बुधवार, जुलाई 6Digitalwomen.news

मूसेवाला के हत्यारे 6 दिन बाद भी पकड़ से दूर, हाईकोर्ट के सिटिंग जज हत्याकांड की नहीं करेंगे जांच

Sidhu Moose Wala murder police still clueless
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

पंजाबी सिंगर और कांग्रेसी नेता रहे सिद्धू मूसेवाला की हत्या को 6 दिन बीत गए हैं लेकिन अभी तक पुलिस कातिलों का सुराग नहीं लगा सकी है। पंजाब, राजस्थान और हरियाणा से लेकर कनाडा तक जांच पड़ताल और दबिश दे रही है। बता दें कि रविवार शाम को पंजाब के मानसा में पंजाबी गानों के पॉपुलर गायक सिद्धू मूसेवाला की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मूसेवाला राज्य के उन 424 वीआईपी में शामिल थे जिनकी सिक्युरिटी राज्य सरकार ने हाल ही में वापस ली थी। कई सितारों और राजनीतिक हस्तियों ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या पर दुख जताया । मूसेवाला की हत्या के विरोध में पंजाब से लेकर दिल्ली तक राजनीति गरमाई हुई है। वहीं दूसरी ओर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड की जांच हाईकोर्ट के सिटिंग जज नहीं करेंगे। पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने इससे इनकार कर दिया है। मूसेवाला के पिता की मांग पर पंजाब सरकार ने हाईकोर्ट रजिस्ट्रार को लेटर भेजा था। सरकार को दिए जवाब में कहा गया कि पहले ऐसा कभी नहीं हुआ कि हाईकोर्ट किसी सिटिंग जज को ऐसे मामले में जांच के लिए कहे।हाईकोर्ट के इनकार करने के बाद पंजाब की भगवंत मान की सरकार ने परिवार को रिटायर्ड हाईकोर्ट जज से जांच का सुझाव दिया था। उन्हें 5 नाम भी दिए गए थे। हालांकि, वह सिटिंग जज की मांग कर रहे हैं। मूसेवाला हत्याकांड की जांच फिलहाल पंजाब पुलिस कर रही है। जिसकी निगरानी एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स के एडीजीपी प्रमोद बान कर रहे हैं। इसमें आईजी जसकरन सिंह, एआईजी गुरमीत चौहान समेत कुल 5 मेंबर शामिल किए गए हैं। हालांकि, अभी तक इस मामले में पुलिस कोई बड़ा खुलासा नहीं कर सकी है।

सिद्धू मूसे वाला गन कल्चर को बढ़ावा देने के साथ कई विवादों से भी जुड़े रहे–

इस बार पंजाब विधानसभा चुनाव में सिद्दू मूसे वाला कांग्रेस के टिकट पर मानसा से विधानसभा चुनाव लड़े थे। लेकिन उन्हें आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी डॉ विजय सिंगला ने हरा दिया था। सिंगला बाद में भगवंत मान सरकार में स्वास्थ्य मंत्री बनाए गए थे। लेकिन भ्रष्टाचार के आरोप में घिरे सिंगला को मुख्यमंत्री भगत मान ने बर्खास्त कर दिया था। इस समय विजय सिंगला जेल में हैं। सिद्धू मूसेवाला के साथ कई विवाद भी जुड़े हैं। पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला के खिलाफ गन कल्चर को बढ़ावा देने के आरोप भी लगे थे। बताया जा रहा है कि महज 28 साल के सिद्धू मूसेवाला पर हमलावरों ने लगातार 30 गोलियां बरसाईं। इसके बाद से राज्य की आम आदमी पार्टी की सरकार पर भी लोग सवाल उठे । राज्य के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा है कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। अब पुलिस मूसेवाला की हत्या के वीडियो फुटेज में हत्यारों के सुराग मिलने का दावा कर रही है । पुलिस के मुताबिक, जो दो युवक गाड़ी से तेल भरवाने के लिए नीचे उतरते हैं वो सोनीपत के कुख्यात बदमाश पर्वत फौजी और जांटी गैंगस्टार बताए जा रहे हैं। पुलिस उनकी टोह में है। इससे पहले इस मामले में पंजाब पुलिस ने शक के आधार पर फतेहाबाद के भिरडाना निवासी पवन और एक अन्य शख्स नसीब को दबोचा है। पवन बिश्नोई कंबाइन का कारोबार करता है। नसीब की पंक्चर की दुकान है। सिद्धू मूसेवाला मामले में गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई दिल्ली पुलिस की रिमांड पर है। उससे लगातार पूछताछ चल रही है। हालांकि उसने अपना जुर्म कुबूल नहीं किया है। पंजाब पुलिस के मुताबिक लॉरेंस विश्नोई और कनाडा में बैठे गोल्डी बरार के गुर्गों ने पंजाबी सिंगर मूसेवाला की हत्या की। लॉरेंस बिश्नोई का कहना है कि वह जेल में था। उसके पास कोई फोन मौजूद नहीं था। सोशल मीडिया पर पोस्ट किसने की उसे कोई जानकारी नहीं है। जेल नंबर 8 में उसके बैरक की तलाशी भी हो चुकी है। उसके पास से कोई फोन बरामद नहीं हुआ है। सिद्दू मूसेवाला की हत्या के पीछे कौन है? वह नहीं जानता है। दिल्ली पुलिस की टीम को जानकारी मिली है कि जो शूटर है वो नेपाल में हो सकता है। इसी वजह से दिल्ली पुलिस की टीम नेपाल में भी मौजूद है और शूटर्स की तलाश कर रही है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: