सोमवार, अक्टूबर 3Digitalwomen.news

Delhi: AAP’s show of strength at Rajghat as Kejriwal accuses BJP of trying to topple Delhi govt

खरीद-फरोख्त की राजनीतिक आरोपों के बीच केजरीवाल और उनके विधायकों ने राजघाट पहुंच किया प्रार्थना

JOIN OUR WHATSAPP GROUP

नई दिल्ली, 25 अगस्त। खरीद फरोख्त के आरोपों के बीच आज दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल महात्मा गांधी की समाधि राजघाट पहुंचे। जहां उनके साथ उनके विधायक भी मौजूद थे। अरविंद केजरीवाल ने आरोप लगाया था कि पिछले दो से तीन दिनों से उनके कुछ विधायक संपर्क में नहीं है और ना ही उनसे कोई बातचीत ही हो पा रही है। महात्मा गांधी की समाधि पर सीएम केजरीवाल ने ऑपरेशन लोटस फेल होने के लिए प्रार्थना की।

केजरीवाल का साफ कहना है कि पॉलिसी में कोई घोटाला नहीं हुआ है और भाजपा बेबुनियादी आरोप लगा रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा ने हमारे विधायकों को 20-20 करोड़ रुपये की पेशकश दी है। उन्होंने दिल्ली सरकार गिराने के लिए 800 करोड़ रुपये रखे हैं। इस देश के नागरिक इस पैसे का स्रोत जानना चाहते हैं। यह जीएसटी (माल एवं सेवा कर) से आया है या ‘पीएम केयर्स’ कोष से? कुछ दोस्तों ने उन्हें यह पैसा दिया है?

केजरीवाल के इस आरोप लगाया कि सीबीआई ने सिसोदिया के घर के गद्दों और दीवारों तक की तलाशी ली लेकिन एक रुपया भी ऐसा नहीं मिला जिसका हिसाब न हो। कोई आपत्तिजनक दस्तावेज़ या ज़ेवरात नहीं मिले। हम तो पहले दिन से ही कह रहे हैं कि सिसोदिया एक कट्टर ईमानदार व्यक्ति हैं और देशभक्त हैं जिन्होंने राष्ट्रीय राजधानी में शिक्षा पर काम किया है।

आम आदमी पार्टी ने गुरुवार को विधायक दल की बैठक बुलाई थी जिसमें लगभग 54 विधायक मौजूद थे। 40 मिनट तक चली इस बैठक में सत्येन्द्र जैन, मनीष सिसोदिया, राम निवास गोयल सहित आठ विधायक नहीं शामिल हो पाए थे। सीएम केजरीवाल के महात्मा गांधी के समाधि स्थल पर जाने के बाद भाजपा ने सवाल खड़े किए हैं। भाजपा का आरोप है कि जिस आम आदमी पार्टी के हाथ भ्रष्टाचार से रंगे हैं, जिसने शराब बेचकर पैसे उगाही की हो और जिसने अपनी पार्टी कार्यालय से महात्मा गांधी की तस्वीर हटा दी हो, वह अब महात्मा गांधी के समाधी पर जाकर प्रार्थना कर रहा है, वह अपने आप में ढ़कोसलेबाजी है।


भाजपा ने आज महात्मा गांधी की समाधि स्थल पर जाकर गंगाजल का छिड़काव किया और फिर वहां पूजा अर्चना की। भाजपा का मानना है कि देश में ऐसे लोगों के लिए कोई स्थान नहीं है जो महापुरुषो के नाम पर भी राजनीति करते हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: