मंगलवार, अक्टूबर 4Digitalwomen.news

भाजपा के वरिष्ठ नेता मुख्तार अब्बास नकवी के बाद शाहनवाज की भी मंत्री पद से गई कुर्सी

Bihar Political Crisis
Bihar Political Crisis 
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पाला बदलने से राज्य भाजपा के कई मंत्रियों की अचानक कुर्सी भी चली गई । ‌बिहार जेडीयू गठबंधन में भाजपा कोटे से 16 मंत्री बनाए गए थे। इनमें से भाजपा के राष्ट्रीय स्तर के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शाहनवाज हुसैन भी नीतीश सरकार में उद्योग मंत्री थे। नीतीश कुमार के भाजपा से गठबंधन तोड़ने के बाद शाहनवाज हुसैन की कुर्सी चली गई। बता दें कि शाहनवाज अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में नागरिक उड्डयन मंत्री बनाए गए । उसके बाद साल 2014 में केंद्र की मोदी सरकार में उन्हें कोई पद नहीं मिला । ऐसे ही साल 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में भी शाहनवाज हुसैन को केंद्रीय मंत्रिमंडल में स्थान नहीं मिल पाया। साल 2020 में बिहार विधानसभा का चुनाव भाजपा-जेडीयू ने गठबंधन करके लड़ा था। बीजेपी और जेडीयू ने एक साथ सरकार बनाई। सरकार गठन के करीब 4 महीने बाद फरवरी, 2021 में भाजपा ने शाहनवाज हुसैन को नीतीश सरकार में उद्योग मंत्री बनाया था। करीब डेढ़ साल बाद मंगलवार को बिहार में हुए उलटफेर के बाद शाहनवाज एक बार फिर खाली हो गए। ऐसे ही पिछले महीने 5 जुलाई को भाजपा के स्थापित सदस्यों में से एक रहे मुख्तार अब्बास नकवी ने अपना राज्यसभा कार्यकाल पूरा होने के बाद इस्तीफा दे दिया था। नकवी मोदी सरकार के दोनों कार्यकाल में केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्री थे। नकवी के इस्तीफा देने के बाद चर्चाएं थी कि उन्हें पश्चिम बंगाल का राज्यपाल बनाया जा सकता है। लेकिन अभी फिलहाल नकवी को लेकर हाईकमान चुप्पी साधे हुए है। भाजपा के सीनियर नेताओं में शुमार मुख्तार अब्बास नकवी के साथ शाहनवाज भी अब फिलहाल नई जिम्मेदारी मिलने का इंतजार कर रहे हैं।

बिहार में सियासी उलटफेर के बाद भाजपा नेताओं ने नीतीश पर साधा निशाना–

बिहार की राजधानी पटना में नई सरकार के शपथ ग्रहण की तैयारी शुरू हो गई है। जेडीयू नेता नीतीश कुमार आज मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव डिप्टी सीएम पद की शपथ ले सकते हैं। राजभवन में दोपहर दो बजे शपथ ग्रहण समारोह होगा। बीजेपी (एनडीए) को छोड़ नीतीश कुमार आठवीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। वह सात दलों के गठबंधन का नेतृत्व करेंगे। वहीं नीतीश के एनडीए छोड़कर आरजेडी के साथ जाने पर भाजपा नेताओं ने उन पर जमकर निशाना साधा और विश्वासघात के आरोप लगाए। बीजेपी सांसद रविशंकर प्रसाद और गिरिराज सिंह का बयान सामने आया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि नीतीश को बीजेपी ने बड़ा नेता बनाया है। लेकिन अब एक बार फिर वह भ्रष्टाचार की गोद में चले गए। नीतीश के 2017 के बयान को निकाला जाए कि उन्होंने आरजेडी को लेकर क्या कहा था। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि साल 2019 की लोकसभा मोदी की हवा में जीते जीते थे नीतीश कुमार, क्योंकि 2014 में आपकी सिर्फ 2 सीटें ही आईं थी। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने ट्विटर पर कई ट्वीट शेयर किए। उन्होंने नीतीश पर वार करते हुए कहा, ‘नीतीश कुमार का कहीं पे निगाहें और कहीं पे निशाना था, निगाहे थी पीएम कुर्सी पर। एनडीए को जनता ने वोट किया था और उन्होंने विश्वासघात किया। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा नीतीश अपने दम पर सीएम नहीं बन सकते, पीएम का सपना देख रहे हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: