गुरूवार, जुलाई 7Digitalwomen.news

Covid XE Variant Found In Gujarat: बिना मास्क के घूम रहे हैं तो सावधान : कोरोना के नए वैरिएंट XE की इस प्रदेश में हुई एंट्री

New COVID-19 variant detected – Covid XE Variant Found In Gujarat
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

अगर आप लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं तो सावधान हो जाइए। अगर सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं कर रहे हैं तो शुरू कर दीजिए। देश में एक बार फिर से कोरोना को लेकर चर्चा शुरू हो गई है। इसके साथ स्वास्थ्य मंत्रालय भी 2 दिनों से एक बार फिर से हरकत में आ चुका है। खबरों की मानें तो देश में कोरोना की चौथी लहर की आहट शुरू हो चुकी है। शुक्रवार से तमाम चैनलों में कोरोना के नए वैरिएंट चर्चा में आ गया है। केंद्र सरकार कोरोना वायरस के नए वैरिएंट को लेकर हरकत में आ गई है। शुक्रवार को स्वास्थ्य सचिव ने पांच राज्यों को एक बार फिर से कोरोना वायरस को लेकर अलर्ट किया है। पिछले दिनों महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में कोरोना का नया वेरिएंट XE का मरीज मिला था। हालांकि बाद में स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसका खंडन भी किया था। आज एक बार फिर से गुजरात में एक व्यक्ति कोरोना वायरस के XE वैरिएंट से संक्रमित पाया गया है। इसकी पुष्टि हो गई है। वहीं राज्य में XM वैरिएंट के एक मामले का भी पता चला है। इस सप्ताह की शुरुआत में मुंबई की एक महिला के XE वैरिएंट से संक्रमित होने की सूचना मिली थी। लेकिन बाद में स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसकी पुष्टि नहीं की थी। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने प्रभावित राज्यों को पत्र लिखा है। स्वास्थ्य सचिव ने दिल्ली, हरियाणा, महाराष्ट्र, केरल और मिजोरम के मुख्य सचिवों से कहा है कि बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को गंभीरता से लें। उन्होंने कोरोना वैक्सीनेशन तेज करने के लिए भी कहा और क्लस्टर जोन में निगरानी बढ़ाने के लिए भी कहा। इन पांच राज्यों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, इसलिए केंद्र ने इन पांच राज्यों को अलर्ट किया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ये भी कहा कि XE वैरिएंट के लक्षण, गंभीरता और संक्रामकता देखकर यही लग रहा है कि ये ओमिक्रॉन का ही एक वैरिएंट है। हालांकि, अभी इसमें और रिसर्च की जा रही है। बता दें कि कोरोना का नया वैरिएंट XE इसी साल जनवरी को यूके में मिला था। ब्रिटेन की हेल्थ और सिक्योरिटी एजेंसी का मानना है कि XE वैरिएंट ओमिक्रॉन के BA.2 के मुकाबले ज्यादा संक्रामक हो सकता है। BA.2 से ही ब्रिटेन में कोरोना की नई लहर आई थी। भारत में भी तीसरी लहर के पीछे BA.2 को जिम्मेदार माना गया था। चीन में शंघाई समेत कई शहरों में लॉकडाउन लगा हुआ है। ‌

18 वर्ष के अधिक आयु वालों को कल से लगेगी कोरोना की बूस्टर डोज–

10 अप्रैल रविवार से 18 वर्ष के आयु के से लोग कोरोना का बूस्टर डोज लगवा सकेंगे। बूस्टर डोज सभी प्राइवेट वैक्सीनेशन सेंटर्स पर उपलब्ध होगी।18 साल से अधिक आयु के जिन्होंने दूसरा डोज ले लिया है और 9 महीने पूरे कर चुके हैं, वे बूस्टर डोज लगवा सकेंगे। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बताया गया है कि कोरोना वैक्सीन की प्रिकॉशन यानी बूस्टर डोज लगवाने की सुविध प्राइवेट सेंटरों पर उपलब्ध होगी। यानी इस तीसरी डोज को पैसे देकर लगवाना पड़ेगा। हालांकि, वैक्सीन के लिए पात्र आबादी को पहली और दूसरी खुराक मुफ्त टीकाकरण कार्यक्रम के जरिए ही मिलेगी। बूस्टर डोज लगवाने की यह है प्रक्रिया। कोविशील्ड या कोवैक्सीन में से किसी एक वैक्सीन की दोनों खुराक ले रखी हैं तो आपको पहले दी गई वैक्सीन की ही बूस्टर डोज लगाई जाएगी। वहीं, अगर आपने CoWin ऐप पर पहले से रजिस्ट्रेशन करा रखा है, तो पात्र लोगों को इसी ऐप से बूस्टर डोज के लिए मैसेज आएगा। आप https://selfregistration.cowin.gov.in/ पर जाकर अपना स्लॉट बुक करा सकते हैं। इसमें सबसे पहले अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर डालें और ओटीपी प्राप्त करें। इसके तुरंत बाद आपको पता चल जाएगा कि आप बूस्टर के लिए पात्र हैं या नहीं। मतलब दूसरी डोज लिए हुए आपको 9 महीने का समय हो चुका होगा, तभी आपका रजिस्ट्रेशन होगा। फिलहाल टेंशन लेने की जरूरत नहीं है। बाहर निकलते समय मास्क पहने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और जागरूक रहें।

Leave a Reply

%d bloggers like this: