रविवार, सितम्बर 25Digitalwomen.news

Jharkhand Ankita Murder Case: छात्रा का मृत्यु से पहले आखिरी बयान,’जैसे उसकी वजह से हम मर रहे हैं, उसको भी वही सजा हो जाए’,

Jharkhand Class 12th student set ablaze by stalker
Jharkhand Class 12th student set ablaze by stalker
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

झारखंड में घटी दुखद घटना पूरे देश को झकझोर गई। जिसने भी यह समाचार सुना सभी ने इसकी कड़े शब्दों में निंदा की। ‌रांची रिम्स में इलाज के दौरान छात्रा अंकिता ने दर्द से कराहते हुए जो कुछ भी बोला वह दुखी करने वाला था। इसी दौरान छात्रा ने कहा कि जिस तरह से मैं मर रही हूं, आरोपी शाहरुख को भी वैसी ही मौत मिले।

‘ अब अंकिता इस दुनिया में नहीं है। हालांकि, उन्हें न्याय दिलाने को लेकर प्रदर्शन का दौर जारी है। झारखंड के दुमका में प्यार की पेशकश ठुकराने पर एक युवक ने 17 साल की नाबालिग लड़की अंकिता को जिंदा जला दिया। ये 23 अगस्त की वारदात है। रांची में इलाज के दौरान रविवार को लड़की ने दम तोड़ दिया। चूंकि मामला दो समुदाय का है लिहाजा झारखंड के अलग-अलग शहरों में हिन्दू संगठनों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। पीड़िता ने मौत से पहले अपना आखिरी बयान पुलिस को दिया, जिसमें उसने न्याय मांगा है और कहा कि ‘जैसे उसकी वजह से हम मर रहे हैं, उसको भी वही सजा हो जाए। तमाम हिंदू संगठनों ने दुमका बंद का एलान किया है।

Jharkhand: Class 12th student set ablaze by stalker

अंकिता की हत्या के आरोपी शाहरुख को फांसी दिलाने की मांग को लेकर शहर में प्रदर्शन हो रहे हैं। सुबह से दुमका, भागलपुर, रांची समेत कई शहरों में लोगों ने सड़क पर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों की मांग थी कि फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई चला कर अंकिता के हत्यारोपी शाहरुख को फांसी की सजा दिलाई जाए। इस बीच खुद झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा है कि दोषियों पर सख्त सजा दिलाई जाएगी। ये मामला रेयरेस्ट ऑफ रेयर है ऐसे में फास्ट ट्रैक कोर्ट में मामला चलाया जाएगा। दोषी को फांसी की सजा मिलनी चाहिए। वहीं मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी बयान जारी करते हुए कहा कि झारखंड की बेटी के हत्यारोपी को सख्त सजा दिलाएंगे। सीएम ने एक ट्वीट में कहा, अंकिता बिटिया को भावभीनी श्रद्धांजलि। अंकिता के परिजनों को 10 लाख की सहायता राशि के साथ इस घृणित घटना का फास्ट ट्रैक से निष्पादन हेतु निर्देश दिया है। पुलिस महानिदेशक को भी उक्त मामले में एडीजी रैंक अधिकारी द्वारा अनुसंधान की प्रगति पर शीघ्र रिपोर्ट देने हेतु निर्देश दिया है ।

Leave a Reply

%d bloggers like this: