शुक्रवार, अगस्त 19Digitalwomen.news

Asia’s richest woman: एशिया की सबसे अमीर महिला बनीं कभी बाजार तक नहीं जाने वाली सावित्री जिंदल

Savitri Jindal is now Asia’s richest woman
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

चीन की यांग हुइयान की प्रॉपर्टी लगभग 24 बिलियन डॉलर थी। इससे वह एशिया की सबसे अमीर महिला बन गईं, लेकिन ये बात 2021 की थी। हुइयान चीन के सबसे बड़े रियल एस्टेट डेवलपर कंट्री गार्डन होल्डिंग्स को कंट्रोल करतीचीन में प्रॉपर्टी संकट के कारण, उन्हें इस साल 11 अरब डॉलर का नुकसान हुआ। इसके साथ ही उन्होंने अरबपति इंडेक्श में अपनी रैंक खो दी और सावित्री जिंदल (Savitri Jindal) उनसे आगे निकल गईं। 18 अरब डॉलर की कुल संपत्ति के साथ,

एशिया की सबसे अमीर महिला की सूची में सावित्री जिंदल भारत की सबसे अमीर महिला में अपना नाम दर्ज कर लिया है। सावित्री जिंदल ने चीन की यांग हुइयान को पीछे छोड़ते हुए एशिया की सबसे अमीर महिला बनी हैं।
आपको बता दें कि Forbes की 2021 में सबसे अमीर भारतीयों की लिस्ट में टॉप 10 में अकेली महिला सावित्री जिंदल हैं।

क्या है कहानी:
ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले पांच सालों से एशिया की सबसे अमीर महिला यांग हुईयन रही हैं। लेकिन हाल के सालों में सावित्री जिंदल की कुल संपत्ति में बेतहाशा उतार-चढ़ाव आया है। अप्रैल 2020 में Covid-19 महामारी की शुरुआत में यह गिरकर 3.2 बिलियन डॉलर हो गई और फिर अप्रैल 2022 में 15.6 बिलियन डॉलर तक पहुंच गई, क्योंकि यूक्रेन पर रूस के आक्रमण ने कमोडिटी की कीमतों में बढ़ोतरी कर दी थी। वहीं 2005 का कनेक्शन 2005 में, यांग हुइयान को रियल एस्टेट डेवलपर में अपने पिता की हिस्सेदारी विरासत में मिली, जिसके बाद वह धरती पर सबसे कम उम्र की अरबपतियों में से एक बन गईं। उन्होंने 2018 में 4 दिनों में 2 बिलियन डॉलर की कमाई की थी।

इस साल, हालांकि, उन्हें केवल एक दिन में 1 अरब डॉलर से ज्यादा का नुकसान हुआ। 41 साल के पास अब कंट्री गार्डन का लगभग 60 प्रतिशत और इसकी मैनेजमेंट-सर्विस इकाई में 43 प्रतिशत हिस्सेदारी है। उसी साल जब यांग हुईयन सत्ता में आईं, तो सावित्री जिंदल को अपने पति ओम प्रकाश जिंदल के स्टील और पावर ग्रुप की बागडोर संभालने के लिए मजबूर होना पड़ा, क्योंकि एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में उनकी मृत्यु हो गई। तब वह 55 साल की थी।

आज वह ओपी जिंदल ग्रुप की एमेरिटस चेयरपर्सन हैं, जिनके नेतृत्व में राजस्व में चार गुना बढ़ोतरी हुई है। सावित्री जिंदल सार्वजनिक जीवन में काफी एक्टिव रहती हैं। वह अपने पति की मृत्यु के बाद 2005 में हिसार विधानसभा क्षेत्र से हरियाणा विधानसभा के लिए चुनी गईं।
2014 के चुनाव के बाद वह इस सीट से हार गईं। लेकिन वह अभी भी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी की सदस्य हैं।
बेहद खास एवं दिलचस्प बात यह है कि 2010 में Forbes को दिए एक इंटरव्यू में, सावित्री जिंदल ने कहा था कि जिंदल परिवार में महिलाएं कोरबार नहीं करती हैं। उन्होंने कहा, “हमारे ऊपर घर की जिम्मेदारी रहती हैं, जबकि पुरुष बाहर की हर चीज का ख्याल रखते हैं।” उन्होंने कहा, “मैं कभी हिसार के बाजार में भी नहीं गई थी। जिंदल साहब कहते थे कि बाजार में हर कोई आपका रिश्तेदार और आपसे बड़ा है। हमारे घर में महिलाओं को बड़ों से बात नहीं करनी चाहिए।”

Leave a Reply

%d bloggers like this: