मंगलवार, मई 17Digitalwomen.news

Terrible News: 27 dead in the Delhi Mundka fire

आग की लपटें-लोगों की चीत्कार पुराने जख्म कुरेद गई, याद आया उपहार सिनेमा हादसा

Terrible News: 27 dead in the Delhi Mundka fire
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

राजधानी दिल्ली में एक और अग्निकांड की घटना ने फिर से पूरे देश को झकझोर दिया। पल भर में कई बेकसूर लोग आग में समा गए। जिसने भी यह वीभत्स हादसा देखा दहल गया। शुक्रवार शाम करीब 4 बजे दिल्ली के मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास कामर्शियल बिल्डिंग में लगी आग में 27 जिंदगियां जलकर राख हो गईं। आग का इतना विकराल रूप था लोग जान बचाने के लिए इधर-उधर भागते रहे। कई ऊपर से ही कूद गए । बिल्डिंग में चारों तरफ आग की ऊंची-ऊंची लपटें, लोगों की मची चीत्कार राजधानी दिल्ली में पहले हुई आग लगने की घटना का जख्म कुरेद गई।हादसे में 27 लोगों की जलकर मौत हो गई। मृतकों में दमकल विभाग के दो कर्मचारी भी शामिल हैं। वहीं 10 लोग गंभीर रूप से झुलस गए हैं। 19 लोग लापता बताए जा रहे हैं। पुलिस ने शुक्रवार की देर शाम इमारत के मालिक हरीश गोयल और वरुण गोयल को हिरासत में ले लिया। जिस बिल्डिंग में आग लगी वहां कई कंपनियों के ऑफिस थे। इमारत की पहली मंजिल पर सीसीटीवी की फैक्ट्री और गोदाम है। यहां शॉर्ट सर्किट से लगी आग ने भीषण रूप धारण कर लिया और पूरी बिल्डिंग आग की चपेट में आ गई। फैक्ट्री में काफी संख्या में मजदूर काम कर रहे थे। कल शाम से शुरू हुआ राहत बचाव अभी भी जारी है। बताया जा रहा है कि मृतकों की संख्या अभी और बढ़ सकती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत तमाम नेताओं ने इस घटना पर शोक जताया है। ‌ इससे पहले भी राजधानी में आग लगने की घटना कई लोगों ने जान गंवा दी थी। साल 1997 की बात है। डायरेक्टर जेपी दत्ता के निर्देशन में बनी फिल्म बॉर्डर दिल्ली के उपहार सिनेमा में रिलीज हुई थी। 13 जून 1997 को साउथ दिल्ली के ग्रीन पार्क स्थित उपहार सिनेमा में बॉर्डर फिल्म के शो के दौरान आग लग गई थी। इसमें 59 लोगों की जलकर मौत हो गई थी। हादसे में 100 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे। इस अग्निकांड से पूरा देश सदमें में आ गया था। वहीं जांच में सामने आया कि सिनेमाघर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं थे। इसी प्रकार 20 नवंबर 2011 दिल्ली के नंद नगरी इलाके में एक कार्यक्रम के दौरान आग लगने से 14 लोगों की मौत हो गई थी। यहां किन्नरों के सम्मेलन का कार्यक्रम चल रहा था। घटना में 14 किन्नरों की मौत हो गई थी जबकि 40 किन्नर गंभीर रूप से घायल हो गए थे। 8 दिसंबर 2019 साल 2019 में अनाज मंडी इलाके में आग लगने से 43 लोगों की मौत हो गई थी। जांच के बाद आग लगने का कारण शॉर्ट-सर्किट बताया गया था। ऐसे ही 12 फरवरी 2019 करोल बाग के अर्पित होटल में आग लगने से 17 लोगों की मौत हो गई थी। इस दौरान कई लोगों ने आग की चपेट में आने के डर से बिल्डिंग से छलांग लगा दी थी। इस घटना में कई लोग गंभीर रूप से भी झुलस गए थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: