मंगलवार, अक्टूबर 4Digitalwomen.news

विश्व जनसंख्या दिवस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐसा बयान दिया है जिसपर बवाल होना शुरु हो गया है

JOIN OUR WHATSAPP GROUP

विश्व जनसंख्या दिवस, पूरा देश इस पर आज बात कर रहा है। जनसंख्या को कैसे कंट्रोल किया जाए, जनसंख्या की बढ़ती हुई दर किस तरह से विश्व स्तर पर परेशानी का सबब बनी हुई है। लेकिन इसी बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का एक बयान काफी सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है। योगी आदित्यनाथ का कहना है कि एक ही वर्ग की आबादी बढ़ने से अराजकता होगी। उन्होंने अपने बयान में कहा कि जनसंख्या का असंतुलन नहीं होना चाहिए।

सीएम योगी ने कहा कि जिन देशों की जनसंख्या ज्यादा होती है वहां जनसांख्यकीय असंतुलन चिंता का विषय बनता है। क्योंकि रिलिजियस डेमोग्राफी पर विपरीत असर पड़ता है तो एक समय के बाद वहां अव्यवस्था, अराजकता जन्म लेने लगती है। इसलिए जनसंख्या स्थिरीकरण के प्रयासों से सभी मत मजहब, वर्ग, सम्प्रदाय पर एक समान रूप से जोड़ा जाना चाहिए। योगी आदित्यनाथ ये बातें विश्व जनसंख्या दिवसके अवसर पर लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान बोल रहे थे। इस मौके पर सीएम योगी ने जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाड़े की शुरुआत भी की और साथ ही एक जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाई।

सीएम योगी ने कहा कि जब बात परिवार नियोजन की हो, जनसंख्या स्थिरीकरण की हो तो हमें यह भी ध्यान रखना होगा कि जनसंख्या नियंत्रण के प्रयास सफलतापूर्वक जरूर हों, लेकिन कहीं भी जनसांख्यकीय असंतुलन की स्थिति न पैदा होने पाए। ऐसा न हो कि किसी एक वर्ग की आबादी बढ़ने की स्पीड ज्यादा हो। योगी आदित्यनाथ का एक वर्ग वाले बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं। सोशल मीडिया पर तरह-तरह की बातें कही जा रही हैं। सभी को पता है कि योगी आदित्यनाथ एक हिंदुत्व छवि वाले नेता कहे जाते हैं। उनके बयानों में इस तरह की तमाम चीजें निकलकर सामने आती है जिसपर कभी-कभी अल्पसंख्यक वर्ग नाराज भी होता है तो कभी सवाल भी खड़े करता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: