बुधवार, अक्टूबर 5Digitalwomen.news

INDvsENG:- वनडे सीरीज पर कौन करेगा कब्जा मैनचेस्टर होगा गवाह, विश्व कप का सेमीफाइनल इसी मैदान पर हारा था भारत

IND vs ENG: Siraj to replace injured Bumrah in third and final one-day international
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

नई दिल्ली, 17 जुलाई। भारत और इंग्लैंड के बीच आज यानि रविवार को तीन मैचों की वनडे सीरीज का आखिरी और निर्णायक मुकाबला मैनचेस्टर में खेला जाना है। दोनों टीमों के लिए यह मैच करो या मरो की स्थिति वाला है क्योंकि फिलहाल सीरीज 1-1 की बराबरी पर है। ऐसा अनुमान है कि भारतीय प्लेइंग इलेवन में कोई बदलाव नहीं होगा क्योंकि अक्सर रोहित शर्मा हो या फिर एम एस धोनी प्लेइंग इलेवन में बदलाव नहीं करते। हालांकि रोहित शर्मा के लिए शिखर धवन, कोहली और पंत का फॉर्म टेंशन बढ़ाने वाला जरुर है।

लॉर्ड्स में खेले गए पिछले मैच में 100 रन की करारी हार मिलने के बाद भारतीय टीम मैनचेस्टर में इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के निर्णायक वनडे मैच में अपनी बल्लेबाजी रणनीति में थोड़ा बदलाव करना चाहेगी। टीम सतर्क होने के बजाय निर्भीक होकर खेलना चाहेगी क्योंकि लॉर्ड्स में सतर्कता ही है और धीमी शुरुआत की वजह से दवाब बढ़ता चला गया और फिर पूरी टीम कोलैब्स हो गई। जिस तरह से टी-20 सीरीज में भारत ने प्रदर्शन किया था ठीक उसी प्रकार से इस मैच को जीतकर सीरीज जीतने के इरादे से भारतीय टीम उतरेगी।

जिस तरह से दूसरे वनडे मुकाबले में इंग्लैंड के रीस टॉपले और डेविड विली की शानदार स्विंग के आगे रोहित और शिखर रक्षात्मक हो गए, वह कही न कही पूरी टीम को नुकसान दे गया। अनुभव के बावजूद शिखर का दो ओवर मेडन खेलना बताता है कि टोपली और विली के सामने इस तरह के रवैया नहीं चलने वाली है। इसलिए निश्चित रूप से बल्लेबाजी के तरीके में बदलाव की जरूरत होगी। ओवल में पहले वनडे में जसप्रीत बुमराह ने छह विकेट लेकर अकेले दम पर टीम को जीत दिलाई थी। ऐसे में तीसरे वनडे में भी उनसे इसी तरह के प्रदर्शन की उम्मीद होगी। साथ ही रोहित ये भी सोच रहे होंगे कि उनकी पहले विकेट के लिए शिखर के साथ लंबी साझेदारी हो ताकि टीम को एक अच्छी शुरुआत मिले क्योंकि विराट कोहली फिलहाल अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रहे हैं।

भारत के लिए सबसे बड़ी राहत अभी तक ये रहा है कि बेन स्टोक्स और लिविंगस्टोन का फॉर्म में न होना। यही कारण है कि इंग्लैंड की स्टार बैटिंग लाइन अप भी पहले दो मैचों में कुछ खास फॉर्म में नहीं दिखी है। मेजबान टीम में जोस बटलर, जॉनी बेयरस्टो, जेसन रॉय, बेन स्टोक्स और लियाम लिविंगस्टोन जैसे बल्लेबाज डिफेंसिव बल्लेबाजी कर रहे हैं। ऐसा लग ही नहीं रहा कि यह वही खिलाड़ी हैं, जिसने नीदरलैंड के खिलाफ 400 प्लस रन बना डाले थे।

जहां तक भारत के गेंदबाजी आक्रमण का संबंध है तो उसने अभी तक पांच सफेद गेंद के मैचों में से चार में तो उम्मीदों के अनुरूप प्रदर्शन किया है। बुमराह ने शानदार गेंदबाजी की और मोहम्मद शमी ने अक्सर विकेट चटकाने वाली गेंद फेंकी हैं। युजवेंद्र चहल ने अपनी तकनीक में थोड़ा बदलाव किया है जिससे वह थोड़ी और धीमी गेंद फेंक रहे हैं। यही कारण है कि ओल्ड ट्रैफर्ड पर सुबह होने वाले इस वनडे में बल्लेबाजी चुनौतीपूर्ण होगी। वहां गेंद काफी स्विंग करती है। भारत को यहां 2019 वनडे विश्व कप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि, तब बारिश ने मैच में खलल डाला था।

प्लेइंग-11

भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, रवींद्र जडेजा, युजवेंद्र चहल, मो. सिराज, प्रसिद्ध कृष्णा, मोहम्मद शमी।

इंग्लैंड : जेसन रॉय, जॉनी बेयरस्टो, जो रूट, बेन स्टोक्स, जोस बटलर (विकेटकीपर/कप्तान), लियाम लिविंगस्टोन, मोईन अली, क्रेग ओवरटन, डेविड विली, ब्रायडन कार्स, रीस टॉप्ले।

Leave a Reply

%d bloggers like this: