रविवार, नवम्बर 27Digitalwomen.news

Santoor maestro Pandit Bhajan Sopori passes away

संगीत जगत में एक और बड़ी छति, मशहूर संतूर वादक पंडित भजन सोपोरी नहीं रहे

Santoor maestro Pandit Bhajan Sopori passes away
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

आज देश को संगीत जगत में एक और बड़ी क्षति हुई। विश्वभर में प्रसिद्ध संतूर वादक शिव कुमार शर्मा के निधन से अभी कला प्रेमी उबर नहीं पाए हैं कि प्रसिद्ध संतूर वादक पंडित भजन सोपोरी का भी आज शाम निधन हो गया है। 2 दिन पहले कोलकाता में बॉलीवुड के युवा गायक केके का अचानक निधन हो गया था। ‌गुरुवार शाम को मशहूर संतूर वादक पद्मश्री पंडित भजन सोपोरी का गुरुग्राम के एक अस्पताल में गुरुवार को निधन हो गया। वे 74 साल के थे और पिछले कुछ समय से बीमार थे। उनका जन्म साल 1948 में श्रीनगर में हुआ था। भजन सोपोरी को क्लासिकल म्यूजिक में योगदान के लिए 1992 में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार दिया गया था। इसके बाद उन्हें भारत सरकार ने साल 2004 में पद्मश्री से सम्मानित किया। भजन सोपोरी को संतूर वादन की शिक्षा विरासत में मिली थी। उनके दादा एससी सोपोरी और पिता पंडित एसएन सोपोरी भी संतूर वादक थे। उन्होंने घर में ही संतूर की शिक्षा ली थी। भजन संतूर के साथ गायन में भी निपुण थे। संगीत के साथ उन्होंने अंग्रेजी साहित्य में पोस्ट ग्रेजुएट किया। इसके बाद उन्होंने वाशिंगटन विश्वविद्यालय से वेस्टर्न क्लासिकल म्यूजिक में भी पढ़ाई की थी। पंडित भजन सोपोरी ने तीन रागों की रचना की है। इनमें राग लालेश्वरी, राग पटवंती और राग निर्मल रंजनी है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: