शनिवार, नवम्बर 26Digitalwomen.news

ब्रिटिश पीएम के पद पर बने रहेंगे बोरिस जॉनसन, पार्टीगेट मामले की अग्नि परीक्षा में हासिल किया विश्वास मत

UK PM Boris Johnson narrowly wins vote of confidence
UK PM Boris Johnson narrowly wins no confidence motion
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

पार्टीगेट स्कैंडल संकट में घिरे ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन ने सोमवार को हाउस ऑफ कॉमन्स में विश्वास मत साबित कर दिया है। बोरिस जॉनसन ने 211 मत हासिल कर विश्वास मत जीत लिया। जॉनसन के खिलाफ 148 वोट डाले गए। कंजरवेटिव 1922 कमेटी के अध्यक्ष सर ग्राहम ब्रैडी ने बताया कि कुल 359 वोट डाले गए। इनमें से कोई भी खराब मत पत्र नहीं था।
दरअसल खास बात यह है कि सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी खुद जॉनसन के खिलाफ यह प्रस्ताव लाई थी। यदि वह इस प्रस्ताव में हार जाते तो पीएम पद से हटना पड़ता।
पार्टीगेट स्कैंडल को लेकर कुछ और ब्योरा सामने आने के बाद बैकबेंच कमेटी ने सोमवार को विश्वास मत प्रस्ताव लाने की घोषणा की थी। इससे पहले समिति के अधिकारी ग्राहम ब्रैडी ने बताया था कि उन्हें सांसदों से कई पत्र मिले, जिनमें जॉनसन के नेतृत्व के प्रति विश्वास को लेकर मतदान की मांग की गई थी।
इस प्रस्ताव के लिए 15 फीसदी सांसदों की सहमति मिल गई थी। यदि जॉनसन 359 कंजरवेटिव सांसदों का विश्वास पाने में विफल रहते तो उन्हें कंजरवेटिव नेता तथा प्रधानमंत्री पद से हटा दिया जाता। हालांकि अब जीतने के बाद वह एक साल और अपने पद पर बने रहेंगे।

क्या है पार्टीगेट मामला?
पार्टीगेट मामला कोरोना महामारी के शुरुआती दिनों यानी 20 जून 2020 को ब्रिटिश पीएम कार्यालय 10 डाउनिंग स्ट्रीट में जन्मदिन पार्टी करने से जुड़ा है। यह पार्टी कोरोना नियमों का उल्लंघन कर कैबिनेट कक्ष में आयोजित की गई थी। इसका जिम्मेदार पीएम जॉनसन व उनकी पत्नी कैरी को माना गया। ब्रिटिश नेताओं ने इसे ‘पार्टीगेट स्कैंडल’ करार दिया। पुलिस की जांच में इस मामले में जॉनसन समेत 83 लोगों पर जुर्माना लगाया गया है। पार्टीगेट का मामला सामने आने के बाद जॉनसन पर इस्तीफा देने का दबाव बढ़ रहा था। उन 83 लोगों में पीएम जॉनसन, उनकी पत्नी कैरी जॉनसन और ब्रिटिश मंत्री ऋषि सुनक के नाम शामिल हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: