी तुरंत यासिम मुर्तजा को खुशदिल शाह के हाथों कैच आउट करा पवेलियन भेज दिया। हांगकांग का चौथा विकेट शादाब खान ने लिया। उन्होंने 6 गेंद में 1 रन बनाकर खेल रहे एजाज खान को क्लीन बोल्ड कर दिया। पांचवां और छठा विकेट मोहम्मद नवाज ने लिया। उन्होंने किनचित शाह और स्कॉट मैककेनी को अपना शिकार बनाया। हांगकांग की खराब बल्लेबाजी का इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि उनका कोई भी बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा नहीं पार कर सका। अतिरिक्त रन जरूर 10 थे। टीम की ओर से पूरी पारी में सिर्फ दो चौके लगे। पहला कप्तान निज़ाक़त अली ने लगाया जो 8 रन बनाकर टॉप स्कोरर रहे और दूसरा केडी शाह ने जो 6 रन बना पाए। 38 रनों पर हांगकांग का आउट होना सबके लिए आश्चर्यजनक था क्योंकि अभी इंडिया के खिलाफ इतनी अच्छी बल्लेबाजी करके दिखाया था।

टी20 में दूसरी सबसे बड़ी जीत

इस मैच में कई सारे रिकॉर्ड बने। पाकिस्तान के खिलाफ किसी भी टीम का टी20 फॉर्मेट में यह सबसे कम स्कोर है। इससे पहले 2018 कराची में वेस्टइंडीज 60 रनों पर आउट हो गई थी। साथ ही यह हांगकांग का भी अब तक का सबसे न्यूनतम स्कोर है। इससे पहले हांगकांग 2014 में नेपाल के खिलाफ 69 रनों पर आल आउट हो गई थी। वही अगर टी20 इतिहास में सबसे बड़े अंतर से जीत की बात करें तो यह दूसरी सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले श्रीलंका ने केन्या को 2007 में 172 रनों के बड़े अंतराल से हराया था। फिर इंडिया ने आयरलैंड को 2018 में 143 रनों के अंतर से हराया था।

पाकिस्तान के इस जीत के साथ ही भारतीय फैन्स के अंदर एक अलग ही एक्साइटमेंट देखने को मिल रहा है। क्योंकि सुपर संडे को जो मुकाबला होना है उसमें इस मैच के विनर के साथ होना था। तो अगर हांगकांग जीत जाती तो भारत का उसके साथ मुकाबला होता जिसमें रोमांच बोलकर कुछ नहीं होता। लेकिन पाकिस्तान के जीत के साथ यह रोमांच और बढ़ गया है। अब संडे को भारत-पाकिस्तान एक बार फिर एक-दूसरे के आमने-सामने होंगे।

अमन पांडेय

Leave a Reply

%d bloggers like this: