बुधवार, नवम्बर 30Digitalwomen.news

एजबेस्टन टेस्ट:- दूसरे दिन ये बने रिकॉर्ड, बुमराह जिस लिस्ट में शामिल हुए हैं, उसे देखकर चौक जाएंगे आप

5th Test, Day 2 – ‘Captain Bumrah’ rattles England: Smashes Brian Lara’s world record with bat
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

नई दिल्ली, 3 जुलाई। भारतीय टीम इस वक़्त एजबेस्टन में मजबूत स्थिति में पहुँच चुकी है। इसके पीछे तलवारबाजी करते रवींद्र जडेजा का शानदार शतक रहा तो टेस्ट इतिहास का सबसे महंगा ओवर डालने वाले स्टुअर्ट ब्राड का भी योगदान रहा। सबसे बड़ी बात की ब्राड के ओवर को महंगा बनाने वाला कोई और नहीं बल्कि इंडियन टीम की इस मैच में कप्तानी कर रहे जसप्रीत बुमराह थे जिन्होंने एक्स्ट्रा सहित ब्राड के ओवर में 35 रन जुटाए।

एज्बेस्टन में दूसरे दिन क्रिकेट और बारिश के बीच आंख मिचौली का खेल चलता रहा। भारतीय टीम ने जैसे ही अपनी पारी खत्म की और इंग्लैंड की पारी शुरू होने के साथ ही बारिश ने भी एंट्री ले ली। दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक इंग्लैंड के टॉप चार बल्लेबाज और एक नाईट वाच मैन भी पवेलियन लौट चुके हैं। भारत एक बड़ी बढ़त की ओर बढ़ रहा है। जसप्रीत बुमराह ने टॉप तीन बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखाकर इंग्लैंड की बैटिंग लाइनअप की कमर तोड़ दी है। इसके बाद सिराज ने रुट को चलता किया और नाईट वॉचमैन को मोहम्मद शमी ने अपना शिकार बनाया। इस तरह दूसरे दिन का खेल खत्म होने पर इंग्लैंड 84 पर 5 विकेट खोकर मुश्किल स्थिति में दिख रहा है। वह अभी भी 332 रनों से पीछे है। अगर ऐसा ही कल भी रहा तो उसे फॉलोऑन न खेलना पड़ जाए।

इससे पहले जडेजा ने आज अपने टेस्ट करियर का यह तीसरा शतक लगाया जबकि यह पहली सेंचुरी है जो उन्होंने विदेशी जमीन पर जड़ी है। एजबेस्टन टेस्ट में रवींद्र जडेजा ने 194 बॉल पर 104 रन बनाए, इसमें 13 चौके शामिल है। रवींद्र जडेजा ने बतौर टेस्ट बल्लेबाज पिछले एक-दो साल में काफी इम्प्रूव किया है। वह लगातार बड़ी पारियां खेल रहे हैं, साथ ही ज़रूरत के हिसाब से छोटी लेकिन तेज़ पारियां भी खेलते दिख रहे हैं। एजबेस्टन में शतक जमाकर वह एक खास लिस्ट में शामिल हुए। अभी तक चार भारतीय खिलाड़ी ही इस मैदान पर शतक जड़ चुके हैं जिसमें सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, ऋषभ पंत के बाद अब रवींद्र जडेजा भी शामिल हो चुके हैं।

इस मैच में एक खास रिकॉर्ड भी बना है। भारत के लिए एक पारी में दो लेफ्ट हैंडर द्वारा शतक एस. रमेश (110) और सौरव गांगुली (125) ने 1999 में न्यूजीलैंड के खिलाफ लगाया था। फिर सौरव गांगुली (239) और युवराज सिंह (169) ने साल 2007 में पाकिस्तान के खिलाफ लगाया था और अब ऋषभ पंत (146) बनाम रवींद्र जडेजा (104) ने इंग्लैंड के खिलाफ यह कारनामा करके दिखाया है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: