शुक्रवार, सितम्बर 30Digitalwomen.news

भाजपा विधायक को विवादित बयान देना महंगा पड़ा, पहले हुई गिरफ्तारी और फिर पार्टी ने भी किया सस्पेंड

BJP suspends Telangana MLA Raja Singh
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

नई दिल्ली, 23 अगस्त। कहते हैं कि पुरानी गलतियों से सीखकर इंसान आगे बढ़ता है लेकिन अगर कोई यह ठान लें कि उसे आगे बढ़ना ही नहीं है और मजहबी नफरत बोते रहना है तो इसमें कोई क्या कर सकता है। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के साथ भी कुछ ऐसा ही है। हाल ही में नुपूर शर्मा ने पैगमंबर मोहम्मद को लेकर विवादित बयान दिया था और प्रदेश भाजपा मीडिया प्रमुख रहे नवीन कुमार जिंदल ने इस पर ट्वीट कर रही सही कसर भी पूरी कर दी थी जिसके बाद दोनों को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। नुपूर शर्मा ने तो माफी मांग ली लेकिन नवीन कुमार जिंदल के लिए पार्टी में वापसी के सारे रास्ते बंद कर दिए गए। लेकिन एक बार फिर से भाजपा नेता का नफरती बयान सामने आया है और इस बार यह काम करने वाले हैं हैदराबाद से भाजपा विधायक टी राजा।

टी राजा ने मुस्लिम समुदाय को लेकर हैदराबाद में विवादित बयान दिया था जिसके बाद उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर हैदराबाद के कई जगहों पर मुस्लिम समुदायों ने विरोध प्रदर्शन किया। विरोध प्रदर्शन में सर तन से जुदा होने के नारे भी लगाए गए और जमकर बवाल हुआ। जिसके बाद हैदराबाद पुलिस ने टी राजा को गिरफ्तार कर लिया और कहा कि टी राजा सिंह ने माधापुर में कार्यक्रम स्थल को नुकसान पहुंचाने की कथित तौर पर धमकी दी थी। मशहूर कमेडियन फारूकी का शो शनिवार को निर्धारित है। पुलिस ने बताया कि हैदराबाद के गोशामहल निर्वाचन क्षेत्र से विधायक सिंह को पुराने शहर के मंगलहाट स्थित उनके आवास से एहतियातन हिरासत में ले लिया गया और उन्हें रिहा कर दिया जाएगा।

पुलिस ने तुरंत धारा 295(ए), 153(ए), 505(1)(बी)(सी), 505(2), 506 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया। मौके पर मौजूद मुस्लिम साउथ जोन के डीसीपी कृष्ण चैतन्य को भी धमकाते दिखे कि पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो अंजाम भुगतना होगा। हैदराबाद शहर के पुलिस आयुक्त कार्यालय में विरोध प्रदर्शन कर रहे मुसलमानों ने “सर तन से जुदा” के नारे लगाए। गिरफ्तारी के बाद भाजपा ने भी अपने विधायक पर बड़ी कार्रवाई की है और उन्हें पार्टी से सस्पेंड करते हुए उनसे इस पूरे मसले पर 10 दिनों के अंदर जवाब मांगा है।

BJP suspends Telangana MLA Raja Singh (Suspension Letter)

कहां से शुरु हुआ यह बवाल :

20 अगस्त को स्टैंडअप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी का हैदराबाद के माधापुर में शो ‘डोंगरी टु नोवेयर’ आयोजित हुआ था। हालांकि उससे पहले गोशामहल से बीजेपी विधायक टी राजा सिंह ने फारूकी को यहां शो न करने की धमकी दी थी। उन्होंने आयोजन स्थल को जलाने और मुनव्वर फारूकी को पीटने की धमकी दी थी। इसके चलते एहतियातन टी राजा सिंह को हिरासत में ले लिया गया था। यही नहीं मुनव्वर फारूकी के शो में पहुंचे कम से कम 50 लोगों को भी कस्टडी में लिया गया था और कॉमेडियन का कार्यक्रम शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ। उनका शो डेढ़ घंटे तक आयोजित हुआ।

कौन है टी राजा :

ऐसा नहीं है कि यह पहला मौका है जब टी राजा इस तरह के धार्मिक भड़काऊं बयान देने के बाद चर्चा में आए हैं बल्कि 15 अप्रैल 1977 को हैदराबाद में जन्मे टी राजा ने साल 2018 में हलफनामा दाखिल किया था उसके मुताबिक उनके खिलाफ अब तक कुल 43 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। इनमें 16 पर चार्जशीट फाइल हो चुकी है। राजा पर धार्मिक उन्माद फैलाने के 17 मामले पहले से ही दर्ज हैं। नौ मामले धार्मिक भावनाओं को आहत करने के हैं। उनके ऊपर आगजनी, दंगा समेत कई तरह के गंभीर आरोप पहले से ही लग चुके हैं।

45 साल के टी राजा ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत तेलुगु देशम पार्टी से की। 2014 में घोसमहल से वह पहली बार भाजपा के टिकट पर विधायक चुने गए। 2018 में दूसरी बार जीत हासिल की। राजा के पास कुल 3.31 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति है। 2018 चुनाव में राजा ने 45.2 प्रतिशत मतों के अंतर से जीत हासिल की थी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: