बुधवार, जुलाई 6Digitalwomen.news

केंद्र सरकार ने लॉन्च की ‘अग्निपथ भर्ती योजना’, जानें कैसे काम करेगी यह योजना

Agneepath Recruitment Scheme launched
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

केंद्र सरकार ने सेना में भर्ती के लिए आज ‘अग्निपथ भर्ती योजना’ की शुरूआत की है।
केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस योजना लॉन्च करते हुए कहा, इस योजना से युवाओं को सेना में भर्ती का मौका मिलेगा और रोजगार मिलेगा। उन्होंने बताया, यह योजना रक्षा बलों के खर्च और आयु प्रोफाइल को कम करने की दिशा में यह योजना सरकार के प्रयासों का एक हिस्सा है।

क्या है अग्निपथ भर्ती योजना:

‘अग्निपथ भर्ती योजना’ के तहत युवा चार साल की अवधि के लिए सेना में शामिल होंगे और देश की सेवा करेंगे।
इसके बाद चार साल के अंत में लगभग अस्सी फीसदी सैनिकों को ड्यूटी से मुक्त कर दिया जाएगा और उन्हें आगे के रोजगार के अवसरों के लिए सशस्त्र बलों से सहायता मिलेगी।
वहीं इसके बाद केवल बीस फीसदी जवानों को चार साल बाद भी मौका मिलेगा। हालांकि यह तभी संभव होगा जब उस समय सेना की भर्तियां निकली हों।

अग्निपथ रिक्रूटमेंट योजना की खास बातें-

  1. सेना में भर्ती मात्र चार साल के लिए होगी।
  2. चार साल वाले सैनिकों को अग्निवीर नाम दिया जाएगा।
  3. चार साल बाद सैनिकों की सेवाओं की समीक्षा की जाएगी। समीक्षा के बाद कुछ सैनिकों की सेवाएं आगे बढ़ाए जा सकती हैं। बाकी को रिटायर कर दिया जाएगा।
  4. चार साल की नौकरी में छह-नौ महीने की ट्रेनिंग भी शामिल होगी।
  5. रिटायरमेंट के बाद पेंशन नहीं मिलेगी बल्कि एक मुश्त राशि दी जाएगी।

खास बातें:

इस योजना की खास बात यह होगी कि अब सेना की रेजीमेंट्स में जाति, धर्म और क्षेत्र के हिसाब से भर्ती नहीं होगी बल्कि देशवासी के तौर पर होगी।
यानि कोई भी जाति, धर्म और क्षेत्र का युवा किसी भी रेजीमेंट के लिए आवेदन कर सकेगा।
दरअसल, सेना में इंफेंट्री रेजीमेंट अंग्रेजों के समय से बनी हुई हैं जैसे सिख, जाट, राजपूत, गोरखा, डोगरा, कुमाऊं, गढ़वाल, बिहार, नागा, राजपूताना-राईफल्स (राजरिफ), जम्मू-कश्मीर लाइट इंफेंट्री (जैकलाई), जम्मू-कश्मीर राईफल्स (जैकरिफ) इत्यादि। ये सभी रेजीमेंट जाति, वर्ग, धर्म और क्षेत्र के आधार पर तैयार की जाती हैं। आजादी के मात्र एक ऐसी, द गार्ड्स रेजीमेंट ऐसी है जो ऑल इंडिया ऑल क्लास के आधार पर खड़ी की गई थी। लेकिन अब अग्निवीर योजना में माना जा रहा है कि सेना की सभी रेजीमेंट ऑल इंडिया ऑल क्लास पर आधारित होंगी। यानि देश का कोई भी नौजवान किसी भी रेजीमेंट के लिए आवेदन कर सकेगा।आजादी के बाद से रक्षा क्षेत्र में ये एक बड़ा डिफेंस रिफोर्म माना जा रहा है।

योजना को हरी झंडी मिलने के बाद साल अगस्त के महीने से रिक्रूटमेंट रैलिया शुरु हो जाएंगी और सेना (थलसेना, नौसेना और वायुसेना) में भर्तियां शुरु हो जाएंगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: