शुक्रवार, अगस्त 19Digitalwomen.news

16 साल पहले आज किया लॉन्च: कंपनी के घाटे में आने के बाद परेशान दो दोस्तों ने शुरू किया था टि्वटर का सफर

Twitter Turns sweet 16
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

आज बात ‘नीली चिड़िया’ वाली सोशल साइट ट्विटर की होगी। पिछले कुछ महीनों से ट्विटर पूरे दुनिया में सुर्खियों में बना हुआ है। दुनिया के सबसे रईस बिजनेसमैन टेस्ला कंपनी के सीईओ एलन मस्क ने करीब 2 महीने पहले टि्वटर को खरीदने का एलान किया था। लेकिन बाद में एलन मस्क अपने वायदे से मुकर गए। जिसके बाद मस्क की दुनिया भर में काफी किरकिरी हुई है । इसके अलावा सोशल साइट ट्विटर का मोदी सरकार से भी हाल के कुछ वर्षों में मनमुटाव चला रहा है। पिछले दिनों ट्विटर ने केंद्र सरकार के नियमों के खिलाफ कर्नाटक हाईकोर्ट में अपील भी की थी। बता दें कि केंद्र सरकार ने जून में कुछ सामाग्रियों को हटाने का आदेश ट्विटर को दिया था। ये आदेश नए आईटी एक्ट के तहत दिया गया था। इसे लेकर ही ट्विटर कर्नाटक हाईकोर्ट पहुंची, ट्विटर ने अपनी याचिका में कहा है कि सरकार के आदेश में नए आईटी नियमों को पालन नहीं किया गया है। खैर ! यह सब ट्विटर कंपनी के आपसी मामला है । ‌ आज सोशल साइट ट्विटर का खास दिन है। आज से 16 साल पहले यानी 15 जुलाई को टि्वटर ने आम जनता के लिए यह सोशल साइट शुरू की थी । तब से लेकर अब तक ट्विटर में कई उतार-चढ़ाव आए। लेकिन यह मौजूदा समय में करंट कंटेंस और विचार पोस्ट करने के लिए सबसे बड़ा प्लेटफार्म बना हुआ है। ‌‌ राजनीति, फिल्म और उद्योगपति समेत तमाम फेमस हस्तियां ट्विटर पर ही अपने विचारों का आदान प्रदान करती हैं। हमारे देश भारत में तो कभी-कभी टि्वटर सियासी अखाड़ा भी बन जाता है। जानकारी के मुताबिक ट्विटर के कुल 396.5 मिलियन यूजर्स हैं। 7.2% इंटरनेट यूजर्स महीने में कम से कम एक बार ट्विटर जरूर यूज करते हैं। इसके पास 206 मिलियन डेली एक्टिव यूजर्स हैं। आइए जानते हैं ट्विटर के सफर की कहानी।

अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को में जैक डोर्सी और नोआ ग्लास ने ट्विटर की रखी थी नींव–

बता दें कि फरवरी साल 2006 में अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को शहर में बार के बाहर कार में दो लोग बैठे हुए थे। एक का नाम जैक डोर्सी था और दूसरे का नोआ ग्लास। दोनों नशे में थे। दोनों एक कंपनी ODEO से जुड़े थे। नोआ इस कंपनी के को-फाउंडर थे तो जैक इस कंपनी में वेब डेवलपर का काम करते थे। यह कंपनी पॉडकास्ट बनाने वाली वेबसाइट थी। ये वो वक्त था जब एप्पल ने आईपैड लॉन्च किया था। इसके बाद ODEO की हालत खराब हो गई। कंपनी घाटे में चली गई। उस रात नशे में जैक डोर्सी ने नोआ से कहा, मेरे लिए यहां अब कुछ नहीं है। मैं सब छोड़कर फैशन डिजाइनर बनना चाहता हूं। तब नोआ ने कहा, ‘इरादा तो मेरा भी ऐसा ही है, लेकिन असल में तुम करना क्या चाहते हो। जवाब में जैक ने कहा, ‘एक ऐसी वेबसाइट बनाना चाहता हूं, जिस पर लोग अपना करेंट स्टेटस बताएं। वो क्या कर रहे हैं? क्या सोच रहे हैं?’ आखिर में नोआ ने कहा, ‘प्लान तो अच्छा है। इस पर काम करते हैं। कुछ दिनों बाद ODEO के ऑफिस में एक ग्रुप मीटिंग हुई। सभी से आइडिया मांगा गया। जैक डोर्सी ने एक कागज में अपना आइडिया लिखकर दिया। डोर्सी ने अपना प्लान बताया कि एक नंबर पर मैसेज करिए और आपका मैसेज सभी दोस्तों तक चला जाएगा । नोआ ने हामी भरी। नोआ ने डोर्सी के इस प्लान को ‘twttr’ नाम दिया। twitter का शुरुआती नाम यही था। 22 मार्च 2006 को डोर्सी ने पहला ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, ‘just setting up my twttr’ यानी ‘बस अपने twttr को सेटअप कर रहा हूं। आखिरकार 15 जुलाई 2006 को Twitter को ऑफिशियली लॉन्च कर दिया गया। कुछ दिनों बाद इसका नाम भी twttr से बदलकर Twitter कर दिया गया। 16 साल बाद आज भी टि्वटर ट्वीट करने के लिए दुनिया भर में सबसे लोकप्रिय सोशल साइट्स में से एक है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: