मंगलवार, अक्टूबर 4Digitalwomen.news

मुझे दो से चार दिनों में CBI या ED गिरफ्तार करने वाली है-मनीष सिसोदिया

JOIN OUR WHATSAPP GROUP

मनीष सिसोदिया के साथ इस समय बहुत बुरे दिन चल रहे हैं ऐसा भाजपा का मानना है लेकिन मनीष सिसोदिया खुद कह रहे हैं कि उन्हें कुछ दिन के अंदर सीबीआई या ईडी गिरफ्तार करने वाली है। सिसोदिया सीबीआई के इंक्वारी के बाद पहली बार मीडिया के सामने मुखातिब हुए। उन्होंने कई सारे सवालों का जवाब दिया लेकिन शिक्षा और स्वास्थ्य पर पूरा फोकस किया और जब बात आबकारी नीति पर सवालों की आई तो एक बार फिर से सवालों से बचने की कोशिश करते रहे।

सिसोदिया ने कहा कि कल सीबीआई के अधिकारी मेरे घर आए। सचिवालय में भी रेड किए। सारे अधिकारियों ने अच्छे से व्यवहार किया। सिसोदिया ने कहा कि उन्हें ऊपर से ऑर्डर है। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने बड़े अच्छे से परिवार के साथ व्यवहार किया। घर को जांच किया। अच्छे लोग थे। मनीष सिसोदिया ने कहा कि जिस एक्साइज पॉलिसी के बारे में विवाद खड़ा किया जा रहा है, बड़ी ईमानदारी से पॉलिसी तैयार की है। अगर एलजी ने 48 घंटे पहले पॉलिसी चेंज नहीं की होती, तो 10 हजार करोड़ रुपये का राजस्व मिलता।

अब सिसोदिया का यह बयान और ठीक इसके पहले यानि सीबीआई की इंक्वारी से पहले के बयान एक दूसरे के विरोधाभासी हैं। क्योंकि यही सिसोदिया कह रहे थे कि आबकारी नीति से केजरीवाल सरकार को घाटा हुआ है। उन्होंने कहा कि मनोज तिवारी कह रहे हैं कि 8 हजार करोड़ रुपये का घोटाला किया है। बीजेपी के दूसरे नेता ने कहा कि 1100 करोड़ रुपये का घोटाला किया है। फिर मैं सोच रहा था कि एलजी साहब ने प्रेस रिलीज जारी की, जिसमें लिखा था कि 144 करोड़ रुपये का घोटाला किया। लेकिन सीबीआई ने जो एफआईआर दर्ज की है उसमें एक करोड़ रुपये की बातें कही गई है।

दिल्ली के एजुकेशन मॉडल की तारीफ

सिसोदिया ने भी एक बार फिस से न्यूयॉर्क टाइम्स की खबरों का हवाला देते हुए दिल्ली के एजुकेशन मॉडल को पहले पेज में छापने को देश की तारीफ बताई। उन्होंने कहा कि भारत के एजुकेशन मॉडल में दुनिया के सबसे बड़े अखबारों को ऐसा दिख रहा है कि जिसे दुनिया को बताया जा सके। कल जब शिक्षा मॉडल पर खबर लगी, तो गर्व महसूस हुआ कि पेज 1 पर लीड खबर में फोटो छपी है। लेकिन सवाल यह भी है कि आखिर एक विदेशी न्यूजपेपर पर छपी खबरों को सबसे बेहतरीन बता कर उससे देश की छवि को प्रमाण देकर सिसोदिया या पूरी आम आदमी पार्टी क्या साबित करना चाहती है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: