मंगलवार, अक्टूबर 4Digitalwomen.news

हरियाणा निकाय चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों ने कमर कसी, आज हरियाणा में ये नेता भरेंगे हुंकार

निकाय चुनाव से पहले ही भाजपा और जेजेपी में पड़ गया है दरार!

Haryana Municipal Elections
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

हरियाणा निकाय चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं। भाजपा और कांग्रेस के साथ-साथ अपनी राजनीतिक विस्तार कर रही आम आदमी पार्टी भी पूरी जोर शोर से लगी हुई है। आज तीन अलग अलग जिलों में रैलियां हैं। सिरसा में बिजली मंत्री रणजीत सिंह की ओर से आयोजित प्रगति रैली में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, फतेहाबाद में भूपेंद्र हुड्डा, और कुरुक्षेत्र से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल निकाय चुनाव के लिए हुंकार भरेंगे।

यह तीनों रैलियां सिर्फ निकाय चुनाव के लिए महत्वपूर्ण नहीं मानी जा रही हैं बल्कि इसके पीछे यह भी कहा जा रहा है कि पंचायती चुनाव और विधानसभा चुनाव का परिणाम भी इन रैलियों द्वारा तय किया जाएगा। तीसरी बार सत्ता पर काबिज होने, कांग्रेस खुद की वापसी करने और आम आदमी पार्टी पहली बार सरकार बनाने की कोशिश में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती हैं। अब रैलियां हैं और बात सत्ता पाने की है तो आरोप-प्रत्यारोप लगना भी तय और स्वभाविक है। आम आदमी पार्टी के हरियाणा प्रभारी सुशील गुप्ता का कहना है कि भाजपा और कांग्रेस ने हमारी रैली को विफल करने के लिए आज रैली कर रही है लेकिन आम जनता केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी के साथ है। जबकि आम आदमी पार्टी ने अपने रैली का नाम भी अब बदलेगा हरियाणा दिया है।

उधर सिरसा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी अपनी सरकारी योजनाओं का बखान करने से पीछे नहीं हटने वाले हैं। साथ ही सिरसा जिले को करोड़ों रुपये की सौगात भी देंगे। बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने ऐतिहासिक रैली होने का दावा किया है। नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र हुड्डा के कार्यक्रम को लेकर प्रदेशाध्यक्ष उदयभान ने कहा कि जनता को कांग्रेस से आस है। लोगों का मानना है कि तीनों कार्यक्रमों की तुलना वहां इकट्ठी भीड़ तय करेगी।

इसी बीच एक खबर आ रही है जो शायद भाजपा की दृष्टि से सही नहीं है। हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी (BJP) और जननायक जनता पार्टी (JJP) के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। 18 नगर परिषद और 31 नगर पालिकाओं के लिए होने वाले निकाय चुनाव को लेकर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ओपी धनखड़ ने ऐलान किया है कि भाजपा निकाय चुनाव गठबंधन में नहीं बल्कि अकेले लड़ेगी। जबकि हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी दुष्यंत चौटाला की पार्टी जननायक जनता पार्टी के साथ गठबंधन सरकार चला रही है। इस चुनाव के लिए 19 जून को वोट डाले जाएंगे जबकि पुनर्मतदान की जरूरत पड़ी तो 21 जून को होगा और 22 को काउंटिंग होगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: