मंगलवार, अगस्त 9Digitalwomen.news

Uttarakhand Politics: हाईकमान ने उत्तराखंड में गढ़वाल के साथ ब्राह्मण चेहरे महेंद्र भट्ट पर लगाया ‘2024 का दांव’

Nadda appoints Mahendra Bhatt as new President of Uttarakhand BJP
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

साल 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा हाईकमान ने शनिवार को उत्तराखंड में ब्राह्मण चेहरे महेंद्र भट्ट को पार्टी की कमान सौंप दी है। कई दिनों से उत्तराखंड में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के नाम को लेकर सस्पेंस बना हुआ था। ‘हाईकमान ने ब्राह्मण के साथ गढ़वाल पर भी दांव चला है’। बता दें कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ठाकुर समुदाय और कुमाऊं से आते हैं। पिछले दिनों महेंद्र भट्ट ने राजधानी दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की थी। तभी से अटकलों का बाजार गर्म था। आखिरकार आज जेपी नड्डा ने महेंद्र भट्ट के नाम पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की मुहर लगा दी। मदन कौशिक की जगह अब प्रदेश की कमान महेंद्र भट्ट के हाथ में होगी। बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के आदेश के बाद महेंद्र भट्ट को उत्तराखंड बीजेपी का अध्यक्ष बनाने का लेटर जारी कर किया है। गढ़वाल क्षेत्र के एक ब्राह्मण नेता भट्ट को राज्य अध्यक्ष बनाकर भाजपा ने जाति और क्षेत्र के बीच संतुलन बनाने की कोशिश की है। बताया जा रहा है कि महेंद्र भट्ट को प्रदेश अध्यक्ष पद की कमान आरएसएस के बैकग्राउंड मजबूत होने की वजह से मिली है। ‌बता दें कि महेंद्र भट्ट उत्तराखंड के बदरीनाथ सीट से विधायक रह चुके हैं। अब विधानसभा चुनाव में पार्टी के जबरदस्त प्रदर्शन को अगले लोकसभा चुनाव में वापस दोहराने की अहम जिम्मेदारी महेंद्र भट्ट के कंधों पर होगी। महेंद्र भट्ट बदरीनाथ विधानसभा सीट से 2022 में चुनाव हार गए थे। 50 वर्षीय भट्ट ने 1991 से अपना राजनैतिक जीवन की शुरआत की थी। उन्होंने 1996 तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में प्रदेश सह मंत्री, जिला संयोजक, जिला संगठन मंत्री और विभाग संगठन मंत्री के पद पर काम किया। 2002 में उत्तराखंड बनने के बाद उत्तरांचल प्रदेश युवामोर्चा का पहला प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था। उन्होंने 32 साल की उम्र में पहली बार नंदप्रयाग सीट से चुनाव लड़ा और 2002 से 2007 तक विधायक रहे। भट्ट 2007 से 2014 तक उत्तराखंड बीजेपी संगठन के कई पदों पर रहे। 2017 के विधानसभा चुनाव में बदरीनाथ विधानसभा सीट से जीतकर विधायक बने। इसके इलावा महेंद्र भट्ट रामजन्मभूमि आंदोलन में 15 दिन पौड़ी के कांसखेत में जेल में रहे और उत्तराखंड राज्य आंदोलन में 5 दिन पौड़ी जेल में रहे । वहीं ‘महेंद्र भट्ट को उत्तराखंड का भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ट्वीट करते हुए शुभकामनाएं दी। सिम धामी ने ट्वीट में लिखा कि, मैं श्री महेंद्र भट्ट जी को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने पर हार्दिक बधाई देता हूं, निश्चित तौर पर आपके मार्गदर्शन में प्रदेश संगठन को एक नई मजबूती प्राप्त होगी, मैं प्रभु बदरीनाथ जी से आपके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूं’।

विधानसभा चुनाव के दौरान मदन कौशिक पर पार्टी के नेताओं ने लगाए थे आरोप–

पूर्ववर्ती त्रिवेंद्र सरकार के कार्यकाल में मंत्री रहे मदन कौशिक को पिछले वर्ष मार्च में सरकार में हुए नेतृत्व परिवर्तन के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। मुख्यमंत्री धामी और प्रदेश अध्यक्ष कौशिक की अगुआई में विधानसभा चुनाव में भाजपा दो-तिहाई बहुमत हासिल करने में सफल रही। लेकिन विधानसभा चुनाव के दौरान ही तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक पर पार्टी के कई नेताओं ने गंभीर आरोप भी लगाए थे। इस मामले की गूंज राजधानी दिल्ली तक सुनाई दी। बता दें कि मदन कौशिक का नाम राज्य में बीजेपी के बड़े नेताओं में आता है। वे वर्तमान में हरिद्वार विधानसभा सीट से विधायक भी हैं। इसी साल फरवरी में आयोजित विधानसभा चुनावों के बाद उत्तराखंड बीजेपी में भितरघात को लेकर रार शुरू हो गई । पार्टी के कई प्रत्याशियों ने कार्यकर्ताओं पर भितरघात करने का आरोप लगाया है। इतना ही नहीं लक्सर से विधायक संजय गुप्ता ने तो पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक पर ही भितरघात करने का आरोप लगा दिया और उन्हें पार्टी से निकालने की मांग कर दी है। उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव निपटने के बाद बीजेपी के अंदर तकरार शुरू हो गई है। चुनावों के बाद बीजेपी के प्रत्याशियों के तीखे तेवर सामने आने लगे हैं। मतदान के बाद ही लक्सर से विधायक संजय गुप्ता ने बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक पर तीखा हमला बोला है और उन्हें पार्टी से निकालने की बात तक कह दी है। उसके बाद एक-एक करके बीजेपी के अंदर प्रत्याशियों के तीखे तेवर नजर आने लगे हैं‌। काशीपुर से हरभजन सिंह चीमा ने भी भितरघात करने का आरोप लगाया तो वहीं चंपावत से पूर्व कैलाश गहतोड़ी ने भी खुलकर कार्यकर्ताओं पर भितरघात करने का आरोप लगाया है। भाजपा में मचे भितरघात को लेकर विपक्ष कांग्रेस के नेता प्रीतम सिंह ने भी मोर्चा खोल दिया था। जिसके बाद राज्य में भाजपा खेमे में काफी किरकिरी भी हुई थी। हालांकि बाद में यह मामला ठंडा पड़ गया था। अब मदन कौशिक को हटाकर महेंद्र भट्ट को उत्तराखंड पार्टी की जिम्मेदारी सौंप दी है। चर्चा यह भी है कि मदन कौशिक को धामी सरकार में मंत्री बनाया जा सकता है। हालांकि अभी इसकी आधिकारिक तौर पर घोषणा नहीं हुई है ।

Leave a Reply

%d bloggers like this: