मंगलवार, दिसम्बर 6Digitalwomen.news

Climate Change: समय से पहले सताने लगी गर्मी, मौसम विभाग ने 9 राज्यों में लू चलने का जारी किया अलर्ट

IMD predicts severe heat wave, rise in maximum temperature
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

इस बार समय से पहले देश में गर्मी का कहर शुरू हो गया है। मार्च के महीने में गर्मी ने रिकॉर्ड तोड़ दिए। अप्रैल शुरू होते ही चिलचिलाती गर्मी से लोगों का जीना मुहाल हो गया है। ‌ आमतौर पर ऐसी गर्मी अप्रैल महीने के आखिरी पखवाड़े के बाद शुरू होती है। लेकिन इस बार मार्च महीने से ही गर्मी ने प्रचंड रूप दिखाना शुरू कर दिया था।मौसम विभाग के मुताबिक, इस साल मार्च में तापमान ने 121 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। 1901 के बाद पहली बार मार्च में देश के कई शहरों में पारा 40 डिग्री के पार पहुंच गया। शनिवार को मौसम विभाग में अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि अगले कुछ दिनों में 9 राज्यों में लू चल सकती है। मध्यप्रदेश, राजस्थान, पूर्वी उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, हरियाणा, दिल्ली, गुजरात, झारखंड और विदर्भ क्षेत्र में लू की लहर चल सकती है। विभाग ने इस दौरान लोगों से सतर्कता बरतने की अपील की है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 4 से 8 अप्रैल के बीच तापमान 40 से 41 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की संभावना है। स्काईमेट के अनुसार उत्तर भारत में वेस्टर्न डिस्टर्बेंस का असर कम होने की वजह से हवा की रफ्तार में कमी आ जाती है। इसलिए तापमान में बढ़ोतरी होती है। इस साल वेस्टर्न डिस्टर्बेंस का असर मर्च के तीसरे हफ्ते में ही समाप्त हो चुका है। इसी वजह से समय से पूर्व उत्तर और मध्य भारत में प्रचंड गर्मी का असर देखने को मिला। इसी वजह से इस साल मार्च में लगातार शुष्क और गर्म, पश्चिमी हवाएं चलीं। गर्मी में घर से निकलने से पहले पूरी सावधानी बरतें। अंगोछा और पानी पीकर घर से निकले हैं। ऐसे ही हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के मैदानी क्षेत्रों में तापमान बढ़ गया है। मौसम विभाग के निदेशक मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि, हरियाणा और दिल्ली सहित दक्षिण पाकिस्तान से दक्षिण गुजरात की ओर उत्तर पश्चिम भारत की ओर हवाएं चल रही थीं, इसलिए इस क्षेत्र से उत्तरी भागों में गर्मी आई और इससे हिमालय की तलहटी के तापमान में वृद्धि हुई, हरियाणा व दिल्ली में भी. देश में बारिश की गतिविधि काफी कम रही और इस बार कोई पश्चिमी विक्षोभ नहीं था, जिसके परिणामस्वरूप ठंडी हवाएं नहीं आ सकीं और दक्षिण गुजरात, दक्षिण पाकिस्तान से उत्तरी भागों की ओर दक्षिण की हवाएं चल रही थीं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: