बुधवार, जुलाई 6Digitalwomen.news

नया सफर: भारत-नेपाल के बीच आज से शुरू होने जा रही ट्रेन सेवा, दोनों देशों के लोगों को मिलेगी राहत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने भारत और नेपाल के बीच 34.50 किलोमीटर लंबे जयनगर-जनकपुर धाम-कुर्था रेलखंड का किया उदघाटन, पहली ट्रेन को हरी झंडी दिखा किया रवाना।
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

आज पड़ोसी नेपाल के साथ भारत नए रेल सफर की शुरुआत करने जा रहा है। ट्रेन सेवा शुरू होने के लिए दोनों देशों के नागरिकों को कई वर्षों से इंतजार था। हाल के कुछ समय से भारत और नेपाल में कई मुद्दों को लेकर विवाद भी सामने आया था। नेपाल के तत्कालीन प्रधानमंत्री की ओर से कई बार सीमा विवाद को लेकर की गई बयानबाजी के बाद दोनों देशों के संबंधों में भी खटास आई थी। लेकिन अब एक बार फिर से भारत और नेपाल दोस्ती के नए सफर पर चल पड़े हैं। आखिरकार चैत्र नवरात्र और नव संवत्सर के शुभ अवसर पर भारत-नेपाल के बीच ट्रेन सेवा शुरू होने के लिए तैयार है। इसी को लेकर नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा भारत आए हुए हैं। शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मोदी और नेपाली पीएम शेर बहादुर देउबा दिल्ली के हैदराबाद हाउस से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इसका उद्घाटन करने जा रहे हैं। दोनों देशों के बीच बिहार के जयनगर-बिजलपुरा-बरदीदास तक रेलवे लाइन को जोड़ा जाएगा। इसकी कुल लंबाई 69.08 किलोमीटर है। पहले चरण में 34.5 किलोमीटर रेलवे लाइन का उद्घाटन होने जा रहा है। ‌ आज पहले चरण में बिहार के जयनगर को नेपाल के जनकपुर के कुर्था स्टेशन से जोड़ेगी। इसके लिए बिहार के जयनगर में एक नया स्टेशन भी तैयार किया गया है। इस ट्रेन में यात्रा करने के लिए यात्रियों को वीजा या पासपोर्ट की जरूरत नहीं पड़ेगी ।‌‌‌‌ भारत और नेपाल के बीच ट्रेन से यात्रा करने वाले भारतीय नागरिकों को यात्रा के दौरान पहचान पत्र रखना अनिवार्य होगा। इस ट्रेन में भारत और नेपाल के नागरिक ही यात्रा कर सकेंगे‌।

बता दें कि कुर्था स्टेशन नेपाल के धनुषा जिले में है, जो जनकपुर जोन में आता है। यानी अब भारतीय नागरिक सीता की जन्मस्थली तक सीधी ट्रेन से पहुंच सकेंगे। इससे पहले ही यहां अंग्रेजों के जमाने में मीटर गेज रेड लाइन हुआ करती थी, जिसे साल 2000 में खत्म कर दिया गया था। इस ट्रेन के शुरू होने से दोनों देशों के बीच संबंधों में और मजबूती आएगी। भारत की ओर से नेपाल में भारतीय रेल का विस्तार जहां भारत नेपाल संबंधों को और मजूबत बनाएगा, वहीं यह नेपाल में चीन की दखल को भी कम करेगा।जयनगर से जनकपुर स्टेशन तक की यात्रा के लिए नेपाल रेलवे ने नेपाली 60 रुपये किराया रखे हैं। जबकि भारत के अनुसार, 37.50 रुपये खर्च होंगे। वहीं जयनगर से कुर्था तक सफर करने वाले यात्रियों को नेपाली 70 रुपये और भारतीय करेंसी के हिसाब से 43.75 रुपये खर्च करने होंगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: