मंगलवार, अक्टूबर 4Digitalwomen.news

कॉमन वेल्थ मेडलिस्ट दिव्या काकरान को बधाई देकर दिल्ली के मुख्यमंत्री गलत फंस गए

Bronze Medallist Divya Kakran lashes out on Delhi CM Arvind Kejriwal on Twitter
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

कॉमनवेल्थ गेम्स में खिलाड़ियों को उनकी जीत पर पूरा देश बधाई दे रहा है। राजनितिक पार्टी से लेकर राजनेता तक उन्हें बधाई भी दे रहे हैं और उसका क्रेडिट भी लेने से पीछे नहीं हट रहे हैं। बड़े-बड़े पोस्टर और फिर ढेर सारा प्रचार और विज्ञापन लेकिन क्या वास्तव में जो क्रेडिट लेने की कोशिश की जा रही है वह सही है? इस सवाल का जवाब खुद कुश्ती में कांस्य पदक जीतने वालीं भारतीय पहलवान दिव्या काकरान ने दे दिया है। उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से निवेदन करते हुए कहा है कि वे पिछले 20 साल से दिल्ली में रह रही हैं लेकिन उन्हें राज्य सरकार की तरफ से कोई मदद नहीं मिली है।

क्या है पूरा मामला?
दरअसल,
कॉमनवेल्थ गेम्स में कांस्य पदक जीतने पर अरविंद केजरीवाल ने दिव्या काकरान को बधाई दी थी। बधाई देने पर उन्हें धन्यवाद कहते हुए दिव्या काकरान का दर्द छलक गया। उन्होंने भावुक ट्वीट करते हुए सीएम केजरीवाल से निवेदन किया। इस ट्वीट में उनका दर्द छलक रहा है। दिव्या काकरान ने मुख्यमंत्री केजरीवाल पर जो आरोप लगाया है उसके बाद राजनीति गर्मा गई है।

उन्होंने कहा, ”मेडल की बधाई देने पर दिल्ली के माननीय मुख्यमंत्री जी को तहे दिल से धन्यवाद। मेरा आपसे एक निवेदन है कि मैं पिछले 20 साल से दिल्ली मे रह रही हूं। और यहीं अपने खेल कुश्ती का अभ्यास कर रही हूं। परंतु अब तक मुझे राज्य सरकार से किसी तरह की कोई इनाम राशि नही दी गई न कोई मदद दी गई।

उन्होंने आगे कहा, ”मैं आपसे इतना निवेदन करती हूं कि जिस तरह आप अन्य खिलाड़ियों को सम्मानित करते हैं जो दिल्ली के होकर किसी ओर स्टेट से भी खेलते है उसी तरह मुझे भी सम्मानित किया जाए। समय ने खुद को दोहराया है। ऐसा लगता है। सब कुछ पहले जैसा ही है। ना कल मेरे लिए कुछ किया गया था ना ही अब।”

भाजपा ने इस पूरे मामले में केजरीवाल सरकार को जमकर खरी-खोटी सुनाई है। खुद प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने ट्विट कर कहा कि दिन दिन रात खून-पसीना बहाकर कड़े अनुशासन के बाद एक खिलाड़ी पदक जीतता है, देश का नाम रौशन करता है। लेकिन सीएम केजरीवाल का खेल मॉडल तो ऐसा है कि स्पोर्ट्स युनिवर्सिटी का कुछ पता नहीं, इनके अधिकारी मैदान में कुत्ते सैर कराते थे। ये कहां किसी खिलाड़ी को सहायता या सम्मान दे सकते हैं।

शुक्रवार को भारतीय पहलवानों ने अपने अभियान की शुरुआत की तो 68 किलो भार वर्ग में अर्जुन अवार्डी दिव्या काकरान ने कांस्य पदक के लिए देर रात खेले गए मुकाबले में दिव्या ने शानदार खेल दिखाते हुए पदक जीता था।

Leave a Reply

%d bloggers like this: