मंगलवार, अक्टूबर 4Digitalwomen.news

राजधानी दिल्ली में यात्रियों से भरी कलस्टर बस बीच सड़क पर धू-धू कर जली, ड्राइवर की सूझबूझ से बची सभी यात्रियों की जान

Delhi: DTC bus catches fire, no casualties
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

नई दिल्ली, 17 मई। पिछले कुछ दिनों से दिल्ली की कलस्टर बसों में आग लगने की कई घटनाएं सामने आ चुकी है। आलम यह है कि अब बसों में यात्रा करना काफी डरावना लगता है। एक बार फिर से यात्रियों से भरी एक बस दिल्ली के गोविंदपुरी में अचानक आग के गोले में बदल गई। 243 नंबर की डीटीसी बस गुरुदास मार्ग से होकर जा रही थी कि अचानक उसमें आग लग गई। अभी लोग कुछ समझ पाते कि आग की लपटे गोला में बदल गई। बस पूरी तरह यात्रियों से भरी हुई थी लेकिन किसी तरह की कोई क्षति नहीं हुई। ड्राइवर की सूझबूझ से लोगों की जान बचा ली गई।

Delhi: DTC bus catches fire, no casualties (Video)

आग लगते ही बस के अंदर यात्रियों के बीच भगदड़ मच गई। सभी यात्री जल्द से जल्द बस से बाहर आने की कोशिश करने लगे। लोग दरवाजे के अलावा खिलड़ियों से छलांग लगाने लगे। घटना की सूचना किसी ने फोन कर दिल्ली पुलिस और फायर विभाग को दी जिसके बाद मौके पर दो फायर ब्रिगेड की गाड़ियों ने आकर आग को बुझाया। अब बस में आग क्यों लगी, क्या कारण था, उसके बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिल पाई है।

इस घटना के बाद भाजपा के मीडिया प्रमुख नवीन कुमार जिंदल ने ट्वीट कर कहा कि रोजाना दिल्ली के बसों में आग लग रही है क्योंकि केजरीवाल का भ्रष्टाचार अपने चरम पर हैं। बसों की मेंटेनेंस का पैसा केजरीवाल के मंत्री अपनी जेबो में भरकर बैठे हैं। अब भगवान ही दिल्ली को बचाए।

इससे पहले भी भाजपा ने दिल्ली सरकार को परिवहन व्यवस्था और डीटीसी बसों की मेंटनेंस के लिए दिए गए रकम पर घेर चुकी है। भाजपा का आरोप है कि आज दिल्ली की सड़कों पर जितनी बसें चल रही हैं उन सब की उम्र सीमा खत्म हो चुकी है यानि उन्हें सड़कों पर चलाना खतरे से खाली नहीं है लेकिन दिल्ली सरकार ने उन कबाड़ बसों की मेंटनेंस के लिए 50 लाख रुपये प्रति बस दिए। इतने रकम में एक नॉन एसी बस खरीदा जा सकता था।

Leave a Reply

%d bloggers like this: