रविवार, नवम्बर 27Digitalwomen.news

IND vs ENG, 1st T20I: रोहित शर्मा इतने सफल कप्तान क्यों है इसका सबूत है इंग्लैंड के खिलाफ पहले टी20 में मिली जीत

Rohit Sharma breaks Virat Kohli’s T20 record, achieves massive feat as Team India skipper
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

नई दिल्ली, 8 जुलाई। हार्दिक पांड्या ने इंग्लैंड में धमाकेदार एंट्री की है। उनके जैसा कोई भी हार्डिच नही है, इसका प्रमाण उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ पहले टी-20 क्रिकेट मैच में दे दिया। पहले शानदार 33 गेंदों में 51 रनों की अर्धशतकीय पारी और फिर बेहतरीन स्पेल जिसमें चार बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखाया। उन्होंने बता दिया कि अब वह वापस मैदान पर लौट चुके हैं और वो भी बेहतरीन लय में। भारत ने यह मैच 50 रनों से जीत कर तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है।

Hardik Pandya all-round performance gives India a lead of 1-0 in three game series

कप्तान रोहित शर्मा टी20 वर्ल्ड कप के बाद 15वां इंटरनेशनल मैच में कप्तानी कर रहे थे। 14 मैचों में जीत मिली है इसलिए उस लय को बरकरार रखना चाहते थे। जब टॉस के वक़्त सिक्का भारत के पक्ष में गिरा तो रोहित शर्मा ने बैटिंग करने का फैसला किया। कई लोगों का मानना था कि बाकी मैचों की तुलना में इंग्लैंड की बॉलिग कमजोर है इसलिए भारत को चेज करना चाहिए लेकिन रोहित शर्मा को शायद अपने आप पर भरोसा था। मैच शुरू होने से पहले जब वह अर्शदीप सिंह को 99वें खिलाड़ी के तौर पर डेब्यू कैप पहनाया तभी वे अपने फैसले को सही साबित करने की सोच लिया था और बैटिंग करने उतरे रोहित इंग्लैंड के बॉलर की क्लास लेने लगे। सिर्फ 14 गेंदों में ही 5 चौके लगा दिए लेकिन 24 रन पर वे आउट हो गए।

रोहित शर्मा के इस लय को आने वाले बल्लेबाजों ने कम नहीं होने दिया और देखते ही देखते दीपक हुड्डा (17 गेंदों में 33 रन) और सूर्य कुमार यादव (19 गेंदों में 39 रन) ने बॉलर की तबीयत से चौके और छक्कों के रूप में पिटाई की। इसके बाद हार्दिक पांड्या की पारी की मदद से कुल टोटल 198 रन तक पहुँचा। हालांकि इंग्लैंड ने अंतिम ओवरों में शानदार वापसी जरूर की क्योंकि एक समय भारत 230 के पार जाता दिखाई दे रहा था।

पहली बार कप्तानी कर रहे जोस बटलर को लगा कि पहली ही गेंद से प्रहार शुरू करेंगे और इसी सोच से वह बैटिंग करने पहुँचे पर वे भूल रहे थे कि जिस पिच पर गेंद स्विंग हो रही हो वहां भुवनेश्वर कुमार से खतरनाक कोई गेंदबाज नहीं हो सकता और हुआ भी वही। बटलर कभी नहीं सोचे होंगे कि एक कप्तान के तौर पर वे पहली ही गेंद पर बोल्ड आउट हो जाये। इसके बाद आये डेविड मलान और लिव लिविंगस्टन दोनों को हार्दिक ने अपना शिकार बनाया।

फिर कुछ देर तक मोइन अली और हैरी ब्रूक ने पारी को संभालने की कोशिश की लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी क्योंकि उनके आने से पहले ही इंग्लैंड गेम से बाहर हो चुका था। अंत में क्रिस जोर्डन की मेहनत का कोई नतीजा नहीं निकल सका। उन्होंने पहले गेंदों से और फिर अपने बैटिंग से इंग्लैंड को 200 फिसदी दिया लेकिन परिणाम भारत के पक्ष में गया। अर्शदीप के लिए अपना डेब्यू मैच शानदार रहा जिन्होंने मात्र 18 रन देकर दो सफलताएं अर्जित की। इस जीत के साथ ही रोहित शर्मा ने टी20 वर्ल्ड कप के बाद अपनी जीत के सिलसिले को बनाये रखा। अब भारत सीरीज जितने के इरादे से अगले मैच में उतरेगी जो 9 जुलाई को बर्मिंघम में खेला जाएगा।

Leave a Reply

%d bloggers like this: