मंगलवार, अक्टूबर 4Digitalwomen.news

बिना पैकिंग और लेबल के आटा, दाल और चावल बेचने पर नहीं देनी होगी जीएसटी, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्वीट कर दी जानकारी

Wheat, Oats, Rice, Curd, Lassi Will Not Attract GST Anymore When Sold Unpacked
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

बीते दिनों हाथ मांग रही हो समेत कई चीजों पर बढ़ाए गए जीएसटी के बाद आज वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कुछ जरूरी अनाजों की सूची ट्वीट कर उनसे से जीएसटी हटाने की जानकारी दी है।
वित्तमंत्री ने लिस्ट को ट्वीट करते हुए लिखा है कि इन खाद्य पदार्थों को खुले में बेचने पर उन पर किसी भी तरह का जीएसटी चार्ज नहीं लगेगा। वित्तमंत्री ने जो लिस्ट ट्वीट की है उनमें दाल, गेहूं, राई, ओट्स, मकई, चावल, आटा, सूजी, बेसन, मूढ़ी और लस्सी जैसी चीजें शामिल है।

बता दें कि वित्तमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा है कि बीते दिनों हुई जीएसटी काउंसिल की 47वीं बैठक में दालों, अनाजों और आटा पर विशेष परिस्थितियों में जीएसटी लगाने का फैसला लिया गया था। पर, इस संबंध में तरह-तरह की भ्रांतियां फैल रही थी, इसे दूर करने के लिए ही इस लिस्ट को शेयर किया जा रहा है। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन ने एक के बाद एक लब 14 ट्वीट किए हैं जिसमें उन्होंने अपने ट्वीट में कहा है कि इन चीजों पर किसी भी तरह का जीएसटी नहीं लगेगा अगर ये बिना पैकिंग या लेबल के बेचे जा रहे हों। अगर इन चीजों को लेबल के साथ बेचा जाता है तो इन पर पांच प्रतिशत की दर से जीएसटी चार्ज किया जाएगा।

इसके साथ ही वित्तमंत्री ने यह भी कहा है कि इन खाद्य पदार्थों पर से जीएसटी हटाने का फैसला किसी एक व्यक्ति ने नहीं बल्कि पूरे जीएसटी काउंसिल ने एक प्रक्रिया के तहत लिया गया है। जेपी के काउंसलिंग प्रक्रिया में बिहार, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, केरल के सदस्य शामिल थे और इस जीओएम की अध्यक्षता कर्नाटक के मुख्यमंत्री कर रहे थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: