रविवार, सितम्बर 25Digitalwomen.news

कुछ ऐसा रहा है आईपीएल इतिहास में ऑरेंज कैप का अब तक का सफर

Orange Cap winners in IPL history
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

आईपीएल 2022 का आज अहमदाबाद में फाइनल खेला जा रहा है। हार्दिक पांड्या की एक नई टीम गुजरात टाइटल्स ने फाइनल में पहुंचकर सबको चौका दिया है वही आईपीएल इतिहास का पहला ट्रॉफी अपने नाम करने वाली राजस्थान के लिए भी एक बेहतरीन मौका है। क्योंकि इस बार संजू सैमसन की अगुवाई में टीम ने जोस बटलर और अश्विन-चहल की गेंदबाजी यूनिट ने कमाल कर दिया है। आईपीएल में एक बल्लेबाज के तौर पर अगर आपके सर पर ऑरेंज कैप हो, तो इससे बड़ी बात कुछ नहीं हो सकती।

इसलिए यह जानना जरूरी है कि आखिर आईपीएल में ऑरेंज कैप का सफर कैसा रहा है। आईपीएल की शुरुवात साल 2008 में हुई थी और उस वक़्त ऑस्ट्रेलिया के शॉन मार्श का बल्ला खूब बोला था और सबसे ज्यादा 616 रन बनाकर ऑरेंज कैप अपने नाम किया था। इसके बाद दूसरा भी ऑरेंज कैप ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज के नाम रहा जब मैथ्यू हेडन ने 52 की औसत से 572 रन बनाकर इसे अपने नाम किया था। इसके बाद नम्बर आया मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का। साल 2010 में उन्होंने 47.53 की औसत से 618 रन बनाकर ऑरेंज कैप जीती थी। इसके बाद चौथे सीजन में बल्ला चला द बॉस यानी क्रिस गेल का उन्होंने आईपीएल के चौथे सीजन में बॉलर की खूब खातिरदारी की थी और 67.55 की औसत और 183.13 के विस्फोटक स्ट्राइक रेट के साथ 608 रन बनाकर ऑरेंज कैप अपने नाम किया था। लेकिन द बॉस इतने से कहाँ खुश होने वाले थे और अगले साल फिर 61.08 की औसत से 733 रन बनाकर दोबारा ऑरेंज कैप पर अपना नाम लिखवाया।

इसके बाद समय आया ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज माइक हसी की जिन्होंने 2013 के आईपीएल सीज़न में 52.35 की औसत से 733 रन बनाए थे और ऑरेंज कैप को अपने कब्जे में लिया था। सचिन तेंदुलकर के बाद अब ऑरेंज कैप पर दूसरे भारतीय खिलाड़ी रॉबिन उथप्पा का समय था उन्होंने 660 रन बनाकर ऑरेंज कैप अपने नाम की थी। इसके बाद आईपीएल में एंट्री हुई डेविड वार्नर की और फिर धमाका मचा क्योंकि डेविड वार्नर पहले बल्लेबाज हैं जिन्होंने तीन साल ऑरेंज कैप पर अपना अधिपत्य जमाया। साल 2015 में सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से खेलते हुए डेविड वॉर्नर ने 156.54 के दमदार स्ट्राइक रेट और 43.23 की रन औसत के साथ 562 रन बनाये। फिर 2017 में 641 रन बनाकर और फिर 2019 में 692 रन बनाकर डेविड वॉर्नर ने तीसरी बार ऑरेंज कैप जीत चुके हैं। अब बल्लेबाज की बात होऔर उसमें विराट कोहली का नाम न हो तो ऐसा असंभव फिगर नहीं हो सकता। कोहली ने साल 2016 में 973 रन जड़ डाले थे जो अब तक एक सीजन में इतने रन कोई बल्लेबाज नहीं बना सका है। इस सीजन में विराट ने 81 रन की औसत 152 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए थे।

शांत रहने वाले केन विलियमसन ने साल 2018 के आईपीएल में 735 रन बनाकर ऑरेंज कैप जीती थी। इसके बाद नम्बर आया क्लास लाजवाब राहुल यानी के एल राहुल की जिन्होंने 2020- आईपीएल में 670 रन बनाकर ऑरेंज कैप अपने नाम की थी। और इसके बाद नम्बर आता है रुतुराज गायकवाड़ का जिन्होंने 45.35 की औसत से 635 रन बनाकर ऑरेंज कैप अपने नाम किया। और इस साल 4 शतक जड़कर यह कारनामा करके दिखाया है जोस बटलर ने जिनके नाम ऑरेंज कैप होना तय है क्योंकि उनके पीछे रहने वाले राहुल की टीम बाहर हो चुकी है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: