शनिवार, नवम्बर 26Digitalwomen.news

सतेंद्र जैन के करीबियों के ठिकानों पर ईडी की छापेमारी में मिली बेनामी सम्पतियों के बाद केजरीवाल का मोदी पर निशाना

“At this time, prime minister is after the AAP with all his might -- particularly the Delhi and Punjab governments.
“At this time, prime minister is after the AAP with all his might — particularly the Delhi and Punjab governments. 
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन इस वक्त जेल के सलाखों के पीछे हैं और उनके करीबियों को भी ईडी ने रडार पर ले रखा है। ईडी की लगातार छापेमारी चल रही है। उनके करीबियों के ठिकानों पर छापेमारी के दौरान ईडी को 133 सोने के सिक्के और बिस्किट के साथ 2.8 करोड़ रुपये की बेनामी सम्पति मिली है। जिसके बाद लगातार सवाल उठने शुरू हो गए हैं और साथ ही सतेंद्र जैन पर संकट के बादल और काले होते जा रहे हैं।

ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में सत्येंद्र जैन को 30 मई को गिरफ्तार कर लिया था। गिरफ्तारी के बाद सत्येंद्र जैन को कोर्ट में पेश किया गया था और जैन अभी 9 जून तक ईडी की कस्टडी में रहेंगे। लेकिन इस बीच जिस तरह से अरविंद केजरीवाल ने सतेंद्र जैन का बचाव किया उसको लेकर भाजपा ने कई सारे सवाल खड़े कर दिए हैं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने तो यहां तक कह दिया कि सतेंद्र जैन के करीबियों से मिली बेनामी सम्पतियों में केजरीवाल का भी हिस्सा है इसलिए वह उनके करतूतों पर पर्दा डालने के लिए पद्मश्री अवार्ड देने की बात कर रहे हैं।

ईडी द्वारा जब छापेमारी चलने की प्रक्रिया के बीच केजरीवाल ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि

इस वक्त प्रधान मंत्री जी पूरी ताक़त के साथ आम आदमी पार्टी के पीछे पड़े हैं – ख़ासकर दिल्ली और पंजाब सरकारों के। झूठ पे झूठ, झूठ पे झूठ। आपके पास सारी एजेन्सीज़ की ताक़त है, पर भगवान हमारे साथ है।

इतना ही नहीं दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सतेंद्र जैन के बचाव में ट्वीट कर जिनके ठिकानों पर छापेमारी की गई है, उन्हें सतेंद्र जैन के करीबी ब बताने से ही इनकार कर दिया। मनीष सिसोदिया ने कहा कि

BJP ने झूठ और बेशर्मी की सारी सीमाएं तोड़ दी है! सत्येंद्र जैन के घर पर सिर्फ 2 लाख 79 हजार रुपए मिले हैं। ED ने घंटो तक तलाशी की, पर एक सबूत नहीं मिला। अब किसी को भी सत्येंद्र जैन का करीबी बताकर BJP उनपर झूठे आरोप लगा रही है। BJP वाले अब और कितना गिर सकते हैं?

यह तो तय है कि जिस तरह से दिल्ली के शिक्षा मॉडल को लेकर भाजपा ने सवाल खड़े किए थे और भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था उससे ईडी का ध्यान भी खींचा है और उसके लिए साक्ष्य भी मांगे गए हैं। हालांकि ईडी के इस कदम को आप नेता संजय सिंह ने शर्मनाक बताते हुए कहा था कि अब देश की एजेंसी इतनी लाचार और बेबस हो गई है कि उसे साक्ष्य किसी और से मांगने पड़ रहे हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: