सोमवार, जून 27Digitalwomen.news

Agneepath Protest: 4 दिन से सड़कों पर आक्रोश, केंद्र के आश्वासन और एलानों का युवाओं पर कोई असर नहीं

Agneepath Protest
Agneepath Protest
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

केंद्र सरकार की अग्निपथ स्कीम का चौथे दिन शनिवार को भी बिहार और यूपी समेत कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन जारी है। ‌ विरोध की आग अभी शांत होती नहीं नजर आ रही। युवा सड़कों पर हैं। हिंसा की घटनाओं को देखते हुए कई जिलों में इंटरनेट सेवा भी बंद है। प्रदर्शनकारियों की पुलिस से भी झड़प हुई। प्रदेश के जयपुर, जोधपुर, अजमेर अलवर सहित छह जिलों में हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं। जयपुर शहर में एक रेलवे स्टेशन पर तोड़फोड़ की गई है। वहीं, भरतपुर में रोडवेज बसों का संचालन रोका गया है। बिहार में उग्र प्रदर्शन के कारण कोटा-पटना एक्सप्रेस भी कैंसिल हो गई है। हिंसक घटनाओं के बीच केंद्र सरकार अग्निपथ सेना भर्ती योजना को लेकर कई एलान कर रही है लेकिन युवा समझने के लिए तैयार नहीं है, या केंद्र सरकार उन्हें समझा नहीं पा रही है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी समेत कई भाजपा नेता लगातार सड़क पर आंदोलन कर रहे युवाओं को आश्वासन दे रहे हैं। इसके बावजूद युवाओं का गुस्सा थम नहीं रहा है। 4 दिन पहले मंगलवार को केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सेना में भर्ती के लिए अग्निपथ योजना को लॉन्च किया था। उसके बाद से ही बिहार, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और मध्य प्रदेश समेत कई राज्यों में प्रदर्शन शुरू हो गए थे। 4 साल की सेना में भर्ती पर युवाओं में भविष्य को लेकर भारी आक्रोश है। इस बीच केंद्र सरकार अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया में कई बदलाव कर चुकी है। इसके बावजूद युवाओं में गुस्सा शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। पहले केंद्र सरकार ने साढ़े 17 साल से 21 साल निर्धारित की गई आयु को 2 साल बढ़ाकर 23 साल कर दिया। ‌ गृह मंत्रालय के अग्निवीरों को भर्ती में आरक्षण वाले एलान के बाद अब रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एक और बड़ी घोषणा की है। अब अग्निवीरों को सस्ते दरों पर कर्ज की सुविधा भी दी जाएगी । रक्षा मंत्री कार्यालय की तरफ से किए गए ट्वीट में बताया गया है कि, जो नौजवान चार वर्ष सेना में सेवा देने के बाद बाहर निकलेंगे उन्हें आजीवन अग्निवीर के रूप में जाना जाएगा। मुझे खुशी है कि इन अग्नि वीरों की सैनिक सेवा समाप्त होने के बाद कई सरकारी विभागों में चयन के लिए उन्हें प्राथमिकता दिए जाने की घोषणा हो चुकी है। यदि वे कोई और काम करना चाहेंगे तो उन्हें सस्ती दर पर कर्ज की भी सुविधा प्रधान की जाएगी। रक्षा मंत्री ने आगे कहा है कि, देश की सेनाओं में अग्निवीर केवल नए रिजल्ट लाने भर का नाम नहीं है बल्कि उन्हें भी वही क्वालिटी ट्रेनिंग दी जाएगी जो आज सेनाओं के जवानों को मिल रहा है। ट्रेनिंग का समय भले ही छोटा होगा मगर क्वालिटी से कोई समझौता नही होगा।

Leave a Reply

%d bloggers like this: