गुरूवार, जुलाई 7Digitalwomen.news

तेलंगाना के मुख्यमंत्री का राष्ट्रीय दौरा भाजपा की बेचैनी बढ़ा सकता है

भाजपा के खिलाफ सभी विपक्षी दलों को एकजुट करने में लगे केसीआर अखिलेश यादव से की मुलाकात, शाम को केजरीवाल के साथ होगी बैठक

Telangana Chief Minister K Chandrasekhar Rao meets Akhilesh; Kejriwal next 
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव एक हफ्ते के लिए दिल्ली दौरे पर हैं। यह दौरा उनका इसलिए भी चर्चा में है क्योंकि दिल्ली की एजुकेशन और हेल्थ मॉडल देखने के लिए निकले केसीआर से उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मुलाकात की है। इस मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि साल 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए केसीआर खुद को राष्ट्रीय राजनीति में स्थापित करने की कोशिश करने में लगे हुए हैं। उधर बंगाल की सीएम ममता बनर्जी 2019 लोकसभा से ही राष्ट्रीय राजनीति में खुद को स्थापित करने की कोशिश कर रही हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सभी राज्यों में जाकर अपने शिक्षा और स्वास्थ्य का ढ़ोल पीटते रहे हैं इसलिए अब केसीआर भी इस मॉडल का दर्शन करने का मन बना लिया है। इससे पहले तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन राष्ट्रीय राजधानी के दौरे पर आए थे तो दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल उन्हें मोहल्ला क्लिनिक और सरकारी स्कूल दिखाने ले गए थे। ऐसा माना जा रहा है कि आगामी राष्ट्रपति चुनाव को लेकर भी के. चंद्रशेखर राव विपक्षी दलों को एकजुट करने की कोशिश में लगे हैं। जबकि भाजपा का कहना है कि तेलंगाना में उसके बढ़ते प्रभाव के चलते टीआरएस प्रमुख टेंशन में हैं और इसलिए खुद को राष्ट्रीय नेता साबित करने की कोशिश में लगे हैं। वह 26 मई को बेंगलुरु पहुंचेंगे और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा से मुलाकात करेंगे। अगले दिन वह बेंगलुरु से रालेगन सिद्धी जाकर सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे से मिलेंगे।

यह मई के महीने में केसीआर पूरे भारत का भ्रमण करने में लगे हुए हैं। तेलंगाना के सीएम आज दिल्ली में तमाम राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ मुलाकात करेंगे। इसके अलावा केसीआर आर्थिक मामलों के विशेषज्ञों के साथ भी मुलाकात कर देश की मौजूदा आर्थिक स्थिति पर विचार-विमर्श करेंगे। 22 मई को केसीआर चंडीगढ़ में किसान आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों से मुलाकात कर उनको 3-3 लाख रुपये की आर्थिक मदद देंगे। इस कार्यक्रम में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और पंजाब के सीएम भगवंत मान भी उपस्थित रहेंगे।

केसीआर की यह पूरी कवायद राष्ट्रीय राजनीति में अपने लिए संभावना तलाशने के लिए है। केसीआर ने पहले भी मोदी सरकार के खिलाफ आक्रामक रुख अपनाते रहे हैं। साल 2024 में विपक्षी दलों के साथ गठबंधन की भी बात तेलंगाना के सीएम कर चुके हैं। इसलिए अपने देश भ्रमण पर निकले इस दौरे के दौरान केसीआर बिहार और बंगाल का भी दौरा करेंगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: