बुधवार, अक्टूबर 5Digitalwomen.news

श्रीलंका से हार कर बंग्लादेश टीम हुई बाहर, अब एशिया कप को है अपने एकमात्र बचे सुपर 4 का इंतजार

Sri Lanka vs Bangladesh, Asia Cup: SL win last over thriller by two wickets
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

श्रीलंका की 2 विकेट से शानदार जीत दर्ज कर सुपर 4 में जगह पक्की कर चुकी है लेकिन कोई यह विश्वास करने को तैयार नहीं कि यह वही टीम है जो अफगानिस्तान के सामने 105 रनों पर ढेर हो गई थी और आज बांग्लादेश द्वारा दिये 184 रनों के लक्ष्यों को भी सफल पूर्वक चेज कर लिया। श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। बांग्लादेश की बैटिंग लाइनअप कागजों में अच्छी दिखती है लेकिन अभी तक रंग दिखा नहीं था। मेहदी हसेन और सब्बीर ने जरूर पारी की शुरुवात की लेकिन तीसरे ओवर की 5वीं गेंद पर सब्बीर सिर्फ 5 रन बनाकर आउट हो गए।

इसके बाद कप्तान साकिब ने आकर मोर्चा संभाला और टीम को मेहदी मिराज के साथ मिलकर 50 रन के पार ले गए। लेकिन फिर 7वें ओवर में मेहदी मिराज 26 गेंदों में 38 रन बनाकर आउट हो गए जब टीम का कुल योग 58 रन था। मुशफिकुर एक बार फिर फेल हुए और वह सिर्फ 4 रन बनाकर करुणारत्ने के शिकार बने। अफीफ होसैन ने जरूर इसके बाद एक अच्छी पारी खेली लेकिन उसे बड़े स्कोर में तब्दील नहीं कर पाए। 22 गेंदों में 39 रनों की तेज तर्रार पारी खेल अफीफ ने रनगति बढाने की कोशिश की। जिसके बाद महमदुल्लाह के 22 गेंदों में 27 रन और मोसद्देक के सिर्फ 9 गेंदों में 24 रनों की रफ्तार वाली पारी ने बांग्लादेश को 7 विकेट पर 183 तक ले गए।

श्रीलंका को हसरंगा से काफी उम्मीदें थी। हसरंगा ने 2 विकेट जरूर लिए लेकिन उसके बदले 41 रन लुटा दिए। जबकि फर्नांडो सबसे महंगे गेंदबाज रहे जिन्होंने एक विकेट हासिल कर 51 रन लुटाए। दिलशान मधुषंका और थीक्षणा ने जरूर किफायती गेंदबाजी की और 1-1 विकेट हासिल किए। 184 रनों का पीछा करने उतरी श्रीलंकाई टीम का पिछला परफॉर्मेंस देखकर सबने उम्मीद खो दी थी लेकिन उसके पास बैटिंग तो 8वें नम्बर तक है और यही आत्मविश्वास काफी था एक मैच में इतने बड़े स्कोर को चेज करने के लिए।

श्री लंका की शुरुवात अच्छी रही। 5.3 ओवर में 45 रन जोड़कर एक अच्छी स्थिति में दिख रही श्रीलंकाई टीम को पहला झटका निशंका के रूप में लगा जिन्होंने 20 रनों की एक धीमी मगर सुलझी हुई पारी खेली। इसके बाद उसी ओवर की अंतिम गेंद पर असलंका आउट हो गए। धनुष्का का विकेट भी जल्द ही गिर गया। तीन विकेट लगातार गिरने के बाद श्रीलंका पूरी तरह से दबाव में आ गया। राजपक्षे ने भी एक बार फिर से सबको निराश किया। मात्र 2 रन बनाकर आउट हो गए।

एक तरफ विकेट गिरता रहा और दूसरी तरफ कुशल मेंडीस ने एक छोर संभाले रखा। उनको भरपूर साथ मिला कप्तान शानका का। कुशल मेंडीस 37 गेंदों पर 60 रनों की बेहतरीन पारी खेली जिसमें 4 चौके और 3 छक्के शामिल थे। कप्तान शानका ने 33 गेंदों पर 3 चौके और 2 छक्के की मदद से 45 रन बनाए। करुणारत्ने के 10 में 16 रन और फर्नान्डो के 3 गेंदों में 10 रन काफी थे कि श्रीलंका यूएई में अपना हाईएस्ट रन चेज सफलतापूर्वक कर सके। श्रीलंका ने अपना दूसरा सबसे बड़ा टोटल चेज करने में सफलता पाई क्योंकि इससे पहले बांग्लादेश के खिलाफ ही 2018 में मीरपुर के मैदान पर 194 रन चेज कर मैच जीता था।

इस तरह से श्रीलंका अब सीधे क्वालीफाई में अफगानिस्तान के सामने फिर से एक बार होगा जबकि भारत इंतजार कर रहा है आज के मैच विनर का। आज पाकिस्तान और हांगकांग के बीच मैच होना है। हांगकांग की उम्मीद काफी कम है लेकिन क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है और कब कयय हो जाये कोई नहीं जानता। इसलिए अभी सबकी निगाहें आज होने वाले मैच पर टिकी है।

अमन पांडेय

Leave a Reply

%d bloggers like this: